उप्पल साउथ एंड सोसाइटी कूड़े से खाद बनाकर फैला रही हरियाली

एक ओर जहां नगर निगम के प्रयासों के बावजूद शहर में सफाई व्यवस्था और कचरा निष्पादन की समस्या बनी हुई है। वहीं सेक्टर-49 की उप्पल साउथ एंड सोसाइटी ने इस समस्या का हल ढूंढ़ा लिया है। सोसाइटी की आरडब्ल्यूए रसोई के कचरे का प्राकृतिक तरीके से निष्पादन कर खाद बना रही है और इस खाद से सोसाइटी को हराभरा बना रही है।

PM unveils 108 ft statue of Hanuman ji in Morbi, Gujarat

आरडब्ल्यूए के अनुसार, फिलहाल 100 किलो खाद बनाना काम शुरू किया है। इससे सोसाइटी को साफ रखने में काफी मदद मिली है। इसके साथ ही लोगों को इसके लिए प्रेरित किया जा रहा है। उप्पल साउथ एंड सोसाइटी की आरडब्ल्यूए टीम ने स्थानीय निवासियों के सहयोग से

बहुत कम समय में कंपोस्ट यूनिट लगाकर उसे सुचारू रूप से चलाकर एक नया कीर्तिमान स्थापित किया है। जहां लगभग 1000 मकान हैं। जबकि यहां ईको ग्रीन कंपनी के द्वारा घरों से कूड़ा नहीं उठाया जाता था। लोग न तो गीला कूड़ा और न ही सूखा कूड़ा अलग करते थे।

Government of India is committed to welfare of unorganized workforce: PM

घरेलू सहायिकाओं से लेकर लोगों को किया जागरूक

आरडब्ल्यूए ने आईपीसीए कंपनी व समिता के सहयोग से कई कार्यशाला का आयोजन कर स्थानीय लोगों, घरों में काम करने वाली घरेलू सहायिकाओं, सफाईकर्मियों को कूड़ा निस्तारण से अवगत कराया। ताकि कूड़े को कहीं खुले में न फेंकें।

कूड़े के लिए दो अलग कूड़ादान

सोसाइटी में फरवरी से गीला व सूखा कचरे को अलग-अलग एकत्रित करने की मुहिम भी शुरू की गई थी। अब सोसाइटी से दो तरह के कूड़ेदान हैं। एक में गीला कूड़ा-बचा हुआ भोजन, फल सब्जियों के छिलके आदि। दूसरे कूड़ेदान में सूखा कूड़ा-पेपर, कांच, लोहा, प्लास्टिक, मेडिकल वेस्ट-चिकित्सकीय कचरा, सेनेटरी नेपकिन, डायपर आदि डाला जाता है।

इन कूड़ों से कंपोस्ट खाद बनाई जा रही है। जिसका इस्तेमाल पार्कों में किया जा रहा है। इसके अलावा घरों में गमले आदि में कंपोस्ट खाद डाले जाते हैं।\

मुख्यमंत्री निवास पर तोड़फोड़ के आरोपियों का हुआ सम्मान

सोसाइटी को हराभरा बना रहे

आरडब्ल्यूए प्रधान राजेश खटाना ने बताया कि 80 प्रतिशत कूड़े को अलग-अलग कर कूड़े का निस्तारण कर रहे है। कंपोस्ट खाद बनाकर सोसाइटी परिसर के हरे-भरे पौधों में डाला जाता है। क्लीन और ग्रीन गुरुग्राम बनाने की मुहिम में सोसाइटी के माध्यम से एक छोटा सा प्रयास कर रहे है।

ताकि बंधवाड़ी में कूड़े का पहाड़ न बने। इस काम में सभी ने बड़ा सहयोग किया। प्रयास है कि हम अपनी सोसाइटी को 100 प्रतिशत तक लेकर जाए।

पेट्रोल-डीजल के दाम लगातार नौवें दिन स्थिर

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *