छात्राओं को मिले टैबलेट, चेहरों पर छाई खुशी

गुरुग्राम, 05 मई  वजीराबाद स्थित राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में टैबलेट वितरण का
जिलास्तरीय कार्यक्रम हुआ।

जिला उपायुक्त निशांत कुमार यादव ने इस दौरान हरियाणा ई-अधिगम योजना के

तहत जिले के 192 छात्राओं और आठ अध्यापकों को टैबलेट प्रदान किए। इस दौरान उन्होंने कहा कि हरियाणा

पहला प्रदेश बन गया है जो इतनी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों व शिक्षकों को टैबलेट वितरित कर रहा है। आने वाले
समय में नौवीं से 12वीं कक्षा तक के करीब 45 हजार विद्यार्थियों व पीजीटी शिक्षकों को टैबलेट वितरित किए

जाएंगे। उन्होंने कहा कि ई-अधिगम से हरियाणा का विद्यार्थी भी अब ग्लोबल स्टूडेंट हो जाएगा।

कार्यक्रम को रोहतक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में आयोजित राज्यस्तरीय समारोह से जोड़ा गया।
गुरुग्राम के अलावा जिले के तीन अन्य खंडों पटौदी,

फरुखनगर और सोहना के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक
विद्यालयों में भी आयोजन हुआ। इस अवसर पर एसडीएम अंकिता चौधरी,

जिला शिक्षा अधिकारी कैप्टन इंदू
बोकन सहित काफी संख्या में विद्यार्थी व अभिभावक भी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह द्वारा विद्यार्थियों के नाम भेजे गए शुभकामना संदेश में कहा कि ई-
अधिगम यानि एडवांस डिजिटल हरियाणा इनिशिएटिव आफ गवर्नमेंट विद अडाप्टिव माडयूल्स योजना के तहत

हरियाणा सरकार द्वारा विद्यार्थियों को दिए जाने वाले टैबलेट की ये नई पहल भविष्य में हरियाणा के शिक्षा क्षेत्र
में मील का पत्थर साबित होगी।

गुड़गांव के विधायक सुधीर सिगला ने बच्चों के नाम भेजे अपने लिखित संदेश में
कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है

कि आज जिन विद्यार्थियों को ये टैबलेट दिए जा रहे हैं वे उसका सही तरीके से
इस्तेमाल करेंगे और शिक्षा के क्षेत्र की यह नई प्रणाली उनके जीवन में उपयोगी सिद्ध होगी।

टैबलेट की खास बातें…

-विभाग ने टैबलेट के साथ मोबाइल सिम भी दिया है।

टैब में कंपनी द्वारा दिया गया सिम ही कार्य करेगा। यदि
कोई बच्चा या शिक्षक उसके स्थान पर अपना सिम डालेगा तो काम नहीं करेगा।

मुख्यालय से इसकी सूचना
संबंधित अधिकारी के पास पहुंचेगी।

-विद्यार्थी इसका दुरुपयोग नहीं कर पाएंगे। टैब में अवसर, दीक्षा, पेल (पर्सनलाइज्ड एंड एडेप्टिव लर्निंग साफ्टवेयर)
और एक अन्य साफ्टवेयर डाला गया है।

इसके अलावा अन्य कोई साफ्टवेयर नहीं चलेगा। यदि कोई साफ्टवेयर
इंस्टाल करना चाहेगा, तो नहीं होगा।

-विद्यार्थी जिस भी कक्षा की एनसीईआरटी की किताबें देखना चाहेंगे, वह कक्षा सिलेक्ट करके देख सकेंगे। किताबें
पीडीएफ फार्मेट में होंगी।

-टैब की 32जीबी मेमोरी और चार जीबी रैम है। विद्यार्थियों को प्रतिदिन दो जीबी डाटा मुफ्त मिलेगा।
-तीन स्तर के टेस्ट दिए गए हैं।

शिक्षक बौद्धिक स्तर के अनुसार ही विद्यार्थियों के ग्रुप बनाकर उनके पास टेस्ट
भेजेंगे। चारों खंडों के कन्या विद्यालय से हुई शुरुआत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *