एलपीजी पर सब्सिडी खत्म, दिल्ली में 1003 रुपये का सिलेंडर

एलपीजी पर सब्सिडी खत्म

सरकार ने गुरुवार को रसोई गैस एलपीजी पर सब्सिडी पूरी तरह खत्म करने की घोषणा कर दी है। इस तरह दिल्ली में अब 14.2 किलोग्राम के एलपीजी सिलेंडर की कीमत 1003 रुपये होगी। केवल उज्ज्वला योजना के तहत नौ करोड़ गरीब महिलाओं को साल में 12 सिलेंडरों पर ही 200 रुपये प्रति सिलेंडर की सब्सिडी मिलेगी।

 

तेल सचिव पंकज जैन ने एक समाचार ब्रीफिंग में कहा, ‘कोविड के शुरुआती दिनों से जून 2020 से एलपीजी पर कोई सब्सिडी नहीं थी। तब से केवल वही सब्सिडी दी जा रही है जो वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मार्च 2021 में उज्ज्वला लाभार्थियों के लिए पेश की गई थी। वित्त मंत्री ने कहा था कि 200 रुपये की सब्सिडी पर सरकार को 6100 करोड़ रुपये खर्च करने होंगे।

 

सरकार ने जून 2010 में पेट्रोल पर और नवंबर 2014 में डीजल पर सब्सिडी समाप्त कर दी थी। कुछ साल बाद केरोसिन पर सब्सिडी समाप्त हो गई। अब अधिकांश उपभोक्ताओं के लिए एलपीजी पर सब्सिडी समाप्त कर दी गई है। हालांकि, पेट्रोल, डीजल और मिट्टी के तेल के विपरीत एलपीजी सब्सिडी को समाप्त करने का कोई औपचारिक आदेश नहीं आया है।

 

श्रुति शर्मा ने हासिल किया पहला स्थान : यूपीएससी

तेल मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा, ‘घरेलू उपभोक्ताओं के लिए एलपीजी की दरें पिछले 6 महीनों में केवल 7 प्रतिशत बढ़ी हैं जबकि सऊदी सीपी (एलपीजी की कीमत के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला बेंचमार्क) 43 प्रतिशत बढ़ गया है।

 

पुरी ने सऊदी सीपी और भारत में दरों में वृद्धि का जिक्र करते हुए कहा, ‘हम अपनी अच्छी नीतियों को धन्यवाद कहेंगे, जिसने हमारे उपभोक्ताओं को अंतरराष्ट्रीय बाजार की उथल-पुथल से बचाया है। उन्होंने एलपीजी की बढ़ी कीमतों के कारण उज्ज्वला लाभार्थियों द्वारा मुफ्त कनेक्शन प्राप्त करने वाले अपने पहले सिलेंडर के खाली होने के बाद नया सिलेंडर न लेने की खबरों का भी खंडन किया।उन्होंने कहा, ‘यह पूरी तरह से असत्य है। उन्होंने कहा कि अधिकांश उज्ज्वला उपभोक्ताओं ने एक से अधिक रिफिल लिया है। साथ ही, 2021-22 के दौरान उज्ज्वला उपभोक्ताओं की प्रति व्यक्ति खपत 3.01 से बढ़कर 3.68 सिलेंडर हो गई है।