क्या सफेद बालों को तोड़ने से वे खत्म हो जाते हैं?

आइए जानते हैं सफेद बालों के बारे में प्रचलित मिथ्स की सच्चाई

बालों के बारे में प्रचलित मिथ्स

स्किन और बालों को लेकर इतने सारे मिथ्स (Hair myths) हैं कि समझ ही नहीं आता, किस पर विश्वास किया जाए और किस पर नहीं। बालों के सफेद होने के बारे में भी ऐसे ही कई मिथ प्रचलित हैं। कुछ लोगों को लगता है कि सफेद बाल को समय रहते तोड़ दिया जाए तो बाकी बाल सफेद होने से बच जाते हैं।

जबकि कुछ का मानना है कि सफेद बाल को तोड़ देने से वहां ज्यादा मजबूत और काले बाल उगते हैं! ये मिथ न केवल आपके बालों की हेल्थ को प्रभावित करते हैं, बल्कि आपको ग्रे हेयर के सही उपचार की दिशा में बढ़ने से भी रोकते हैं।

इसलिए आइए जानते हैं सफेद बाल को तोड़ना (Plucking gray hair) आपकी हेयर हेल्थ के लिए फायदेमंद है या नुकसानदेह। तनाव बालों के झड़ने का कारण हो सकता है। एक्सपर्ट द्वारा बताए गए टिप्स के अनुसार कलौंजी ऑयल का इस्तेमाल करें। यह आपके बालों को जरूरी पोषण देने के साथ ही इसकी जड़ों को मजबूत बनाए रखने में मदद करेगा।

1.सफेद बाल और कुछ मिथ्स 

बहुत से लोगों का मानना है कि एक सफेद बाल को तोड़ने से उसकी जगह के आस-पास के बाल और ज्यादा सफेद हो जाते हैं। लेकिन मुझे लगता है कि यह सही नहीं है। दरअसल, बालों के सफेद होने का सही कारण किसी को पता ही नहीं है। कुछ डॉक्टरों को लगता है कि इसका कारण हमारे जीन या हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली में हो सकता है।

यह भी पढ़ें:- RRR ने अब ओटीटी पर बनाया रिकॉर्ड

अन्य डॉक्टरों का मानना है कि विटामिन बी12, सी और ई के साथ-साथ शरीर में जिंक और कॉपर जैसे मिनरल्स की कमी से बाल सफेद हो जाते हैं।

हम सभी जानते हैं कि सफेद बालों को दोबारा  काला नहीं बनाया जा सकता है, उन्हें केवल कलर किया जा सकता है।

2.क्यों नहीं तोड़ने चाहिए सफेद बाल 

सफेद बालों

 

लेकिन, इसका मतलब यह नहीं है कि हम अपने सफेद बालों को तोड़ते रहें। दरअसल, सफेद बालों को जड़ों से नहीं तोड़ना ही चाहिए, क्योंकि ऐसा बार-बार करने से हेयर फॉलिकल में चोट लग सकती है।

बाल फॉलिकल से बढ़ते हैं। सफेद बालों को बार-बार तोड़ने की वजह से फॉलिकल से बाल बढ़ना बंद हो जाते हैं। इसलिए सफेद बालों को जड़ से नहीं तोड़ना चाहिए।

उन्हें काटना सही रहता है। सफेद बाल तोड़ने से उस जगह पर एक नया सफेद बाल आ जाता है। ऐसा इसलिए होता है, क्योंकि मेलेनिन (बालों को रंग देने वाली वर्णक कोशिकाएं) बालों के फॉलिकल तक नहीं पहुंच पाती हैं। जिससे फॉलिकल में एक और सफेद बाल आ जाता है।

परमानेंट कलर के इस्तेमाल से बाल टूटते और झड़ते हैं। सेमी परमानेंट तरीके जैसे बाल धोने और क्रीम, बालों को ज्यादा नुकसान नहीं पहुंचाते हैं।

3.सफेद बालों के लिए आजमाएं ये बरसों पुराना नुस्खा 

सफेद बालों

घरेलू उपचार से भी समय से पहले बालों को सफेद होने से रोका जा सकता है। आंवला इसके लिए बेहतर होता है। रोजाना एक गिलास पानी में एक आंवले का रस लें। यह इम्यून सिस्टम को मजबूत रखता है।

सूखे आंवला को लोहे की कड़ाही में भूनकर पाउडर बना लें और मेंहदी में मिलाकर इस पेस्ट को बालों में लगाएं। इससे बालों को सफेद होने से रोका जा सकता है।

करी पत्ते को डाइट में शामिल करने से बालों की जड़ें और फॉलिकल्स मजबूत होते हैं। वे बीटा-कैरोटीन और प्रोटीन के स्रोत हैं,

जो बालों को झड़ने से रोकते हैं और मजबूत बनाते हैं। इनमें कैल्शियम, फॉस्फोरस, आयरन, फोलिक एसिड और विटामिन सी, बी, ए, ई भी होते हैं।

यह भी पढ़ें;- ITBP Assistant Sub Inspector ASI Stenographer Online Form 2022

इसके लिए करी पत्ते का पेस्ट बालों पर लगाएं। 20 से 30 मिनट बाद इसे धो लें। अपने खाने में खट्टे फल, जैसे संतरा, नींबू और अंगूर, टमाटर, अंकुरित अनाज और हरी पत्तेदार सब्जियां शामिल करें।

फल दैनिक आहार का हिस्सा होना चाहिए, क्योंकि उनमें से कई विटामिन सी से भरपूर होते हैं, जो इम्यून सिस्टम को मजबूत करते हैं।

सुंदरता के लिए रासायनिक अवयवों से होने वाले नुकसानों के बारे में जानना भी जरूरी है। ऐसे तरीकों व सामान का उपयोग करने से बचें जो स्किन और बालों की प्राकृतिक सुंदरता को खराब करते हैं।