चीन में कोरोना के बढ़ते मामले देखते हुए केंद्र सरकार अलर्ट पर है

चीन में कोरोना के बढ़ते मामले फिर डराने लगे हैं

चीन

चीन में कोरोना के बढ़ते मामले फिर डराने लगे हैं। इसे देखते हुए केंद्र सरकार अलर्ट पर है। देश में COVID-19 की स्थिति पर बुधवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया की वरिष्ठ अधिकारियों और विशेषज्ञों के साथ बैठक की।
बैठक के बाद उन्होंने कहा- कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ पर भारत हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।हमने सभी संबंधित लोगों को अलर्ट रहने और निगरानी बढ़ाने को कहा है।मीटिंग के बाद नीति आयोग के डॉ. वीके पॉल ने लोगों से भीड़भाड़ में मास्क लगाने की सिफारिश की है। ये गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों और बुजुर्गों के लिए बेहद जरूरी है।

केवल 27% आबादी ने ही बूस्टर डोज ली है

Aquarius 17

अभी केवल 27% आबादी ने ही बूस्टर डोज ली है। यह खुराक लेना सभी के लिए कंपलसरी है।केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखा है। पत्र में कहा गया है कि कोरोना के सभी पॉजिटिव केस के सैम्पल्स जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजें, ताकि कोरोना के वैरिएंट का पता लगाया जा सके।इन दिनों चीन, जापान, अमेरिका, कोरिया और ब्राजील में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं।दुनियाभर में जहां कोरोना केस बढ़े हैं, वहीं भारत में एक्टिव केस की संख्या में तेजी से कमी आ रही है।

चीन में कोरोना के मामलों में इजाफा चिंताजनक है

Aquarius 14

भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक 20 दिसंबर को सुबह 8 बजे तक की स्थिति में देश में कुल 3 हजार 490 एक्टिव केस थे, जो मार्च 2020 के बाद सबसे कम हैं।स्वास्थ्य मंत्री ने 19 दिसंबर को संसद में बताया था कि भारत में वैक्सीनेशन का आंकड़ा 220 करोड़ को पार कर चुका है। यह संख्या कोरोना की सभी उपलब्ध वैक्सीन की पहली, दूसरी और प्रिकॉशन डोज को मिलाकर है। देश में 18 जनवरी 2021 को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू किया गया था।

भारत को डरने की जरूरत नहीं है

हालांकि,चीन में बढ़े कोरोना के मामलों को देखते हुए TMC सांसद काकोली घोष ने इंटरनेशनल उड़ानें रोेकने की मांग की है पुणे के सीरम इंस्टीट्यूट के CEO अदार पूनावाला ने कहा है कि चीन में कोरोना के मामलों में इजाफा चिंताजनक है। हालांकि भारत को डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि देश में वैक्सीनेशन का कवरेज अच्छा है।गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डॉ. अभिजीत शर्मा ने कहा कि वैक्सीनेशन, मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने से ही कोरोना से बचा जा सकता है।

गोविंदा आज देश के सबसे बड़े सुपरस्टार होते:रोहित शेट्टी बोले- 10 सालों तक बैक-टू-बैक हिट फिल्में दी, लेकिन जो हक मिलना चाहिए था, नहीं मिला

कोरोना के ट्रेंड की निगरानी जरूरी है

Aquarius 15

केंद्र सरकार ने राज्यों को आगाह किया है कि कोरोना वायरस का खतरा अभी खत्म नहीं हुआ है। केंद्र ने चिट्ठी में कहा है कि कोरोना के ट्रेंड की निगरानी जरूरी है।RNA वैक्सीन ज्यादा असरदार हैं।महाराष्ट्र के डिप्टी चीफ मिनिस्टर देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि उनकी सरकार केंद्र से कोऑर्डिंनेट करके सारे फैसले लेगी और कोरोना के लिए खास टास्क फोर्स बनाएगी।दुनिया के कई देशों में कोरोना वायरस के अचानक बढ़े मामलों से चिंतित केंद्र सरकार ने सभी राज्यों को चिट्ठी लिखकर नए मामलों की जीनोम सीक्वेंसिंग करने का निर्देश दिया है।

पॉजिटिव मामलों की जीनोम सीक्वेंसिंग की जाए

Aquarius 16

इस बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने बड़ी बैठक बुलाई है। स्वास्थ्य मंत्री बुधवार सुबह 11:30 बजे होने वाली इस बैठक में स्वास्थ्य विशेषज्ञों से देश में कोरोना वायरस संक्रमण के हालात और तैयारियों पर चर्चा करेंगे।हाल के दिनों में पड़ोसी देश चीन के अलावा अमेरिका, जापान, कोरिया और ब्राजील में कोविड-19 संक्रमण के केस तेजी से बढ़े हैं। चीन लेकर केंद्र सरकार भी अलर्ट मोड में आ गई है और सभी राज्यों को सतर्क रहने के लिए आगाह किया है।केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव ने सभी राज्यों को चिट्ठी लिखकर कहा है कि पॉजिटिव मामलों की जीनोम सीक्वेंसिंग की जाए, जिससे कि कोरोना के किसी संभावित नए वेरियंट का वक्त रहते पता चल सकेगा।

दरअसल दुनिया के कई देशों में और चीन में एक बार फिर जिस तरह से कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं उसे देखते हुए आशंका जताई जा रही है कोविड-19 की इस नई लहर के पीछे कोरोना का कोई नया वेरिएंट तो नहीं है।

मई-जून में परीक्षा नहीं दे पाए छात्रों के लिए फिर परीक्षा कराएगा डीयू