सजा पूरी होने से पहले रिहा हुए कैदी, रिकॉर्ड से छेड़छाड़ के आरोप में तीन अधिकारी निलंबित

नासिक (महाराष्ट्र), 21 अप्रैल । नासिक रोड केंद्रीय कारागार में कम से कम तीन कैदियों की शीघ्र रिहाई
के संबंध में रिकॉर्ड बदलने के आरोप में जेल के दो अधिकारियों और एक क्लर्क को निलंबित किया गया है।

Ayushman Bharat Health Account

पुलिस सूत्रों ने बृहस्पतिवार को बताया कि उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। हालांकि अभी तक कोई
गिरफ्तारी नहीं हुई। तीनों के खिलाफ सरकार को धोखा देने का मामला दर्ज किया गया है।

मुंबई के खार इलाके में सात मंजिला इमारत में लगी आग

सूत्रों के मुताबिक जांच के बाद अतिरिक्त महानिदेशक और पुलिस महानिरीक्षक ने इस सप्ताह के शुरू में जेल
अधिकारी श्यामराव अश्रुबा गीते और माधव कामाजी खैरगे और क्लर्क सुरेश जयराम दबेराव के निलंबन का आदेश
जारी किया था।

यूपी में शिशुओं के लिए खुलेंगे स्वास्थ्य उपकेंद्र

सूत्रों ने बताया कि निलंबित कर्मियों ने व्हाइटनर का उपयोग करके रिकॉर्ड में विभिन्न बदलाव किए थे, जिससे
कैदियों को सजा पूरी होने से पहले रिहा कर दिया गया।

हुबली हिंसा : अब तक 126 गिरफ्तार

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *