आश्रम अंडरपास का उद्घाटन हुआ, लाखों लोगों को मिलेगा फायदा

नई दिल्ली, 24 अप्रैल )। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दक्षिणी दिल्ली में मथुरा रोड पर
बहुप्रतीक्षित ‘आश्रम अंडरपास’ का रविवार को उद्घाटन किया और कहा

कि इस सुविधा का यहां से गुजरने वाले
लाखों यात्रियों को फायदा मिलेगा।

आठ बार समयसीमा निकलने और एक साल से अधिक की देरी के बाद आश्रम
अंडरपास का उद्घाटन किया गया है।

यह अंडरपास भोगल को मथुरा रोड पर न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी से जोड़ता है। इसके उद्घाटन के बाद न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी
और बदरपुर से आईटीओ तथा मध्य दिल्ली के अन्य इलाकों से गुजरने वाले वाहन चालकों को व्यस्त आश्रम

क्रॉसिंग पर जाम नहीं मिलेगा। आश्रम चौक मध्य और दक्षिणी दिल्ली के बीच तथा फरीदाबाद के साथ भी
महत्वपूर्ण लिंक है। यह जंक्शन मथुरा रोड और रिंग रोड को जोड़ता है।

सिसोदिया ने कहा कि अंडरपास से न केवल यात्रियों का समय बचेगा बल्कि इससे रोजाना 1,550 लीटर ईंधन भी
बचेगा। उपमुख्यमंत्री के पास लोक निर्माण विभाग का कार्यभार भी है। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे यहां इंजीनियरों ने

बताया कि केवल आश्रम क्रॉसिंग पर इंतजार करते हुए ही वाहनों का रोज करीब 1,550 लीटर ईंधन बर्बाद होता है।

इससे 3,600 किलोग्राम कार्बन गैस का उत्सर्जन भी कम होगा। अब यात्रा के समय के साथ ईंधन और पैसा भी
बचेगा। इससे दिल्ली के लाखों लोगों को फायदा होगा।’’

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि यह जटिल निर्माण कार्य था और भारी संख्या में वाहनों की मौजूदगी के दौरान अंडरपास
का निर्माण करना बहुत मुश्किल था। सिसोदिया ने यह भी कहा कि यह सुनिश्चत करने के लिए पर्याप्त बंदोबस्त
किए गए हैं कि मानसून के दौरान अंडरपास में जलभराव न हो। उन्होंने पिछले महीने कहा था कि इस अंडरपास
को 22 मार्च को खोला जाएगा लेकिन काम पूरा न होने के कारण ऐसा नहीं हो सका। हालांकि, पीडब्ल्यूडी ने इस
अंडरपास का परीक्षण 22 मार्च से ही शुरू कर दिया था।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 24 दिसंबर 2019 को इस अंडरपास की नींव रखी थी और इसे एक साल के भीतर
बनाया जाना था। लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के मुख्य परियोजना प्रबंधक पीके कुमार ने कहा कि परियोजना

की अनुमानित लागत करीब 77 करोड़ रुपये थी लेकिन अंडरपास के निर्माण पर केवल 53 करोड़ रुपये खर्च किए
गए जबकि बाकी पैसा अन्य चीजों पर खर्च किया गया।

कालकाजी से विधायक आतिशी और जंगपुरा से विधायक
प्रवीण कुमार भी उद्घाटन समारोह में उपस्थित रहे।

आश्रम चौक अंडरपास की विशेषताएं
-410 मीटर लम्बा, 4 लेन का अंडरपास

-मानसून के दौरान अंडरपास में पानी न भरे इसके लिए दोनों ओर कैरिज-वे
-1.5 लाख लीटर क्षमता के 2 टैंक

-अंडरपास को ऊपर की ओर से किया गया है कवर
-40 मीटर का बॉक्स पोर्शन

-बरसाती पानी को रोड से अंडरपास में आने से रोकने के लिए रोड हम्प डिज़ाइन
-अंडरपास में बेहतर रौशनी की व्यवस्था हो इसके लिए एलईडी स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था
आश्रम चौक अंडरपास से क्या लाभ होगा

-प्रतिदिन 2-3 लाख लोगों को ट्रैफिक से मिलेगा निजात

-रोजाना 1536 लीटर ईधन को होगी बचत जिससे 3.6 टन कार्बन डाईआक्साइड गैस का उत्सर्जन होगा कम
-रोजाना लगभग 933 कार्य-दिवस की होगी बचत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *