श्रीलंका को भारत ने 5.5 करोड़ डॉलर कर्ज की स्वीकृति दी

कोलंबो, 11 जून (वेब वार्ता)। आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका को भारत ने बड़ी राहत देते हुए 5.5 करोड़ डॉलर कर्ज देने की घोषणा की है। भारत ने यह मदद श्रीलंका को उर्वरकों के आयात के लिए दी है। भारत का यह कदम दक्षिणी देश से चीन का प्रभाव कम करने की दिशा में बड़ा कदम हो सकता है।

 

भारतीय उच्चायोग ने शुक्रवार को बताया कि भीषण आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका को खाद्यान्न संकट से बचाने के लिए उर्वरक की खरीद में धन की कमी नहीं आने देने के लिए अधिकतम ऋण सीमा (क्रेडिट लाइन) प्रदान की है। 5.5 करोड़ डॉलर (करीब 423 करोड़ रुपये) की क्रेडिट लाइन से श्रीलंका 65 हजार मीट्रिक टन उर्वरक का आयात कर सकेगा, ताकि वह सीजन की फसल के लिए तत्काल जरूरत की चीजें मुहैया करा सके।

 

वित्त मंत्रालय के सचिव एम सिरिवर्धने ने डॉलर क्रेडिट लाइन प्राप्त करने के लिए एक्जिम बैंक ऑफ इंडिया के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। इस बीच श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने देश में उत्पन्न भीषण आर्थिक संकट से निपटने के लिए निवेश मंत्रालय समेत दो नए मंत्रालयों का गठन करने का ऐलान किया है। तकनीकी एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्रालय विदेशी निवेश और निजी क्षेत्र निवेश को प्रोत्साहन देगा।