राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पंजाब में शुरू हो गई है

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पंजाब में शुरू हो गई है

राहुल

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पंजाब में शुरू हो गई है। यात्रा शुरू करने से पहले राहुल गांधी ने सबसे पहले छोटे साहिबजादों की याद में बने फतेहगढ़ साहिब स्थित गुरुद्वारे में माथा टेका। इसके बाद वह रोजा शरीफ में माथा टेकने गए। आज उन्होंने लाल रंग की पगड़ी पहनी है, जिसे पहनकर वह यात्रा में भी चल रहे हैं। कल केसरी रंग की दस्तार सजाई थी। यात्रा की शुरूआत के संबोधन में राहुल गांधी ने कहा कि देश में नफरत फैलाई जा रही है। RSS-BJP के लोग एक धर्म को दूसरे, एक भाषा को दूसरे से लड़ाने में लगे हैं। उन्होंने देश का माहौल बिगाड़ दिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 27 जनवरी को छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के संग परीक्षा पे चर्चा करेंगे

भारत जोड़ो यात्रा 3 हजार किमी चल चुकी है, कश्मीर में यह यात्रा खत्म होगी

हमें देश को दूसरा रास्ता मोहब्बत, एकता व भाईचारे का रास्ता दिखाना चाहिए। भारत जोड़ो यात्रा 3 हजार किमी चल चुकी है। कश्मीर में यह यात्रा खत्म होगी। मगर यह कोई बड़ी बात नहीं। पंजाब का हर एक किसान हमसे ज्यादा चलता है। वह कन्या कुमारी से नहीं चलता, लेकिन वह अपने खेत में व मंडी तक जाता है। इस यात्रा के दौरान किसानों, मजदूरों, बेरोजगारों, बच्चों- बूढ़ों से बात हुई। काफी कुछ सीखने को मिला। यह बोलने की यात्रा है, रोज 25KM चलते हैं। लोगों को सुनते हैं और अंत में सिर्फ 10-15 मिनट बोलते हैं। देश के नफरत, अहिंसा, बेरोजगारी यह मुद्दे हैं जिन्हें उठाना है।

देश के नफरत, अहिंसा, बेरोजगारी यह मुद्दे हैं जिन्हें उठाना है

chaaru 6

राहुल गांधी ने मीडिया को कोसते हुए कहा कि वे उनकी बात नहीं रख रहे। हमेशा प्रधानमंत्री का चेहरा दिखाते हैं। बेरोजगारी व महंगाई की बात नहीं उठाते। यह यात्रा जैसे-जैसे आगे गई, मीडिया ने अगला पड़ाव कठिन बताया। लेकिन हर जगह बेहतर रिस्पॉन्स मिला। बीजेपी के लोग जो डर नफरत फैला रहे हैं, वे देश की हिस्ट्री नहीं है। यह देश प्यार व भाईचारे का देश है। यही कारण है कि यात्रा सफल हो रही है।अभी यात्रा सरहिंद से चल रही है। थोड़ी देर में इसका मॉर्निंग ब्रेक होगा।

भारत जोड़ो यात्रा पंजाब में दो घंटे की देरी से 8 बजे शुरू हुई

सरहिंद की दाना मंडी में फ्लैग एक्सचेंज सेरेमनी में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भुपिंदर हुड्‌डा ने पंजाब कांग्रेस के प्रधान अमरिंदर सिंह राजा वडिंग को यात्रा का फ्लैग सौंपा। कन्याकुमारी से शुरू हुई राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा पंजाब में दो घंटे की देरी से 8 बजे शुरू हुई।हरियाणा में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा खत्म हो गई है। दो चरण में हुई यात्रा के दौरान राहुल गांधी 255 किलोमीटर चले। इनमें उन्होंने 7 जिले कवर किए। पहले चरण में नूंह, फरीदाबाद और गुरुग्राम को कवर किया। दूसरे चरण में यात्रा पानीपत, करनाल, कुरुक्षेत्र और अंबाला गई।

