गाजियाबाद में गर्भवती महिला की गला दबाकर हत्या, बाथरूम में मिला शव

गाजियाबाद, 06 मई साहिबाबाद कोतवाली क्षेत्र की डीएलएफ कॉलोनी में वीरवार देर रात लूटपाट के
बाद नवविवाहिता की गला घोंटकर हत्या कर दी गई।

इससे पहले बदमाशों ने मृतका की सास को बालकनी में
धक्का दे दिया। मृतका का पति ड्यूटी से घर पहुंचा तो मां को बदहवास हालत में पड़ा हुआ पाया। इसके साथ ही

उसे पत्नी फ्लैट में मृत पड़ी मिली। घर में सामान बिखरा हुआ था और लाखों रुपए के जेवरात व कैश गायब था।
घटना की सूचना मिलते ही एसएसपी मुनिराज जी खुद

पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और जांच पड़ताल करने
थसाना पुलिस और संबंधित अधिकारियों को घटना के खुलासे के लिए दिशा निर्देश दिए।

मूलरूप से उड़ीसा के रहने वाले संतोष कुमार दिल्ली स्थित चार्टर्ड अकाउंटेंट के दफ्तर में नौकरी करते हैं। वह यहां
डीएलएफ कॉलोनी में पत्नी संतोषी (20) और मां पद्मावती के साथ रहते हैं। उन्होंने बताया कि वीरवार देर रात

जब वह अपने फ्लैट पर पहुंचे तो देखा कि उनकी 70 वर्षीय बुजुर्ग मां बालकनी में बदहवास पड़ी है और पत्नी
संतोषी का शव बाथरूम में पड़ा हुआ है। इसके साथ ही अलमारी खुली हुई हंै और सामान बिखरा हुआ है।

अलमारी में रखे लाखों रुपए के जेवरात और कैश गायब है। उन्होंने घटना की सूचना को दी। सूचना मिलते ही
एसएसपी मुनिराज जी व अन्य पुलिस अधिकारी पहुंचे और पूरे मामले की जांच पड़ताल की।

एसएचओ साहिबाबाद
नागेन्द्र चौबे ने बताया कि इस संबंध में मृतका के पति संतोष कुमार की तहरीर के आधार पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज
कर ली गई है।

जांच.पड़ताल कर आगे की कार्रवाई की जा रही है। मृतका के गले पर चोट के निशान मिले हैं।
अंदेशा है कि बदमाशों ने उनकी गला घोंटकर हत्या की है।

पीएम रिपोर्ट आने के बाद मौत का सही कारण पता
चल पाएगा।

ऊपर के फ्लैट में रहने वाली लेबर के लोगों पर वारदात का शक
पुलिस को शुरुआती जांच में पता चला है कि जिस फ्लैट में संतोष कुमार रहते हैं।

उस फ्लैट के ऊपर दूसरा फ्लैट
है। जिसमें निर्माण कार्य चल रहा है। जहां पर विपिन और लेबर के कई लोग रहते हैं।

यह लोग संतोष कुमार के
घर से अक्सर पानी मांग कर ले जाते थे। घटना के समय भी यह लोग आए थे।

पीडि़त को शक है इन्हीं लोगों ने
लूटपाट की नीयत से संतोषी की हत्या की है।

पुलिस ने संदिग्ध आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर
दी है। पुलिस ने संतोषी हत्याकांड का जल्द खुलासा करने का दावा किया है।

धक्के से गिरकर बेहोश हो गई थी बुजुर्ग पद्मावती
बुजुर्ग पद्मावती का कहना है

कि वारदात के वक्त वह और उनकी बहू घर में थे, तभी मजदूर आए और उन्हें
बालकनी में धक्का देने के बाद फ्लैट का अंदर से दरवाजा बंद कर लिया।

धक्का लगने वह गिर कर बेहोश हो गईं
और उन्हें कुछ होश नहीं रहा।

जब बेटा घर लौटा तो उन्हें उठाया और इसके बाद फ्लैट में जाने पर बहू की हत्या
और लूटपाट का पता चला।

इसी साल फ रवरी माह में हुई थी संतोष व संतोषी की शादी
पीडि़त संतोष कुमार ने बताया कि वह मूलरूप से उड़ीसा के रहने वाले हैं।

जबकि उनकी पत्नी संतोषी उत्तराखंड की
रहने वाली थी। दोनों की इसी साल फ रवरी माह में शादी हुई थी।

सब कुछ ठीक.ठाक चल रहा था और परिवार
खुश था,

लेकिन उन्हें क्या पता था कि बदमाश लूटपाट की संगीन वारदात के लिए संतोषी को मौत के घाट उतार
देंगे। वह कहते हैं कि बदमाश चाहे उनके घर का सारा सामान ले जाते लेकिन संतोषी की हत्या तो न करते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *