जैकलीन फर्नांडिज से ईडी ने की पूछताछ चंद्रशेखर से जुड़ा है मामला

जैकलीन फर्नांडिस चंद्रशेखर से जुड़ा है मामला

जैकलीन फर्नांडिज  को महाठग सुकेश चंद्रशेखर  के मामले में पूछताछ के लिए आज तलब किया है. जैकलीन से ईडी इस मामले को लेकर कई बार पूछताछ कर चुकी है. ईडी सुकेश चंद्रशेखर मामले में जैकलीन से पहले भी कई बार पूछताछ कर उनके बयान दर्ज कर चुका है. आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने कुछ दिन पहले ही कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में जैकलीन के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया था.

हांलाकि, अदालत ने जैकलीन फर्नांडिज के खिलाफ लुकआउट नोटिस को निलंबित कर दिया था. कोर्ट ने जैक्लीन को 31 मई से छह जून के बीच आबू धाबी में हो रहे आइफा अवॉड्रस में शिरकत करने की इजाजत दे दी थी.आपको बता दें कि ठग सुकेश चंद्रशेखर पर 200 करोड़ रूपये के जबरन वसूली करने के आरोप को लेकर ईडी की जांच चल रही है. आरोप है कि जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर ने जैकलीन को महंगे गिफ्ट दिए थे. ईडी ने उनपर कार्रवाई करते हुए उनकी 7 करोड़ रुपये की संपत्ति को भी कुर्क किया,

जैकलीन को मिले थे करोड़ों के गिफ्ट

जिसे आरोपी सुकेश ने जैकलीन को गिफ्ट के रूप में दिया था. ईडी ने अपनी चार्जशीट में बताया कि सुकेश चंद्रशेखर की एक सहयोगी पिंकी ईरानी ने जैकलीन फर्नांडिज की मुलाकात उससे करवाई थी. आरोप है कि सुकेश चंद्रशेखर ने पिंकी ईरानी के जरिए ही महंगे गिफ्ट और कैश जैकलीन फर्नांडिज तक पहुंचाए थे. महाठग सुकेश चंद्रशेखर पर आरोप है कि उसने दिल्ली के एक कारोबारी की पत्नी से रंगदारी वसूल कर कोरोड़ों रुपये का तोहफा जैकलीन फर्नांडीज को भेजा था.

कानून का सामूहिक बलात्कार ?शीर्षस्थ राजनीति की छत्रछाया में पोषित अपराध

दिल्ली की तिहाड़ जेल (Tihar Jail) में बंद महाठग सुकेश चंद्रशेखर ने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में एक याचिका दाखिल की थी. जिसमें उसने तिहाड़ जेल में अपनी जान को खतरा होने का दावा करते हुए दिल्ली के बाहर किसी जेल में शिफ्ट करने की मांग की थी. यही नहीं जेल में बंद सुकेश चंद्रशेखर बीते 23 मई से भूख हड़ताल पर बैठ गया. उसकी मांग है कि जेल नियमों के विरुद्ध जाकर उसे महीने में दो बार से ज्यादा उसकी पत्नि लीना मारिया पॉल में मिलने दिया जाए. मनी लॉन्ड्रिंग केस में आरोपी सुकेश चंद्रशेखर की जैकलीन फर्नांडीज से गहरी दोस्‍ती थी।

जैकलीन फर्नांडिज 
जैकलीन की 7.27 करोड़ की संपत्ति कुर्क की थी।