लगातार दूसरे दिन गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 666 अंक तक लुढ़का

नई दिल्ली, 12 अप्रैल  विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की चौतरफा बिकवाली के कारण घरेलू शेयर बाजार
आज लगातार दूसरे दिन मंगलवार को गिरावट के साथ बंद हुआ।

दिनभर के कारोबार के दौरान विदेशी निवेशकों
की बिकवाली के असर को कम करने के लिए घरेलू संस्थागत निवेशकों ने जमकर खरीदारी भी की, लेकिन कमजोर
ग्लोबल संकेतों के कारण हो रही बिकवाली के असर से घरेलू शेयर बाजार बच नहीं सका।

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के सेंसेक्स ने 221.07 अंक की कमजोरी के साथ 58,743.50 अंक के स्तर से
आज के कारोबार की शुरुआत की। शुरुआती कारोबार में ही खरीदारों ने लिवाली करके शेयर बाजार को संभालने की

कोशिश की। लिवाली के इस सपोर्ट से शुरुआती 15 मिनट के कारोबार में ही सेंसेक्स उछलकर 58,703.11 अंक के
स्तर तक पहुंच गया। लेकिन विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की ओर से हो रही जोरदार बिकवाली के कारण ये
सूचकांक अगले कुछ मिनट में ही गिर कर 58,487.42 अंक के स्तर पर आ गया।

खरीदारों ने इस स्तर पर एक बार फिर बाजार को संभालने की कोशिश की, जिसके कारण सेंसेक्स दोबारा मजबूत
होकर 58,650.42 अंक के स्तर तक पहुंचा, लेकिन इस स्तर पर शुरू हुई बिकवाली के दबाव के कारण उसे दोबारा

गोता लगाने के लिए मजबूर होना पड़ा। बिकवाली का दबाव सुबह 10:30 बजे तक लगातार बना रहा, जिसके
कारण सेंसेक्स 666 अंक गिरकर आज के सबसे निचले स्तर 58,298.57 अंक तक पहुंच गया।

इस गिरावट के बाद बाजार में उठापटक का दौर शुरू हो गया। खरीदारों की कोशिश से कभी सेंसेक्स ऊपर जाता,
तो कभी बिकवाली के दबाव में ये सूचकांक नीचे फिसल जाता।

बाजार की ये स्थिति दोपहर 2:00 बजे से थोड़ी देर
पहले तक बनी रही।

इस समय तक लेकिन इसके बाद घरेलू संस्थागत निवेशक चौतरफा खरीदारी कर बाजार को
संभालने की कोशिश में जुट गए।

घरेलू संस्थागत निवेशकों की खरीदारी के कारण अगले 1 घंटे में ही सेंसेक्स आज
के सर्वोच्च स्तर 58,794.78 अंक तक पहुंच गया।

हालांकि कारोबार के आखिरी दौर में इंट्रा-डे सेटेलमेंट के कारण
हुई बिकवाली की वजह से सेंसेक्स एक बार फिर दबाव में आ गया और 388.20 अंक की गिरावट के साथ
58,576.37 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

सेंसेक्स की तरह ही नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी ने भी आज 90.10 अंक की गिरावट के साथ
17,584.85 अंक के स्तर से कारोबार की शुरुआत की।

निफ्टी में भी शुरुआती कारोबार के दौरान लिवाली के सपोर्ट
से थोड़ी तेजी आती नजर आई। लेकिन बाजार में बिकवाली का दबाव इतना अधिक था कि ये सूचकांक मामूली
रिकवरी के बाद लगातार गिरता चला गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *