नींबू जैसा दिखने वाला चकोतरा एक ऐसा फल है, जो विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट, मैग्नीशियम, पोटैशियम और कई तरह के डायटरी फाइबर से भरपूर है

नींबू जैसा दिखने वाला चकोतरा एक ऐसा फल है जो कई तरह के डायटरी फाइबर से भरपूर है

चकोतरा

नींबू जैसा दिखने वाला चकोतरा, जिसे गागर, डाभ, नारंगा, कागजी नींबू और ग्रेप फ्रूट जैसे कई नामों से भी जाना जाता है। ये एक ऐसा फल है, जो विटामिन सी, एंटीऑक्सीडेंट, मैग्नीशियम, पोटैशियम और कई तरह के डायटरी फाइबर से भरपूर है। ये कई तरह की बीमारियों से निजात दिलाने में मदद करता है। डायटीशियन कामिनी सिन्हा का कहना है कि ये हेल्थ बेनिफिट्स से भरपूर है। इसलिए सर्दियों के मौसम में उत्तराखंड में इसे दही के साथ मिलाकर स्पेशल खटाई बनाई जाती हैवेट लॉस कर रहे हैं तो ये डाइट में शामिल करें।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 जनवरी को छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के संग परीक्षा पे चर्चा करेंगे

इसमें कैलोरीज की मात्रा काफी कम होती है

3

इसमें कैलोरीज की मात्रा काफी कम होती है और ये एक ऐसा फल है, जो भूख मिटाने के लिए काफी है। वहीं ये विटामिन सी, विटामिन ए से भी भरपूर है। अगर डाइजेस्टिव सिस्टम से जुड़ी परेशानियों से परेशान रहते हैं तो ये खाएं। ये शरीर से टॉक्सिन्स को रिलीज करता है। चकोतरा पोटेशियम रिच फ्रूट है, जिसके कारण ये ब्लड प्रेशर को कंट्रोल में रखने में मदद करता है। इसके अलावा चकोतरा में मिलने वाले मिनरल्स और विटमिन्स हॉर्ट प्रॉब्लम्स के लिए फायदेमंद माने जाते हैं। ये बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मददगार है।

इसमें प्रोटीन और फाइबर अधिक मात्रा में पाई जाती है

इसमें प्रोटीन और फाइबर अधिक मात्रा में पाई जाती है। शरीर में फाइबर की कमी है तो इसे अपनी डाइट में शामिल करें। चकोतरा में कई तरह के न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं।चकोतरा दिल को स्वस्थ रखने में प्रभावी होता है। इसके सेवन से इम्यूनिटी बूस्ट की जा सकती है। साथ ही यह मसल्स में होने वाली परेशानी को कम कर सकता है। खास कर के हड्डियों से जुड़ी बीमारी से परेशान हैं तो इसे रोजाना खाएं। इसमें ओमेगा 3 फैट्स और कैल्शियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जिससे शरीर के मसल्स और टिशू स्ट्रॉन्ग होते हैं।

जिससे हिचकी आने की वजहों को कंट्रोल करता है और हिचकी आनी बंद हो जाती है

2

विटामिन सी से भरपूर चकोतरा दिल को स्वस्थ रखने के साथ-साथ इम्यून पावर को भी बूस्ट कर सकता है. इसके सेवन से मौसमी समस्याओं को दूर किया जा सकता है.चकोतरा शराब का नशा उतारने में फायदेमंद साबित हो सकता है। इसका खट्टापन शराब के नशे को काटता है। अगर नशे में धुत व्यक्ति जल्द होश में लाना है तो इसके काटकर खिला दें। इससे काफी लाभ मिलेगा। यह शरीर में संक्रमण के लक्षणों को कम करता है। चकोतरा का स्वाद खट्टा होता है, जिससे हिचकी आने की वजहों को कंट्रोल करता है और हिचकी आनी बंद हो जाती है।

उल्टी से परेशान है तो इसे खाएं

1

चकोतरा के छिलकों , बीजों को उल्टी में फायदेमंद माना जाता है।उल्टी से परेशान है तो इसे खाएं ।चकोतरा में एपिजेनिन नाम का फ्लेवोनोइड मौजूद होता है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और फ्री रेडिकल खत्म करने के गुण मौजूद होते हैं।उत्तराखंड की खूबसूरती का लगभग हर व्यक्ति दिवाना है, लेकिन क्या आपने यहां के फलों का स्वाद चखा है? यहां आपको कई रसीले फल की वैरायटीज मिल जाएंगी, इन फलों में चकोतरा भी एक ऐसा फल है जो स्वाद और सेहत से भरपूर होता है। नींबू की तरह दिखने वाला यह फल विटामिन सी से भरपूर होता है।

आपके दिल के मसल्स को स्वस्थ रखने में प्रभावी है

4

इसके सेवन से इम्यूनिटी मजबूत की जा सकती है। साथ ही यह पाचन संबंधी परेशानियों के लिए भी बेस्ट माना जाता है। चकोतरा के सेवन से हमारे शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है। इसकी खटास और मिठास आपके दिल के मसल्स को स्वस्थ रखने में प्रभावी है। चकोतरा में हमारे शरीर को मिलने वाले मिनरल्स और विटमिन्स दिल को स्वस्थ रखने में प्रभावी माने जाते हैं। आइए जानते हैं चकोतरा के सेवन से शरीर को होने वाले लाभ के बारे में-इतना ही नहीं ये एंटी कैंसर एजेंट के तौर पर भी काम करता है और बॉडी सेल्स को नुकसान पहुंचाए बिना कैंसर सेल्स को फैलने से रोकता है।

चकोतरा के सेवन से हिचकी को रोकने में मदद मिल सकती है। इसका खट्टापन हिचकी आने की वजहों पर कंट्रोल करता है, जो हिचकी आने की परेशानी को कम करता है। वहीं अगर आपको उल्टी जैसा महसूस हो रहा है तो इसके छिलकों और बीजों का सेवन करें। चकोतरा में विटामिन सी और बीटा केरोटीन पाए जाते हैं। ये पोषक तत्व आंखों की रौशनी बढ़ाने में मदद करते हैं। आंखों की रौशनी को बढ़ाने या बेहतर बनाने के लिए रोजाना इसका सेवन करें।

राजस्थान में आज से 5G, तीन शहरों से शुरुआत:CM ने जयपुर में लॉन्च की जियो सर्विस, बोले- इंटरनेट अफीम हो गया है