खरगे ने सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा,सभी की जिम्मेदारी हो तय

चुनाव को जीतने के लिए पार्टी को जनता की उम्मीदों पर खरा उतरना होगा

संचालन समिति की बैठक में बोले खरगे,सभी की जिम्मेदारी हो तय
मल्लिकार्जुन खरगे ने संचालन समिति के सदस्यों को संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी चुनाव को जीतने के लिए पार्टी को जनता की उम्मीदों पर खरा उतरना होगा।शीर्ष से निचले स्तर तक संगठनात्मक जवाबदेही की पुरजोर वकालत की और कहा कि जो लोग अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने में असमर्थ हैं उन्हें अपने सहयोगियों के लिए रास्ता बनाना होगा। मल्लिकार्जुन खरगे ने आगे कहा कि मेरा मानना ​​है कि पार्टी और देश के प्रति हमारी जिम्मेदारी का सबसे बड़ा हिस्सा ऊपर से नीचे तक संगठनात्मक जवाबदेही है।          IOCL Recruitment 2022, Top Online Form, Job Opportunities

भारत जोड़ो यात्रा के जरिए देश के करोड़ों लोग जुड़े हैं

पार्टी के महासचिव और प्रभारी पहले अपनी जिम्मेदारी और संगठन की जिम्मेदारी सुनिश्चित करें। आप अपने विवेक से सोचें कि क्या प्रांतों के प्रभारी महासचिव और अधिकारी अपनी जिम्मेदारी के तहत एक महीने में कम से कम10 दिनों के लिए प्रांतों का दौरा करते हैं या नहीं। उन्होंने कहा क्या आपने हर जिले का दौरा किया है और पार्टी नेताओं के साथ चर्चा की है,कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा का जिक्र किया। उन्होंने कहा राहुल गांधी और कांग्रेस के संकल्प के साथ इस यात्रा के जरिए देश के करोड़ों लोग जुड़े हैं।            सायरा बानो 16 साल की उम्र में फिल्मों में रखा था कदम

खरगे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार की आलोचना की

संचालन समिति की बैठक में बोले खरगे,सभी की जिम्मेदारी हो तय

इनमें बड़ी संख्या में ऐसे लोग भी हैं, जो कांग्रेस से नहीं जुड़े थे या हमारी आलोचना करते थे।खरगे ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी सरकार की आलोचना की। खरगे ने कहा मोदी सरकार देश के लोगों, उनके अधिकारों, उनकी उम्मीदों पर हमला कर रही है और उनकी रक्षा करना कांग्रेस की जिम्मेदारी है।

खरगे ने कहा कि जब गरीब या मध्यम वर्ग का मासिक बजट खराब हो जाता है तो यह उनके जीवन पर हमला होता है। उन्होंने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था तेजी से नीचे आई है और देश का रुपया सरकार के क्रेडिट के साथ-साथ गिरता रहता है।

तीन संशोधन विधेयकों का खुले पर तौर पर विरोध का ऐलान

यह देश के विकास और प्रगति पर हमला है।कांग्रेस ने इसके साथ ही सरकार की ओर से सूचीबद्ध किए गए करीब 16 विधेयकों में से बायोलॉजिकल डायवर्सिटी सहित तीन संशोधन विधेयकों का खुले पर तौर पर विरोध का भी ऐलान किया है। साथ ही कहा है कि वह सरकार से इन विधेयकों में संशोधन से पहले स्थाई समिति के पास भेजने की मांग करेगी।करीब 70 मिनट चली बैठक में पार्टी सीमा तनाव, महंगाई सहित उन सभी मुद्दों को संसद में उठाने का फैसला लिया, जो जनता और देश की सुरक्षा से जुड़े है।

कांग्रेस पार्टी आर्थिक आरक्षण के पक्ष में है

इनमें साइबर क्राइम के मुद्दे को भी प्रमुखता से रखा गया है।शीतकालीन सत्र में आर्थिक आरक्षण के मुद्दे पर भी वह सरकार से नए सिरे से समीक्षा की मांग करेंगे। यह इसलिए भी अहम है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट ने भले ही बहुमत से सरकार के इस फैसले को सही ठहराया था, लेकिन पांच सदस्यीय पीठ के दो जजों ने इसके फैसले से असहमति जताई थी।

कांग्रेस पार्टी आर्थिक आरक्षण के पक्ष में है, लेकिन वह चाहती है कि यह सभी वर्गों को मिले। इसके अलावा पार्टी जातिगत जनगणना की भी नए सिरे मांग करेगी।

खड़गे ने चुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वी 66 वर्षीय शशि थरूर को मात दी थी

संचालन समिति की बैठक में बोले खरगे,सभी की जिम्मेदारी हो तय

50 वर्ष से कम उम्र के पार्टी कार्यकर्ताओं को पार्टी के 50% पद दिए जाने के उदयपुर घोषणा के प्रस्ताव को लागू कर दिया गया है. खड़गे ने निर्वाचित होते ही इसे लागू करने की घोषणा की थी और पार्टी के सभी सदस्यों ने इस घोषणा को स्वीकार कर लिया है.मल्लिकार्जुन खड़गे ने इससे पहले बुधवार को कांग्रेस अध्यक्ष का औपचारिक रूप से पदभार ग्रहण करने के बाद कहा कि पार्टी मौजूदा सरकार की ‘झूठ और नफरत की व्यवस्था’ को ध्वस्त करेगी.दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले 80 वर्षीय खड़गे ने 17 अक्टूबर को हुए ऐतिहासिक चुनाव में अपने प्रतिद्वंद्वी 66 वर्षीय शशि थरूर को मात दी थी.

पार्टी के 137 साल के इतिहास में छठी बार अध्यक्ष पद के लिए चुनाव हुआ था.

संसद की शीतकालीन सत्र सात दिसंबर से 29 दिसंबर तक

उनका कहना था कि यह मांग लंबे समय की जा रही है, लेकिन सरकार इस पर चुप्पी साधे हुए है।गौरतलब है कि संसद की शीतकालीन सत्र सात दिसंबर से शुरू हो रहा है, जो 29 दिसंबर तक चलेगा।