डीयू परीक्षाओं में सात जून तक नकल के 115 मामले सामने आए

नई दिल्ली, 08 जून (वेब वार्ता)। दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) की परीक्षाओं में सात जून तक नकल के लगभग 115 मामले सामने आ चुके हैं। विश्वविद्यालय के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

कोविड-19 के चलते दो साल बाद मई में पहली बार विश्वविद्यालय के द्वितीय व तृतीय वर्ष के छात्रों की परीक्षाएं ऑफलाइन माध्यम से शुरू हुईं। अधिकारी ने कहा कि साल 2019 में हुईं ऑफलाइन परीक्षाओं के दौरान सामने आए नकल के मामलों की तुलना में इस साल मामलों की संख्या ”काफी कम” है।

डीन (परीक्षाएं) डी.एस. रावत ने कहा, ”अब तक (मंगलवार तक) नकल के 115 मामले दर्ज किये गए हैं। ये मामले बहुत अधिक नहीं हैं। ये 2019 में ऑफलाइन माध्यम से हुई परीक्षाओं के दौरान सामने आए मामलों की तुलना में काफी कम हैं।” दिल्ली विश्वविद्यालय का परीक्षा सत्र 18 जून को समाप्त हो रहा है। रावत ने कहा, ”परीक्षाओं के बाद इन मामलों में शामिल छात्रों को पत्र भेजकर स्पष्टीकरण मांगा जाएगा। उन्हें अपनी बात रखने का एक अवसर दिया जाएगा।

समिति की तरफ से भी मामले की सुनवाई की जाएगी।” उन्होंने कहा कि समिति नियमों और अपराध की गंभीरता के आधार पर दंड के बारे में निर्णय करेगी। रावत ने कहा, ”गंभीर मामलों में छात्र को सेमेस्टर के सभी विषयों की परीक्षा दोबारा देने के लिये कहा जाएगा।”