अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ – मां नर्मदा सहित पवित्र नदियों, सरोवरों, देवस्थानो की सफाई कर, करेगा दीपदान‌

मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के द्वारा 25 अक्टूबर 2022

 मां नर्मदा सहित पवित्र नदियों, सरोवरों, देवस्थानो की सफाई कर, करेगा दीपदान‌

मां नर्मदा को कलयुग की अधिष्ठात्री देवी मानकर कार्य कर रहे संगठन अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के द्वारा 25 अक्टूबर 2022 दिन मंगलवार को सूर्य ग्रहण काल में सायं ४ बजे ७ बजे तक मां नर्मदा उदगम स्थल अमरकंटक मध्यप्रदेश से उद्गम से लेकर रत्नाकर सागर गुजरात तक एवं सम्पूर्ण भारत में सभी पवित्र नदियों, सरोवरों, मंदिरों, तीर्थ स्थलों गौशालाओं में सफाईकश कर दीपदान करेंगे

अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के अपील पर कारसेवक, पदाधिकारी एवं स्वयंसेवक, जनमानस मां नर्मदा के सभी घाटों के साथ ही अन्य पवित्र नदियों, सरोवरों, देवस्थानो, गौशालाओं आदि में साफ- सफाई कर दीपदान करेंगे दिवाली पूजन करेंगे, अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के पदाधिकारी एवं सभी सेवाभावी कार्यकर्ता जहां पर मां नर्मदा का प्रवाह नहीं है वहां भी साफ – सफाई कर दीपोत्सव मनायेंगे,अन्य राज्यों में सभी गंगा जमुना सरस्वती त्रिवेणी ब्रह्मपुत्र आदि सभी नदियों के किनारे घाटों पर सरोवरौ पर,    कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा अब कर्नाटक के दौरे पर,सोनिया गांधी भी चलीं पैदल    

कन्याकुमारी तक पूरे भारत में वृक्षारोपण कराने का कार्य किया

 मां नर्मदा सहित पवित्र नदियों, सरोवरों, देवस्थानो की सफाई कर, करेगा दीपदान‌

अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के द्वारा दीपो महोत्सव मनाने की पूरी तैयारी में है जिस तरह २८ जुलाई २०२२ को हुए अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के वृहद मां नर्मदा परिवार ने हरियाली अमावस को उद्गम से लेकर संगम तक जम्मू कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक पूरे भारत में वृक्षारोपण कराने का कार्य किया था उसी श्रंखला को आगे बढ़ाते हुए 25 अक्टूबर को सभी मंदिरों में सभी सरौवरों पर और भारत की जितनी भी नदियां हैं उन सभी के किनारे दीपोउत्सव मनाने का कार्य करेंग    Govt jobs in Delhi 2022 | delhi.gov.in – 25 October 2022

अखिल भारतीय नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ ने सभी सेवाभावी जनों से अपील किया है कि इस पवित्र उद्देश्य में शामिल होकर धर्महित के साथ पर्यावरण हित में सहभागी बनें

मां नर्मदा सहित पवित्र नदियों, सरोवरों, देवस्थानो की सफाई कर, करेगा दीपदान‌