हिमाचल विधानसभा का कार्यकाल 8 जनवरी को खत्म हो रहा

हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की कुल 68 सीटें

हिमाचल विधानसभा का कार्यकाल 8 जनवरी को खत्म हो रहा

हिमाचल विधानसभा का कार्यकाल 8 जनवरी को खत्म हो रहा है। हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की कुल 68 सीटें हैं। इनमें 20 सीटें आरक्षित हैं। 17 सीटें अनुसूचित जाति (SC) के लिए और 3 सीटें अनुसूचित जनजाति (ST)
के लिए रिजर्व हैं। 2017 में भाजपा ने पूर्ण बहुमत से जीत दर्ज कर सरकार बनाई थी।सुहागन करवा चौथ पर 47 साल बाद गुरु का शुभ संयोग शाम 7 से रात 9 बजे तक रहेगा

चुनाव में भाजपा 44, तो कांग्रेस को 21 सीटों पर जीत मिली थी। एक सीट पर CPI(M) और दो सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते थे।हिमाचल में दोबारा सरकार बनाने के लिए भाजपा की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मोर्चा संभाल लिया है। प्रधानमंत्री पिछले 17 दिनों में अब तक 4 रैलियां कर चुके हैं। इधर, मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं। पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को शिमला के सोलन में रैली भी की। आगे भी वे रैलियां करेंगी।

हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनावों का ऐलान कर दिया है. आयोग ने दोपहर तीन बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर जानकारी दी. चुनाव आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि हम विधानसभा के स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए प्रतिबद्ध है.

नए मतदाता, महिलाओं, बुजुर्गों, दिव्यांग जनों को भागेदारी महत्वपूर्ण है. कोशिश रहेगी कि ज्यादा से ज्यादा लोग मतदान में हिस्सा लें. हिमाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल आठ जनवरी को खत्म होने वाला है. अभी हाल ही में EC ने गुजरात और हिमाचल का दौरा किया था

कांग्रेस ने कहा दिन में पुरानी पेंशन योजना लागू होगी मतलब

हिमाचल विधानसभा का कार्यकाल 8 जनवरी को खत्म हो रहा

हिमाचल में अगर कांग्रेस ने कहा है कि 10 दिन में पुरानी पेंशन योजना लागू होगी मतलब होगी. भाजपा आपके जेब से पैसा निकालने का काम करती है जबकि कांग्रेस महिलाओं, गरीबों, किसानों की जेब में पैसा डालने का काम करती है.हिमाचल विधानसभा चुनाव की तारीखों का आज ऐलान किया जा सकता है.

हिमाचल के चुनावों की घोषणा होने से पहले आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता गोपाल राय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा, ‘आम आदमी पार्टी तैयार है, पूरी ताक़त से लड़ेंगे, यह केवल चुनाव की नहीं, एक बड़े परिवर्तन के लिए घोषणा है.’ वहीं, उन्होंने दिल्ली में ED के छापे पर कहा कि गुजरात में ज्यों ज्यों AAP का परसेंटेज बढ़ रहा है, ये सोचते हैं एक छापा और मार दें. वे सोचते हैं कि दमन से इसे रोक देंगे.

हिमाचल प्रदेश विधानसभा में इस बार आम आदमी पार्टी के आने से मामला त्रिकोणीय हो गया है. कसौली विधानसभा सीट पर कांग्रेस और भाजपा दोनों की मजबूत पकड़ मानी जाती है, लेकिन पिछले तीन चुनावों से यहां भाजपा विधायक को जीत मिल रही है. वर्तमान में डॉ. राजीव सैजल यहां से विधायक हैं.

NOTIFICATIONS for Engagement of Act Apprentices o­n Railway under Apprentices Act, 1961 for the year – 2022-2023

कांग्रेस की परिवर्तन प्रतिज्ञा रैली में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि हिमाचल में अगर कांग्रेस ने कहा है कि 10 दिन में पुरानी पेंशन योजना लागू होगी मतलब होगी. भाजपा आपके जेब से पैसा निकालने का काम करती है जबकि कांग्रेस महिलाओं, गरीबों, किसानों की जेब में पैसा डालने का काम करती है.