कांवड़ यात्रा की संवेदनशील स्थानों पर कड़ी सुरक्षा RAF रहेगी तैनात

कांवड़ यात्रा की संवेदनशील स्थानों पर कड़ी सुरक्षा RAF रहेगी तैनात

कांवड़ यात्रा की 380 स्थानों पर सीसी टीवी कैमरों से निगरानी की जाएगी। इनमें 80 स्पॉट पर पहले से शहर और हाईवे पर सीसीटीवी लगे हुए हैं। जबकि 300 स्पॉट पर पुलिस अस्थाई तौर पर कैमरे लगवाने का काम शुरू कर चुकी है। सोमवार रात एसएसपी रोहित सिंह सजवान ने गूगल मीट पर सुरक्षा प्लान को लेकर बैठक की।

कांवड़ यात्रा  थाना प्रभारी रात में अपने क्षेत्र से बाहर नहीं जाएगा। अगर जांच में ऐसा मिलता है, तो थानेदार को लाइन भेज दिया जाएगा। एसएसपी ने बताया की सुरक्षा का प्लान बनाया जा रहा है। स्थानीय जिला पुलिस, पीएसी के अलावा आरएएफ के जवान भी तैनात रहेंगे। लोकल इंटेलिजेंस यूनिट भी अलर्ट है। औघड़नाथ मंदिर और पुरा महादेव मंदिर को लेकर भी सुरक्षा प्लान बनाया गया है। दूसरे जिलों से भी फोर्स कांवड़ यात्रा में कानून व्यवस्था के मद्दे नजर लगाई जाएगी।

एसएसपी ने कहा की मांस की दुकानें पूरी तरह से बंद रहेंगी। मिश्रित आबादी वाले इलाकों में पीएसी तैनात रहेगी। जिनमें मेरठ में बच्चा पार्क से लेकर हापुड़ रोड पर एल ब्लॉक तक सुरक्षा रहेगी। चौधरी चरण सिंह कांवड़ पटरी मार्ग और एनएच 58 पर भी हर आधा किमी की दूरी पर पुलिस रहेगी। डायल 112 की गाड़ी मुख्य रुटों पर रहेंगी। जैसे ही वनवे व्यवस्था होगी बैरिकेडिंग से कट बंद कर दिए जाऐंगे।

स्कूलों में भगवद् गीता को प्रस्तुत करने वाली याचिका पर हाईकोर्ट का नोटिस

कांवड़ यात्रा की संवेदनशील स्थानों पर कड़ी सुरक्षा RAF रहेगी तैनात

कांवड़ यात्रा, सावन मेलों सहित अन्य त्योहारों को देखते हुए एसपी ने मातहतों को शांति और सौहार्द बनाए रखने का निर्देश दिया है। थाना और चौकी प्रभारियों को शरारतपूर्ण बयान जारी कर माहौल खराब करने की कोशिश करने वालों के साथ पूरी कठोरता से पेश आने को कहा गया है। जिन मार्गों से कांवड़ यात्रा गुजरेगी उन पर पुलिस चक्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लेती रहेगी।

कांवड़ यात्रा को लेकर प्रशासन और पुलिस अलर्ट है। कांवड़ यात्रा और बकरीद को देखते हुए पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मीटिंग कर रहे हैं। कांवड़ यात्रा के रूट पर पड़ने वाले संवेदनशील इलाकों को पुलिस चिह्नित कर रही है। वहीं बकरीद को लेकर भी स्पष्ट कर दिया गया है कि पहले से चले आ रहे कुर्बानी स्थलों पर ही कुर्बानी दी जाएगी।

कांवड़ यात्रा  नए स्थानों पर कोई कुर्बानी नहीं दी जाएगी। डीएम चंद्र विजय सिंह और एसपी डॉ. यशवीर सिंह ने लोगों से परंपरागत रूप से त्योहार मनाने की अपील की है। प्रशासन ने कांवड़ यात्रा और बकरीद को लेकर मास्टर प्लान तैयार कर लिया है। जिसके लिए जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारी हर थाना क्षेत्र में मीटिंग कर रहे हैं ताकि कहीं पर भी कोई समस्या ना हो। वहीं पुलिस लगातार गश्त भी कर रही है।

कांवड़ यात्रा श्रावण मास में निकलने वाली , सावन मेला, रक्षाबंधन, नागपंचमी, बकरीद के त्योहारों को देखते हुए फोर्स को अलर्ट कर दिया गया है। थाना प्रभारियों को शरारतपूर्ण बयान जारी कर माहौल खराब करने की कोशिश करने वाले अराजक तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है।

कांवड़ यात्रा की संवेदनशील स्थानों पर कड़ी सुरक्षा RAF रहेगी तैनात

कांवड़ यात्रा को लेकर अभी से कांवड़ियों में जबरदस्त उस्ताह नजर आने लगा है। हालांकि कांवड़ यात्रा 14 जुलाई से शुरू होनी है, लेकिन अभी से हरिद्वार से लेकर गंगोत्री तक कांवड़िये नजर आने लगे हैं। इस बार पुलिस प्रशासन को 4 करोड़ से ज्यादा कांव​ड़िये आने की उम्मीद है। जिसको देखते हुए पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद नजर आ रही है। राज्य सरकार ने भी कांवड़ यात्रा को सकुशल कराने के लिए पूरा जोर लगा दिया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी खुद पूरी यात्रा को मॉनिटरिंग कर रहे हैं। सबसे ज्यादा फोकस हरिद्वार के कांवड़ मेले पर है

कांवड़ यात्रा गुरु पूर्णिमा के दिन 14 जुलाई से आरंभ होनी है। इसका काउंडाउन शुरू हो गया है। उत्तराखंड पुलिस ने इस बार चारधाम यात्रा की तर्ज पर कांवड़ियों के लिए रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू की गई है। कांवड़ियों को उत्तराखंड प्रवेश के लिए रजिस्ट्रेशन को अनिवार्य किया गया है। पुलिस मुख्यालय की ओर से रजिस्ट्रेशन पोर्टल बनाया गया है। जिस पर कांवडियो को पंजीकरण कराना होगा।

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने श्रद्धालुओं से पंजीकरण कराकर कांवड़ यात्रा में आने की अपील की है। इसके साथ ही दूसरे राज्यों से आने वालों को अपनी आईडी साथ लेने को भी कहा गया हैकांवड़ यात्रा गुरु पूर्णिमा के दिन 14 जुलाई से आरंभ होनी है। इसका काउंडाउन शुरू हो गया है।

कांवड़ यात्रा उत्तराखंड पुलिस ने इस बार चारधाम यात्रा की तर्ज पर कांवड़ियों के लिए रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू की गई है। कांवड़ियों को उत्तराखंड प्रवेश के लिए रजिस्ट्रेशन को अनिवार्य किया गया है। पुलिस मुख्यालय की ओर से रजिस्ट्रेशन पोर्टल बनाया गया है। जिस पर कांवडियो को पंजीकरण कराना होगा। उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने श्रद्धालुओं से पंजीकरण कराकर कांवड़ यात्रा में आने की अपील की है। इसके साथ ही दूसरे राज्यों से आने वालों को अपनी आईडी साथ लेने को भी कहा गया है। उत्तराखंड और उत्तरप्रदेश पुलिस के लिए कांवड़ यात्रा सबसे बड़ी चुनौती है। ऐसे में दोनों प्रदेश कांवड़ियों की सूची भी आपस में साझा कर सकेंगे।

Bank Bharti 2022 | Bank Vacancy 2022, भारत में निकली 7900 पदो पर बैंक भर्ती, Bank Jobs 2022