5G Launch: पीएम मोदी ने किया लॉन्च,आया 5G का जमाना,अब 10 गुना होगी इंटरनेट स्पीड

5G युग की हुई शुरुआत जियो-एयरटेल ने किया ये एलान

 इंडियन मोबाइल कांग्रेस की भी शुरुआत हो गई है, जोकि चार दिन तक चलेगी. इसी कार्यक्रम में पीएम मोदी ने 5G सर्विस की शुरुआत की. इस दौरान उन्होंने टेलीकॉम ऑपरेटर्स से भी बातचीत की. अब 4G से अपग्रेड होकर हम 5G सर्विस तक पहुंच गए हैं.प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नई दिल्ली के प्रगति मैदान में 5जी सेवाओं की लॉन्चिंग कर दी है. यह भारत के लिए खास पल है. भारत ने टेक्नोलॉजी के एक नए युग में प्रवेश कर लिया है.यह इवेंट 4 अक्टूबर तक चलेगा. इसमें कई दूसरे इवेंट्स भी होने वाले हैं.

पीएम मोदी ने किया लॉन्च

इस कार्यक्रम को IMC 2022 5G की वजह से ज्यादा खास माना जा रहा है. भारत पर 5जी का कुल आर्थिक प्रभाव 2035 तक 450 अरब अमेरिकी डॉलर तक होने का अनुमान है. 4जी कीतुलना में 5जी नेटवर्क (5G Network) कई गुना तेज गति देता है और बाधा रहित संपर्क मुहैया कराता है.पीएम मोदी ने न केवल इसे लॉन्च किया बल्कि इसका अनुभव भी किया. उन्होंने जाना की किस तरह से इसका उपयोग किया जाएगा. 4G के मुकाबले 5G की स्पीड 10 गुना ज्यादा होगी.

दूरसंचार ऑपरेटरों  5G तकनीक दिखाने के लिए पीएम मोदी के सामने किया प्रदर्शन

इस दौरान देश के तीन प्रमुख दूरसंचार ऑपरेटरों ने भारत में 5G तकनीक की क्षमता दिखाने के लिए प्रधानमंत्री के सामने कई तकनीकों प्रदर्शन किया. प्रदर्शनी में पीएम के सामने हाई-सिक्योरिटी राउटर, साइबर थ्रेट डिटेक्शन प्लेटफॉर्म, अंबुपॉड जैसी 5G तकनीकों का अनुभव कराया गया. रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी ने कहा कि दिसंबर 2023 तक देश के हर तालुका तक जियो 5G की सेवा पहुंच जाएगी.पीएम मोदी ने अपने भाषण में 5G सर्विस की अहमियत और इससे होने वाले फायदों के बारे में बताया. उन्होंने इसकी लॉन्चिंग को भारत के लिए गर्व का पल कहा है.

गाजियाबाद मे मनोज सिंह ने मेरे पति से बीस हज़ार रुपये अपनी दंबगयी के बल पर लिये

उन्होंने कहा कि भारत अब टेलीकॉम टेक्नॉलजी में ग्लोबल स्टेंडर्ड तय करेगा.अब भविष्य की वायरलेस टेक्नॉलजी को डिजाइन करने में, उस से जुड़ी उत्पादन में भारत की बड़ी भूमिका होगी. डिजिटल इंडिया देश के विकास का बहुत बड़ा विजन है. इस विजन का लक्ष्य है उस तकनीक को आम लोगों तक पहुंचाना, जो लोगों के लिए काम करें, लोगों के साथ जुड़कर काम करें.पीएम मोदी ने 5G सर्विस को 130 करोड़ भारतवासियों के लिए एक शानदार उपहार बताया है. उन्होंने कहा कि यह अवसरों के अनंत आकाश है.

