मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण शुरू, 500 वाहन खड़े हो सकेंगे

गाजियाबाद, 15 अप्रैल । नया बस अड्डे के पास मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण कराने के लिए मिट्टी
का भराव और फाउंडेशन का काम शुरू हो गया।

निर्माण कार्य से पहले जांच के लिए भेजे मिट्टी के सैंपल सही
आए हैं। जल निगम को निर्माण कार्य आरंभ होने के 12 से 18 माह में पार्किंग तैयार करनी होगी। नया बस अड्डे

के पास पांच मंजिला पार्किंग में 500 वाहन खड़े हो सकेंगे।

दिल्ली फिल्म नीति का पोर्टल होगा पूरी तरह डिजिटल, एक मंच पर 25 एजेंसियां देंगी मंजूरी

इसके बाद वाहन सड़कों के किनारे खड़े नहीं होंगे।
नगर निगम नया बस अड्डे के पास राज्य स्मार्ट सिटी योजना के तहत पार्किंग का निर्माण कराएगा। इसके लिए
काफी पहले ही जमीन चिन्हित कर ली थी।

पार्किंग बनाने पर 38 करोड़ 83 लाख रुपये खर्च किए जाएंगे। यह
काम जल निगम को दिया गया है। जल निगम ने मिट्टी के सैंपल जांच के लिए भेजे थे।

पंतनगर विश्वविद्यालय
में मिट्टी की जांच कराई गई। इसमें पता कराया कि निर्माण के दौरान मिट्टी धंस तो नहीं जाएगी।

विश्वविद्यालय
से मिट्टी की रिपोर्ट आ गई है,

जिसमें कोई कमी नहीं मिली। जल निगम ने तीन दिन पहले मिट्टी का भराव शुरू
करा दिया। मिट्टी को समतल किया जा रहा है।

फाउंडेशन बनाने के लिए खुदाई कराई जा रही है। हालांकि निर्माण
कार्य 10 दिन बाद रफ्तार पकड़ने लगेगा।

राशिफल 2022

12 माह में तैयार करनी होगी पार्किंग : जल निगम को पार्किंग बनाने के लिए समय निर्धारित किया गया है। 12
माह में पार्किंग तैयार करनी होगी। लेकिन किसी वजह से काम में समस्या आती है तो उसके लिए छह माह का

अतिरिक्त समय मिलेगा। यह पार्किंग पांच मंजिला है। इसमें 223 दुपहिया और 196 चार पहिया वाहन खड़े हो
सकेंगे। पार्किंग बनने के बाद नया बस अड्डा, मेट्रो स्टेशन और उसके आसपास जाम की समस्या खत्म हो जाएगी।

पार्किंग के बाद लोग सड़कों के किनारे वाहन खड़े नहीं कर सकेंगे।

जाममुक्त बनाने के लिए बनाई जा रही : पार्किंग का निर्माण राज्य स्मार्ट सिटी योजना के तहत कराया जा रहा है।
शहर को जाम मुक्त बनाने के लिए पार्किंग बनाने का फैसला लिया है। इसके बनने से सड़कों के किनारे वाहन खड़े

नहीं किए जा सकेंगे। पार्किंग बनने के बाद यदि वाहन सड़क किनारे खड़े किए तो जुर्माना लगाया जाएगा।

जमीन पर बना दी थी अवैध पार्किंग : जल निगम के अवर अभियंता रोहित तोमर ने बताया कि नया बस अड्डे के
पास निगम की काफी जमीन है। उस पर कुछ लोगों ने अवैध कब्जा करके पार्किंग बना दी थी।

मोरबी में हनुमान जी की इस भव्य मूर्ति का लोकार्पण 

वहां वाहन खडे
किए जा रहे थे। आसपास के दुकानदार कचरा डाल रहे थे।

जमीन कब्जा मुक्त करा दी है। उन्होंने बताया कि
निर्माण कार्य से पहले मिट्टी का भराव कराया जा रहा है।

नवयुग मार्केट में बननी थी पहले : मल्टीलेवल पार्किंग पहले नवयुग मार्केट स्थित आंबेडकर पार्क में बनाई जानी
थी। जल निगम ने इसका डिजाइन भी तैयार कर लिया था।

लेकिन इसका विरोध शुरू हो गया था। स्थानीय लोग
आरोप लगा रहे थे कि पार्किंग बनने से पार्क का स्वरूप खत्म हो जाएगा।

इसके बाद पार्किंग दूसरे स्थान पर बनाई
जा रही है। नवयुग मार्केट में पार्किंग बनने से ज्यादा वाहन खड़े किए जा सकते थे।

आयुष्मान भारत : शनिवार से 1 लाख कल्याण केंद्रों पर मिलेगी टेली-परामर्श सुविधा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *