ISIS का आतंकी गिरफ्तार, 15 अगस्त को दहलाने की साजिश विफल

ISIS आतंकी गिरफ्तार

यूपी एटीएस टीम को मंगलवार को बड़ी कामयाबी मिली है। 15 अगस्त को धमाका करने की साजिश को विफल करते हुए आईएसआईएस के एक आतंकी को आजमगढ़ से गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार आतंकी सबाऊद्दीन आजमी के पास से आईईडी बनाने का सामान, अवैध असलहा और कारतूस बरामद हुआ है। बताया जा रहा है कि वह आईएसआईएस के रिक्रूटर से सीधे संपर्क में था।

ISIS

यूपी एटीएस को सूचना मिली थी कि आजमगढ़ में अमिलो मुबारकपुर में एक व्यक्ति अपने साथियों के माध्यम से आईएसआईएस की विचारधारा से प्रभावित होकर वॉट्सएप एवं विभिन्न सोशल मीडिया एप्लीकेशन के माध्यम से जिहादी विचारधारा का प्रचार-प्रसार कर रहा है। अन्य लोगों को भी आईएसआईएस से जुड़ने के लिए प्रेरित कर जा रहा है।

READ THIS:- 5G हाई-स्पीड इंटरनेट के लिए हो जाइए तैयार, एक महीने में शुरू होगी सर्विस

गिरफ्तारी के बाद उसे पूछ-ताछ के लिए एटीएस मुख्यालय लाया गया है। वहां पूछताछ और मोबाइल डेटा खंगाले जाने पर इसके द्वारा ISIS द्वारा आतंक एवं जेहाद के लिए मुस्लिम युवकों का ब्रेनवॉश करने के लिए बनाए गए टेलीग्राम चैनल AL-SAQR MEDIA से जुड़े होने के प्रमाण मिले हैं। इस समय वह AIMIM का सदस्य भी है।

मूसा उर्फ खत्ताब ISIS का सदस्य

एटीएस के अनुसार बिलाल नाम के व्यक्ति से फेसबुक पर जुड़ने के बाद, बिलाल सबाउद्दीन से जिहाद और कश्मीर में मुजाहिदों पर हो रही कार्रवाई के बारे में बात किया करता था। बातों-बातों में ही बिलाल ने मूसा उर्फ खत्ताब कश्मीरी का नंबर दिया, जो ISIS का सदस्य है। उससे आतंकी की बात होने लगी। कश्मीर में मुजाहिदों पर हो रहे जुल्मों का बदला लेने की योजना के संबंध में मूसा ने ISIS के अबू बकर अल शामी का नंबर दिया जो वर्तमान में सीरिया में है।

ISIS

अबू बकर अल शामी के संपर्क में आने के बाद सबाउद्दीन ने मुजाहिदों पर हो रही कार्रवाई का बदला लेने के लिए ISIS की तरह भारत में भी एक इस्लामिक संगठन बनाने और IED बनाने के संबंध में जानकारी की। शामी ने सबाउद्दीन को IED बनाने की विधि व आवश्यक सामग्री बताई और सबाउद्दीन का संपर्क ISIS रिक्रूटर अबू उमर, जो मुर्तानिया का रहने वाला है से कराया।

ISIS के टारगेट पर थे RSS के लोग

ISIS

अबू उमर द्वारा सोशल मीडिया ऐप के माध्यम से हैंड ग्रेनेड, बम और आईईडी बनाने की ट्रेनिंग दी जाने लगी। इसके साथ ही मुजाहिदीन संगठन तैयार कर भारत में इस्लामिक स्टेट स्थापित करने और भारत में इस्लामी हुकूमत एवं शरिया कानून लागू कराने की योजना पर काम होने लगा। सबाउद्दीन आरएसएस के सदस्यों को टारगेट करने के लिए आरएसएस के नाम से मेल आईडी बनाई और उससे फेसबुक अकाउंट बनाकर उन्हें टारगेट करने की योजना पर काम कर रहा था।

JOBS:- Join Indian Army Agniveers Rally Recruitment 2022 – Apply Online