पीएम मोदी ने किया लॉन्च

पीएम मोदी ने अपने भाषण में 5G सर्विस की अहमियत  बारे में बताया

भारत आज हजारों करोड़ के मोबाइल फोन निर्यात करने वाले देश बन चुका है.डिजिटल इंडिया ने छोटे व्यापारियों, छोटे उद्यमी, लोकल कलाकारों और कारीगरों को मंच और बाजार दिया है. रेहड़ी-पटरी वाला छोटा दुकानदार भी अब ‘UPI’ का इस्तेमाल कर रहा है.पीएम मोदी ने कहा कि इससे देश के लोगों की सहूलियत बढ़ेगी. यही कारण है कि सरकार लगातार इंटरनेट फॉर ऑल के लक्ष्य पर काम कर रही है.देश के तीन प्रमुख दूरसंचार ऑपरेटरों ने भारत में 5G तकनीक की क्षमता दिखाने के लिए प्रधानमंत्री के सामने कई तकनीकों का प्रदर्शन किया.

पीएम मोदी ने अपने भाषण में 5G सर्विस की अहमियत  बारे में बताया

कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा भारतीयों  के डिजिटल सपनों को और प्रज्वलित करेगा

प्रदर्शनी में पीएम के सामने हाई-सिक्योरिटी राउटर, साइबर थ्रेट डिटेक्शन प्लेटफॉर्म, अंबुपॉड जैसी 5G तकनीकों का अनुभव कराया गया.मुकेश अंबानी ने इस दौरान कहा कि उन्हें बेहद गर्व है. भारतीय मोबाइल कांग्रेस को अब एशियन मोबाइल कांग्रेस और ग्लोबल मोबाइल कांग्रेस बनना चाहिए.कुमार मंगलम बिड़ला ने कहा कि टेलीकम्युनिकेशन इंडस्ट्री 1.3 अरब भारतीयों और हजारों उद्यमों के डिजिटल सपनों को और प्रज्वलित करेगा. यह देश के लिए अगले तीन सालों में एक ट्रिलियन डॉलर के योगदान के साथ 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लिए मंच तैयार करेगा.

सुनील भारती मित्तल ने कहा कि एक नए युग की शुरुआत

सुनील भारती मित्तल ने इसे एक महत्वपूर्ण दिन बताया है. उन्होंने कहा कि एक नए युग की शुरुआत होने वाली है. यह शुरुआत आजादी के 75वें वर्ष में हो रही है और देश में एक नई जागरूकता, ऊर्जा की शुरुआत करेगी.दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि दूरसंचार के इतिहास में आज का दिन सुनहरे अक्षरों में दर्ज होगा. टेलीकॉम गेटवे है, डिजिटल इंडिया की नींव है.भारत, टेक्नॉलजी का सिर्फ़ ग्राहक बनकर नहीं रहेगा बल्कि भारत उस टेक्नॉलजी के विकास में, उसके इंप्लीमेंटेशन में एक्टिव भूमिका निभाएंगे.

भविष्य की वायरलेस टेक्नॉलजी को डिजाइन करने में, उस से जुड़ी उत्पादन में भारत की बड़ी भूमिका होगी.5G के साथ भारत ने नया इतिहास रच दिया है. 5G के साथ भारत पहली बार टेलीकॉम टेक्नॉलजी में ग्लोबल स्टेंडर्ड तय कर रहा है.डिजिटल इंडिया सिर्फ एक नाम नहीं है, ये देश के विकास का बहुत बड़ा विजन है. इस विजन का लक्ष्य है उस तकनीक को आम लोगों तक पहुंचाना, जो लोगों के लिए काम करें,हमने चार स्तभों पर,

चार दिशाओं में एक साथ फोकस किया.

  • पहला डिवाइस की कीमत
  • दूसरा डिजिटल कनेक्टिविटी
  • तीसरा डेटा की कीमत
  • और चौथा ‘डिजिटल फर्स्ट

आज हम हजारों करोड़ के मोबाइल फोन निर्यात करने वाले देश बन चुके हैं.

Opportunity For Graduate + CA/CMA – INTER As Assistant Finance Officer In …