डीजल से चलने वाली ट्रेनों पर अधिभार लगाने की कोई योजना नहीं : रेल मंत्रालय

रेल मंत्रालय ने डीजल से चलने वाली ट्रेनों पर अधिभार लगाने की अटकलों को निराधार बताते हुए कहा कि भारतीय रेलवे की ऐसी कोई योजना नहीं है। रेल मंत्रालय ने गुरुवार को स्पष्टीकरण जारी करते हुए कहा कि मीडिया का एक वर्ग पूछ रहा है

Direct Recruitment for the post of Officers in Grade ‘B’ (Direct Recruit-DR) (On Probation-OP) (General/DEPR/DSIM) Streams- Panel Year 2022

कि क्या भारतीय रेलवे उन ट्रेनों पर सरचार्ज लगाने जा रही है जो डीजल ट्रैक्शन पर चलाई जा रही हैं।मंत्रालय ने कहा कि सभी संबंधितों की जानकारी के लिए सूचित किया जाता है कि भारतीय रेलवे की ऐसी कोई योजना नहीं है। अटकलें निराधार हैं।

पूनम पांडे, पायल रोहतगी का डांस देखकर दंग रह गए करण कुंद्रा

 

उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ दिनों से ऐसी खबरें आ रही थीं जिनमें कहा जा रहा था कि रेलवे बोर्ड डीजल इंजनों से चलने वाली ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों पर 10 से 50 रुपये के बीच हाइड्रोकार्बन सरचार्ज(एचसीएस) या डीजल टैक्स लगाने की योजना बना रहा है।

यह सरचार्ज लम्बी दूरी की उन ट्रेनों पर लागू होगा जो डीजल इंजनों का इस्तेमाल कर आधी से ज्यादा दूरी तक चलेंगी।

रणबीर-आलिया की शादी: आखिरकार एक-दूजे के हुए रणबीर और आलिया

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *