गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत

गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से लोग नदी में गिर गए

इस हादसे में 141 लोगों की मौत हो गई

गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत
गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत

 

गुजरात के मोरबी में हुए पुल हादसे में मरने वालों की संख्या अब तक 141 पहुंच गई है. हालांकि अभी तक 170 लोगों को रेस्क्यू कर बचा लिया गया है. चाय विक्रेता ने बताया, चंद सेकेंड में सब कुछ तबाह हो गया. मैंने लोगों को पुल पर लटकते हुए देखा और थोड़ी देर बाद वे पानी में गिर गए और मौत की नींद सो गए. यह वाकई में डरावना और दिल दहलादेने वाला था.मैंने इस तरह का मंजर पहले कभी नहीं देखा था. रोते हुए उस चाय विक्रेता ने कहा,’पुल से एक छोटा बच्चा नीचे गिरा था. हमने उसे बचाने की कोशिश की. उसके पेट से हमने काफी पानी बाहर निकलवाया, हम खुश थे कि वह बच जाएगा,

सूर्य को अर्घ्य देने से सारे दुखों का नास करती है छठ मैया

हम उसे अस्पताल ले गए, लेकिन उसने मेरी ही आंखों के सामने दम तोड़ दिया ।चाय बेचने वाले ने कहा, ‘हर जगह बस लोग मर रहे थे। मैंने जितना हो सके मदद करने की कोशिश की। लोगों को अस्पताल ले गया। मैंने कभी ऐसा कुछ नहीं देखा। दूसरों ने बताया कि कैसे उन्होंने उन बच्चों को बचाने का प्रयास किया, जिनमें बच्चे भी शामिल थे, जिन्हें पुल से चिपके हुए देखा गया था, लेकिन उन्हें असहाय होकर देखना पड़ा क्योंकि वे नदी के बीच नहीं जा सकते थे। उनकी आंखों के सामने बच्चे मर रहे थे।

गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत
गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत

सेना, नौसेना, वायु सेना, एनडीआरएफ  रात भर तलाशी अभियान चलाया

इस पूरे मामले को लेकर गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि घटना के संबंध में एक आपराधिक मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि आईजीपी रेंज के नेतृत्व में आज इस मामले की जांच शुरू हो गई है. संघवी ने कहा कि नेवी, एनडीआरएफ समेत 200 से ज्यादा लोग पूरी रात राहत-बचाव कार्य में लगे रहे. गुजरात के अधिकारियों के अनुसार पुल गिरने के बाद गुजरात के मच्छु नदी में गिरे लोगों को बचाने के लिए सेना, नौसेना, वायु सेना, एनडीआरएफ और फायर ब्रिगेड सहित टीमों ने रात भर तलाशी अभियान चलाया ।

अचानक पुल झूला और टूटकर नदी में जा गिरा

गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत
गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत

प्रत्यक्षदर्शियों उस खौफनाक मंजर को चाहकर भी नहीं भुला पारहे हैं. हादसे का गवाह बने एक स्थानीय ने कहा कि मैंने कितने बच्चों की लाशों को अपने हाथों में उठाया मुझे खुद पता नहीं. खौफनाक मंजर को अपनी आंखों से देखने वाले एक चाय विक्रेता ने कहा कि लोग जुल्टो पुल पर हमेशा की तरह मौज मस्ती कर रहे थे अचानक यह पुल टूट गया.अधिकांश लोग अपने पूरे परिवार के साथ एंजॉय करने यहां पहुंचे थे। लोग तस्वीरें ले रहे थे तो की सेल्फी क्लिक कर रहा था। हर कोई खुश नजर आ रहा था। अचानक पुल झूला और टूटकर नदी में जा गिरा। महिलाएं, बच्चे, बुजुर्ग और युवा पुल पर मौजूद सभी नदी में जा गिरे।

हादसे में सबसे ज्यादा मरने वालों में महिलाएं और बच्चे

कई माओं से बच्चे बिछड़ गए तो कई बच्चे अपनी मां को ढूंढते नजर आए। किसी का तो पूरा परिवार ही खत्म हो गया और उन्हें खोजने वाला कोई नहीं था। कई के परिवार हादसे की सूचना के बाद अपनों को ढूंढने के लिए नदी के किनारे, अस्पतालों और पोस्टमॉकर्टम हाउस के चक्कर काटते नजर आए। रातभर चीखें कानों और दिल को चीरती रहीं।सीन इतना भयावह था कि मासूम बच्चों की लाशें देखकर राहत कार्य में लगे लोग भी अपने आंसू नहीं रोक पाए। हादसे में सबसे ज्यादा मरने वालों में महिलाएं और बच्चे ही हैं।

एक बच्ची की उम्र लगभग 10 साल थी वह डूब रही थी

प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कैसे वे गुजरात की मच्छु नदी से लोगों को खींचने में लग गए। बच्चे आंखों के सामने डूबते चले गए। कई को बचाने की उम्मीद से बाहर निकाला तो उन्होंने गोद में ही दम तोड़ दिया।चाय बेचने वाले एक विक्रेता ने बताया कि एक बच्ची की उम्र लगभग 10 साल थी वह डूब रही थी। उन्होंने उसे जल्दी से बाहर निकाला। बच्ची ने उन्हें कस के पकड़ लिया। वह उसे जब तक बाहर लेकर आए, बच्ची के हाथ की पकड़ ढीली हो गई और पलक झपकते ही उसका हाथ जमीन पर लटकर झूलने लगा।

गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत
गुजरात के मच्छु नदी पर बना केबल ब्रिज टूट जाने से141 लोगों की मौत

7 महीने की गर्भवती महिला की भी डूबकर मौत हो गई

14 साल पुराने सस्पेंशन पुल को स्थानीय लोगों ने डरावनी तरह से लटकते देखा। गुजरात के मच्छु नदी से लोगों का झुंड पुल के सहारे ऊपर चढ़ने की कोशिश कर रहा था। इस कोशिश में तमाम लोगों के हाथ की पकड़ ढीली पड़ी और वह सीधा नदी में जाकर डूब गए।प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, ‘सब कुछ सेकंड में हो गया। मैंने देखा कि लोग पुल पर लटके हुए थे और बाद में पानी में गिर गए क्योंकि उनकी पकड़ ढीली हो गई और वे पानी में फिसल गए। यह वास्तव में दिल दहला देने वाला था। पुल गिरने से 7 महीने की गर्भवती महिला की भी डूबकर मौत हो गई।

गुजरात के गृह मंत्री बोले, करेंगे जरूरी कार्रवाई

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि सीएम भूपेंद्र पटेल स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। सरकारी एजेंसियां राहत कार्य कर रही हैं। एनडीआरएफ, नेवी और एयरफोर्स यहां मौजूद रहेंगे। जांच बहुत गंभीरता से की जाएगी और हम सभी आवश्यक कार्रवाई करेंगे। संघवी ने कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने बचाव अभियान चलाने के लिए व्यापक समर्थन दिया है। एसडीआरएफ और  गुजरात पुलिस पहले से ही मौके पर मौजूद है। पुल की प्रबंधन टीम पर आईपीसी की धारा 304, 308 और 114 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Opportunity For Graduate + CA/CMA – INTER As Assistant Finance Officer In