फिल्म अभिनेता और कांग्रेस लीडर राज बब्बर भी साथ दिखे

chaaru 7

राहुल गांधी कुल 8 दिन हरियाणा में रहे। अब यात्रा पंजाब में प्रवेश कर रही है।यात्रा अंतिम दिन अंबाला में रही। जहां फिल्म अभिनेता और कांग्रेस लीडर राज बब्बर भी साथ दिखे। राहुल गांधी को शाम को पंजाब-हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर पैदल जाना था। हालांकि अचानक कार्यक्रम में बदलाव करते हुए राहुल गांधी अमृतसर स्थित गोल्डन टेंपल में माथा टेकने पहुंच गए।जिसके बाद अब यात्रा व फ्लैग एक्सचेंज सेरेमनी मंगलवार सुबह होगी। वह पहले फतेहगढ़ साहिब में माथा टेकेंगे।

राहुल गांधी पहली बार अंबाला पहुंचे

उसके बाद सरहिंद में फ्लैग एक्सचेंज होगा।इससे पहले भिवानी के तोशाम से MLA किरण चौधरी को भी गड्‌ढों में चोट लग चुकी है। हरियाणा में हमें ठंड ही नहीं बल्कि सभी 7 जिलों में खराब सड़कों का भी सामना करना पड़ा। खास बात यह है कि राहुल गांधी पहली बार अंबाला पहुंचे। हालांकि, गांधी परिवार के तत्कालीन प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी वर्ष 1978, तत्कालीन प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी वर्ष 1984 व 1991 में अंबाला लोकसभा और विधानसभा चुनाव में प्रचार कर चुके हैं।

नफरत के इस बाजार में मुहब्बत की दुकान खोलने आया हूं

chaaru 8

यही नहीं, वर्ष 2004 में सोनिया गांधी भी अंबाला कैंट के गांधी ग्राउंड में चुनाव प्रचार करने पहुंची थी।’नफरत के इस बाजार में मुहब्बत की दुकान खोलने आया हूं’ भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी का कहा गया यह डायलॉग इन दिनों हर जगह वाहवाही बटोर रहा है। इससे प्रभावित होकर पानीपत के एक हैंडलूम दुकानदार ने अपनी दुकान के बाहर राहुल गांधी की फोटो के साथ मोहब्बत की दुकान का बोर्ड लगवाया है। जिसके बाद दुकानदार भी पानीपत में ही नहीं, ब्लकि दूसरों जिलों और राज्यों में भी खूब सुर्खियां बटोर रहा है।

मोदी मन की बात करते हैं , क्या कभी किसी ने लोगों के मन की बात सुनी है

chaaru 9

उन्होंने कहा कि दुकान के बाहर लगे इस बोर्ड को पर आने-जाने वाले शख्स की नजर पड़ ही जाती है। जिसे देखने के बाद वह शख्स मुस्कुराता जरूर है। इसके बाद वह शख्स मेरी तरफ भी देखकर मुस्कुराता है।बस इसी मुस्कुराहट का नाम मोहब्बत की दुकान है।इन तीन शब्दों के मायने बहुत ज्यादा है। बोर्ड देखने के बाद जो मुस्कुराहट शख्स के चेहरे पर आती है, शायद वह दिनभर वाली भाग-दौड़ में न ला पाता हो।मोदी मन की बात करते हैं। क्या कभी किसी ने लोगों के मन की बात सुनी है। लोग कितने परेशान हैं।

किस तरह लोगों को टॉर्चर किया जा रहा है, जबकि राहुल गांधी सड़क पर खड़े होकर लोगों की बात सुनी है। उनसे कोई भी मिलने गया, उन्हें टाइम दिया। उनकी समस्या सुनी। उन्हें गले लगाते हैं। इसी में ही लोगों को अपनेपन का अहसास होता है। ऐसा सत्ता पक्ष में कोई भी नहीं करता है।

अन्नू कपूर का खास कॉलम ‘कुछ दिल ने कहा’:जब फ़िल्मी गोलमाल में उलझ गया था एक निर्माता