सूर्य को अर्घ्य देने से सारे दुखों का नास करती है छठ मैया

आखिरी दिन महिलाओं ने उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया

छठ मैया सूर्य को अर्घ्य देने से डॉक्टर विजय जौली

सूर्य देशभर में छठ के महापर्व का आज समापन हो गया. तीन दिन के इस त्योहार के आखिरी दिन महिलाओं ने उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया. सूर्य को अर्घ्य देने के साथ के साथ ही इस महापर्व का समापन हो गया.छठ पूजा सूर्य, प्रकृति,जल, वायु और उनकी बहन छठी म‌इया को समर्पित है ताकि उन्हें पृथ्वी पर जीवन की देवतायों को बहाल करने के लिए धन्यवाद, छठी मैया, जिसे मिथिला में रनबे माय भी कहा जाता है, भोजपुरी में सबिता माई और बंगाली में रनबे ठाकुर बुलाया जाता है।

  जिहादी व्यक्ति द्वारा 8 वर्षीय दलित बालिका गुड़िया वाल्मीकि की नृशंस हत्या 

छठ पूजा में सूर्य भगवान और माता छठी की पूजा की जाती है. छठ पर्व में महिलाएं 36 घंटे का व्रत रखती हैं. इस पर्व को सूर्य षष्ठी के नाम से भी जाना जाता है. छठ का पर्व साल में दो बार आता है. छठ की शुरुआत 28 अक्टूबर को नहाय खाय के साथ हुई थी. छठ का ये पर्व संतान की सुख समृद्धि, अच्छे सौभाग्य और सुखी जीवन के लिए रखा जाता है. साथ ही यह व्रत पति की लंबी उम्र की कामना के लिए भी रखा जाता है.

छठ पूजा पर्वका धार्मिक महत्व

छठ मैया सूर्य को अर्घ्य देने से डॉक्टर विजय जौली

ऐसी मान्यता है कि सूर्य देव की पूजा करने से तेज, आरोग्यता और आत्मविशवास की प्राप्ति होती है. दरअसल, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, सूर्य ग्रह को पिता, पूर्वज, सम्मान का कारक माना जाता है. साथ ही छठी माता की अराधना से संतान और सुखी जीवन की प्राप्ति होती है. इस पर्व की सबसे बड़ी विशेषता है कि यह पर्व पवित्रता का प्रतीक है.

कार्यक्रम का आयोजन मिथिलांचल पूर्वांचल छठ पूजा एवं धार्मिक जन कल्याण समिति छठ घाट परिसर के सेकंड पहाड़ी स्कूल संगम विहार में किया गया। इस दौरान भाजपा नेता विजय जौली ने स्थल मंदिर संगम विहार में भगवान श्री देव का अर्थ देते हुए प्रार्थना किया और कहा आज से ही समस्त प्राणियों का कल्याण है सुर भगवान ही कल्याण करते हैं।

NCERT Jobs 2022 | 292 प्रोफेसर, लाइब्रेरियन पदों पर आवेदन करें

कार्यक्रम में विशेष अतिथियों के तौर पर सुरेश चौधरी निगम पार्षद नीरज यादव नेता आम आदमी पार्टी गोविंद कौशिक समाजसेवी दिलीप चौहान भारतीय जनता पार्टी एवं समाज सेवक प्रताप श्रीवास्तव प्रधान के सेकंड रजनीश वर्मा सोशल मीडिया प्रमुख दक्षिण दिल्ली भाजपा ने शिरकत किया इस दौरान कार्यक्रम में समिति के प्रधान बृजनंदन शर्मा उपप्रधान राम नाथ झा सचिव जगदीश राज शर्मा संयोजक संजय वर्मा संरक्षक कल्पना झा निगम पार्षद भी उपस्थित रहे।

छठ पूजा पर्व में भगवान सूर्य की विशेष पूजा की जाती है

छठ मैया सूर्य को अर्घ्य देने से डॉक्टर विजय जौली

30 अक्टूबर 2022 के दिन देशभर के कई हिस्सों में छठ पूजा को बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। छठ पूजा पर्व में भगवान सूर्य की विशेष पूजा की जाती है और कार्तिक शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि को उन्हें विशेष संध्या अर्घ्य दिया जाता है। इस दिन संध्या अर्घ्य के बाद सूर्य देव को विशेष भोग चढ़ाया जाता है और परिवार के कल्याण की प्रार्थना की जाती है।गवान सूर्य को भोग अर्पित करने की सामग्री में फल का होना जरूरी है। वहीं ज्योतिष शास्त्र में राशि के अनुसार भोग अर्पित करने का भी उपाय बताया गया है।

मान्यता है कि ऐसा करने से भक्तों को विशेष लाभ मिलता है और उनकी सभी मनोकामना पूर्ण हो जाती है