अस्पतालों में भर्ती 66 फीसदी मरीजों की हालत गंभीर

नई दिल्ली, 07 मई । कोरोना को लेकर अस्पतालों में 66 फीसदी से अधिक मरीजों का उपचार आईसीयू
से लेकर वेंटिलेटर पर चल रहा है।

यह मरीज किसी न किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित हैं। दिल्ली के अस्पतालों में
भर्ती मरीजों की संख्या 200 तक पहुंच गई है।

हालांकि, एक मई से इसमें उतार-चढ़ाव जारी है।
दिल्ली के अस्पतालों में कोरोना के मरीजों से अब तक 2.09 फीसदी बेड ही भरे हैं।

दिल्ली में कुल बेड की संख्या
9590 है। कोविड स्वास्थ्य बुलेटिन के अनुसार छह मई को अस्पताल में उपचार के लिए 200 मरीज भर्ती थे।
जिसमें 29 संदिग्ध हैं। जबकि 171 कोरोना संक्रमित हैं।

इनमें से 56 मरीज आईसीयू, 58 मरीज ऑक्सीजन पर
(वेंटिलेटर वाले भी) और चार मरीज वेंटिलेटर पर हैं।

लोकनायक अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सुरेश कुमार ने कहा कि हमारे पास जो मरीज आ रहे हैं वह दिल
और मधुमेह जैसी गंभीर बीमारी वाले हैं।

उनको ही आईसीयू में रखते हैं बाकि सब स्थिर है। दिल्ली कोरोना ऐप से
मिली जानकारी के अनुसार,

लोकनायक अस्पताल में कोविड-19 के दस बेड और आईसीयू के छह बेड शनिवार शाम
साढ़े पांच तक भरे थे।

अस्पतालों में बीते दिनों में ऐसे बढ़ मरीज

तारीख मरीज

एक मई 165

दो मई 191

तीन मई 193

चार मई 186

पांच मई 208

छह मई 200

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *