रामनवमी पूजा में विघ्न डालना चाहते थे वामपंथी छात्र : एबीवीपी

नई दिल्ली, 11 अप्रैल राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) से संबद्ध अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद
(एबीवीपी) ने सोमवार को आरोप लगाया कि वामपंथी छात्र रामनवमी पूजा में विघ्न डालना चाहते थे और वे

मांसाहारी भोजन की बात कहकर मुद्दे से भटकाव के हथकंडे अपना रहे हैं। एबीवीपी की जेएनयू इकाई के अध्यक्ष
रोहित कुमार ने कहा कि उनके संगठन को मांसाहारी भोजन से कोई समस्या नहीं है।

जेएनयू के कावेरी छात्रावास में रविवार को ‘मेस’ में कथित तौर पर रामनवमी पर मांसाहारी भोजन परोसने को
लेकर छात्रों के दो समूह आपस में भिड़ गए थे।

पुलिस ने कहा कि हिंसा में छह छात्र घायल हुए हैं। उन्होंने दावा
किया कि सात दिन पहले कावेरी छात्रावास मेस समिति की आम सभा की बैठक (जीबीएम) में सर्वसम्मति से

निर्णय लिया गया था कि रामनवमी के अवसर पर रविवार को छात्रावास के मेस में कोई भी मांसाहारी भोजन नहीं
बनाया जाएगा।

कुमार ने कहा, ;मुस्लिम छात्र भी इस फैसले से सहमत थे। तीन दिन पहले जब रामनवमी पूजा का पोस्टर साझा
किया गया तो वामपंथी छात्रों ने पूजा को बाधित करने के लिए मांस-हड्डियां फेंकने की धमकी दी थी।

; उन्होंने यह
भी आरोप लगाया कि वामपंथी छात्रों ने पूजा से एक दिन पहले नौ अप्रैल को एक फर्जी हस्तलिखित परिपत्र भी
निकाला।

कुमार ने कहा, ‘‘पूजा 10 अप्रैल को अपराह्न 3.30 बजे शुरू होनी थी, लेकिन ये छात्र इसे बाधित करने आए।
श्रद्धालुओं की भारी भीड़ देखकर उन्हें वापस लौटना पड़ा।

अंत में पूजा शाम 5.30 बजे शुरू हुई और रात 8.30
बजे वे पत्थर, लाठियों, सीएफएल ट्यूब से लैस होकर आए तथा छात्रों पर हमला शुरू कर दिया।”

उन्होंने कहा कि
एबीवीपी को मांसाहारी भोजन परोसे जाने से कोई दिक्कत नहीं है।

कुमार ने कहा, ;कोयना, पेरियार आदि जैसे अन्य छात्रावासों में कल मांसाहारी भोजन परोसा गया था। वामपंथी
छात्र मुद्दे से भटकाव के हथकंडे अपना रहे हैं।

हम भोजन के विकल्प को निर्धारित नहीं कर सकते, लेकिन न ही
वामपंथी ऐसा कर सकते हैं।;

कावेरी छात्रावास के मेस सचिव रागिब ने इस बात से इनकार किया कि इस मामले
में कोई जीबीएम आयोजित हुई थी।

उन्होंने कहा, ;रविवार से एक दिन पहले मुझे मेस वार्डन से संदेश मिला कि

कल मांसाहारी भोजन नहीं परोसा जाना चाहिए। मैंने उनसे लिखित में देने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं
किया।

; हॉस्टल मेस में बुधवार, शुक्रवार और रविवार को मांसाहारी भोजन परोसा जाता है तथा महीने की शुरुआत
में मेन्यू पहले से तय होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *