मुंबई से सीख कूड़े के पहाड़ में आग की घटनाएं रोकी जाएंगी

दिल्ली अब मुंबई से सीखकर लैंडफिल साइट पर आग लगने की घटनाएं रोकेगी। पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने मुंबई में लैंडफिल साइट से निकलने वाली गैस को खींचने वाले सिस्टम को दिल्ली में भी अपनाने के निर्देश दिए हैं। इसके अध्ययन के लिए दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति और नगर निगम की संयुक्त टीम मुंबई जाएगी।

दिल्ली में तीन कचरे के पहाड़ हैं। यहां अक्सर ही आग लगने की घटनाएं होती हैं, जिनके प्रदूषण से हवा जहरीली हो जाती है। दिल्ली सरकार ने गुरुवार को लैंडफिल साइट पर आग की रोकथाम के लिए कई विभागों और विशेषज्ञों के साथ बैठक की। बैठक के बाद पर्यावरण मंत्री गोपाल राय ने बताया कि विचार-विमर्श के बाद मुंबई के कचरा डंपिंग स्थल पर लगे गैस सकिंग सिस्टम को अपनाने का फैसला लिया गया है। इसके लिए विशेष टीमें मुंबई जाकर सिस्टम का अध्ययन करेंगी। इस सिस्टम से कूड़े से लगातार निकलने वाली मीथेन गैस पर नियंत्रण पाया जा सकेगा। लैंडफिल साइट पर आग लगने का सबसे बड़ा कारण मीथेन गैस को माना जाता है।

भ्रष्टाचार का आरोप लगाया : आप विधायक और दिल्ली विधानसभा की पर्यावरण समिति की अध्यक्ष आतिशी ने गाजीपुर लैंडफिल साइट को लेकर भाजपा पर आरोप लगाए हैं। उन्होंने कहा कि गाजीपुर लैंडफिल साइट को लेकर पूर्वी निगम ने अलग-अलग संस्थाओं से करार किए। लेकिन, जब विधानसभा की समिति द्वारा उनसे इससे संबंधित कागजात मांगे गए तो कागजात उन्हें उपलब्ध नहीं कराए जा रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *