भारत-नेपाल दोस्ती-दिल से दिल तक’’नेपाली गायक आनंद कार्की ने अपने गीतों से मंत्रमुग्ध कर दिया

नेपाल भारत की दोस्ती आज की नहीं सदियों की

भारत-नेपाल दोस्ती-दिल से दिल तक’’नेपाली गायक आनंद कार्की ने अपने गीतों से  मंत्रमुग्ध कर दिया

नई दिल्ली, 9 सितंबर 2022ः डॉ. विजय जौली, अध्यक्ष दिल्ली स्ट्डी ग्रुप (गैर सरकारी संस्था) के नेतृत्व में India नेपाल दोस्ती बढ़ाने हेतु आज दिल्ली स्थित कंस्टीट्यूशन क्लब आंफ इण्डियॉ में सार्वजनिक कार्यक्रम आयोजित किया गया।

खचा-खच भरे सभागार में प्रसिद्ध नेपाली गायक आनंद कार्की ने नेपाली सामाजिक नेता कृष्णा अधिकारी द्वारा रचित ‘‘नेपाल India की दोस्ती आज की नहीं सदियों की’’ पर बने गाने को गाकर सबको मंत्रमुग्ध कर दिया। ज्ञात रहे कृष्णा अधिकारी पिछले 15 वर्षो से भारत में रह कर सामाजिक क्षेत्र में सक्रिय हैं।                घर में कैद ,परिवार इंटरव्यू में पहचान जाहिर होते ही मना कर देते हैं

विदेश राज्य मंत्री,India सरकार डॉ. राजकुमार रंजन सिंह मुख्य अतिथि रहे। India में नेपाली राजदूत डॉ. शंकर प्रसाद शर्मा व राज्यसभा सांसद भुवनेश्वर कालिता विशिष्ट अतिथि रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. विजय जौली, दिल्ली स्टडी ग्रुप अध्यक्ष व पूर्व दिल्ली विधायक ने की।

अध्यक्षीय भाषण में डॉ. जौली ने बताया कि इस वर्ष India व नेपाल के बीच राजनयिक संबंधों के 75 वर्ष पूरे हुए है। Indiaकी प्रथम पड़ोस नीति’’ के अंतर्गत, वर्ष 2014 के उपरांत प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की 5 नेपाल यात्राओं ने दोनों देशों के संबंध मजबूत किये हैं। आज दोनों देशों के बीच यात्रा के लिए वीजा अनिवार्य नहीं है।

नेपाली ‘‘गोरखा रेजिमेंट’’भारत की सुरक्षा के लिए कटिबद्ध

भारत-नेपाल दोस्ती-दिल से दिल तक’’नेपाली गायक आनंद कार्की ने अपने गीतों से  मंत्रमुग्ध कर दिया

32,000 नेपाली ‘‘गोरखा रेजिमेंट’’ भारतीय सेना में भारत की सुरक्षा के लिए कटिबद्ध है। भारत में रह रहे 1 करोड़ से अधिक नेपाली, Indiaके विकास में भागीदार हैं। रोटी-बेटी के संबंधों के कारण India नेपाल दोस्ती को डॉ. जौली ने अटूट बताया।

कार्यक्रम में अन्य गणमान्य अतिथियों में रोमानिया मानद महावाणिज्य दूत विजय मेहता, अर्जेन्टीना राजदूत हूगो जेवियर गोब्बी, चीन, वियतनाम, कोरिया, श्रीलंका के राजनयिक व तिब्बत के धार्मिक लामा सहित गुजरात पूर्व मंत्री निर्मला वाधवानी व दिल्ली स्ट्डी ग्रुप के प्रमुख पदाधिकारी योगेश टंडन, डॉ. अशोक शर्मा, सतींद्रा कुमारी, शुभम गुप्ता, हीरा मजोका, विजेंदर यादव, बृजपाल उपाध्याय, डोली जीनवाल, गोकुलेश भारद्ववाज तथा गोपाल झॉ इत्यादि उपस्थित रहे। इस अवसर पर प्रवासी नेपाली जनकल्याण समिति के बाल कलाकार कृष्णा थापा, अरूसी, दक्षा ठाकुर व मीना अधिकारी ने नेपाली नृत्य किया।

नेपाल ने काठमांडू में भारतीय दूतावास के प्रवक्ता का बयान आने के एक दिन बाद रविवार को इस बारे में जवाब दिया है.India ने इससे पहले शनिवार को फिर ज़ोर दिया था कि अभी सीमा पर जारी निर्माण India के इलाक़े में आता है.भारतीय दूतावास के प्रवक्ता ने शनिवार को भारत-नेपाल सीमा को लेकर हाल में आई रिपोर्टों के जवाब में कहा था कि सीमा को लेकर भारत का पक्ष सर्वविदित, अडिग और स्पष्ट है और इसे नेपाल सरकार को बता दिया गया है.

नेपाल और भारत के बीच निकट और मित्रतापूर्ण संबंध

भारत-नेपाल दोस्ती-दिल से दिल तक’’नेपाली गायक आनंद कार्की ने अपने गीतों से  मंत्रमुग्ध कर दिया

नेपाल सरकार के संचार मंत्री ने नेपाली कैबिनेट के फ़ैसले की जानकारी दी जिसमें कहा गया कि नेपाल सीमा विवाद के निपटारे के लिए कूटनीतिक प्रयास करेगा.नेपाल और Indiaके बीच किसी भी तरह के विवाद का निपटारा ऐतिहासिक संधियों, दस्तावेज़ों, नक्शों और तथ्यों के आधार पर नेपाल और India के बीच के निकट और मित्रतापूर्ण संबंधों की भावना के अनुरूप करने को लेकर संकल्पबद्ध हैनेपाल दावा करता रहा है कि महाकाली नदी के पूर्वी हिस्से में लिम्पियाधुरा, कालापानी और लिपुलेख सहित सभी क्षेत्र 1816 की सुगौली संधि के आधार पर नेपाल के क्षेत्र का हिस्सा हैं.

नेपाल-Indiaसीमा विवाद पर दिल्ली द्वारा ठोस चर्चा करने में देरी करने का ज़िक़्र करते हुए नेपाली विशेषज्ञों ने कहा है कि नेपाली प्रधानमंत्री की भारत यात्रा के दौरान कालापानी विवाद को द्विपक्षीय चर्चा का विषय बनाया जाना चाहिए.कुछ नेपाली राजनयिक याद करते हैं कि 1960 के दशक की शुरुआत में भारत-चीन युद्ध के बाद, नेपाल ने उत्तरी सीमा पर भारतीय चौकियों को हटाने के संबंध में कालापानी से सैनिकों को हटाने का मुद्दा भी उठाया था.

नेपाली को दिए एक साक्षात्कर में ईश्वर पोखरेल ने कहा कि भारतीय आर्मी प्रमुख ने अपने बयान में नेपाल के सामाजिक रूपरेखा और आज़ादी को नज़रअंदाज़ किया है. नेपाली गोरखाओं का अपमान किया है जो भारत को रक्षा में अपनी जान दांव पर लगा देते हैं. उनके लिए अब गोरखा सुरक्षाबलों से सामने आना मुश्किल होना चाहिए.      NCERT Recruitment 2022 Walkin for SRA, JPF and Various 7 Posts