इमरान खान की सत्ता से विदाई के बाद उनके करीबी सहयोगी के घर पर पड़े छापे

लाहौर, 10 अप्रैल  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद से इमरान खान को नेशनल असेंबली में अविश्वास
प्रस्ताव के जरिये हटाए जाने के बाद उनके एक करीबी सहयोगी के घर पर रविवार को छापेमारी की कार्रवाई की
गई और उसके परिवार के सदस्यों के फोन जब्त कर लिए गए।

इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक ए इंसाफ
(पीटीआई) ने यह आरोप लगाया।

उल्लेखनीय है कि डॉ. अर्सलान खालिद बतौर ‘फोकल पर्सन’ खान के लिए वर्ष 2019 से ही उनकी डिजिटल टीम में
काम कर रहे थे। पीटीआई ने ट्वीट किया,

‘‘डिजिटल मामलों में प्रधानमंत्री इमरान खान के पूर्व फोकल पर्सन डॉ.
अर्सलान खालिद के घर पर छापेमारी की गई

और उनके परिवार के सभी सदस्यों के फोन जब्त कर लिए गए हैं।’’
इमरान की पार्टी ने एक अन्य ट्वीट में कहा,

‘‘उन्होंने सोशल मीडिया पर कभी किसी को अपमानित नहीं किया था
और न ही कभी किसी संस्थान पर हमला किया था।

’’ पार्टी ने संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) से इस मामले की
जांच करने का आह्वान किया है।

जियो टीवी की खबर के मुताबिक, खालिद ने किंग एडवर्ड मेडिकल यूनिवर्सिटी से स्नातक की उपाधि हासिल की है
और वह उद्यमी हैं। उन्होंने पूर्व में पीटीआई की लाहौर इकाई की सोशल मीडिया टीम का नेतृत्व किया था।

खबर
के मुताबिक, उन्होंने वर्ष 2018 के आम चुनाव में डिजिटल मीडिया अभियान सहित कई ऐतिहासिक सोशल मीडिया
अभियानों का नेतृत्व किया था।

पूर्व संघीय मंत्री और पीटीआई नेता असद उमर ने इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि खालिद के आवास पर
छापेमारी ‘‘निंदनीय’’है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘

‘अर्सलान खालिद के आवास पर छापेमारी बेहद निंदनीय है। डॉ.अर्सलान
की तरह देशभक्त युवा देश की संपत्ति हैं।’’

उल्लेखनीय है कि इमरान खान को अविश्वास प्रस्ताव के जरिये अपदस्थ करने के बाद सोमवार को नेशनल
असेंबली नए प्रधानमंत्री का चुनाव करेगी।

संयुक्त विपक्ष ने पहले ही प्रधानमंत्री पद के लिए पाकिस्तान मुस्लिम
लीग-नवाज के अध्यक्ष शहबाज शरीफ को अपना संयुक्त उम्मीदवार नामित कर दिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *