जनवरी 26 तारिक तक राजस्थान के कुछ हिस्सों में बारिश होने की संभावना

26 जनवरी तक उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों में तेज बर्फबारी

26 जनवरी तक उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों में तेज बर्फबारी

प्रदेश के पूर्वी हिस्सों में मावठ हो सकती है। इसका असर 26 जनवरी तक रह सकता है। मौसम केन्द्र जयपुर ने 26 जनवरी तक राजस्थान के कुछ हिस्सों में बादल छाने और हल्की बारिश होने की संभावना जताई है। मावठ के साथ इन शहरों में सर्द हवा भी चलने की संभावना है।

राजस्थान के सभी शहरों में मौसम साफ है। हालांकि सर्द हवा चलने से तापमान में गिरावट हुई। सर्दी के तेवर फिर तेज हो गए हैं। गंगानगर, पिलानी, जैसलमेर, हनुमानगढ़, सिरोही में कल दिन का अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे रहा। वहीं, आज अजमेर, फतेहपुर, पिलानी, पाली, टोंक में भी न्यूनतम तापमान 2 से 4 डिग्री सेल्सियस तक गिर गए।

आसमान में बादल छा सकते है। कहीं-कहीं सर्द हवा भी चल सकती है। साथ ही हल्की बारिश हो सकती है। 24 जनवरी को अलवर, झुंझुनूं, गंगानगर, हनुमानगढ़ एरिया में भी हल्के बादल छाने के साथ कहीं-कहीं हल्की बारिश हो सकती है।नई दिल्ली से जारी फोरकास्ट के मुताबिक 23 से 26 जनवरी तक उत्तर भारत के पहाड़ी राज्यों में तेज बर्फबारी होगी।

इसके बाद एक नया फ्रेश वेर्स्टन डिर्स्टबेंस 27 जनवरी से फिर एक्टिव होगा। इसके असर से उत्तर भारत में बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है। इस सिस्टम के निकलने के बाद एक बार फिर नॉर्दन हवा मैदानों की तरफ आएगी। इससे 31 जनवरी तक राज्य में सर्दी का असर बना रहेगा।

बारिश होने के बाद चलने वाली सर्द हवा से तापमान में गिरावट

बारिश होने के बाद चलने वाली सर्द हवा से तापमान में गिरावट

24 जनवरी तक आसमान में हल्के बादल छा सकते है। इससे दिन का अधिकतम तापमान कम रहेगा और दिन में ठंडक रहेगी। 25-26 जनवरी को कहीं-कहीं हल्की बारिश या बूंदाबंदी होने की संभावना है। 26 जनवरी तक हल्की बारिश का असर सीकर जिले में भी देखने को मिलेगा।कवि सम्मेलन में रचनाकारो ने कविता व ग़ज़लों से किया मंत्रमुग्ध

सीकर में भी बारिश होगी। मावठ की बारिश होने के बाद चलने वाली सर्द हवा से तापमान में भी गिरावट दर्ज की जाएगी। ऐसे में 31 जनवरी तक तेज सर्दी का असर बना रहेगा।कुछ जगहों पर बादल छा सकते हैं। दिन में कम धूप निकलने से तापमान गिर सकता है। कोटा 24 जनवरी को भी मौसम सामान्य रहेगा और कम धूप निकलने से दिन में सर्दी का असर थोड़ा ज्यादा रहेगा।

24 और 25 जनवरी को बारिश होने के साथ आसमान में बादल छा सकते है। अलवर में बारिश के साथ तेज सर्द हवा भी चलेगी। बारिश और बादलों के कारण यहां 26 जनवरी तक तापमान 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है।

आगामी 26 जनवरी तक दिखने को मिलेगा. उत्तर भारत में अगले एक हफ्ते तक शीतलहर से राहत तो मिलेगी लेकिन ठंडी हवा की वजह से ठंड रहेगी.IMD का कहना है कि पश्चिमी हिमालय पर एक और ताजा पश्चिमी विक्षोभ बारिश और बर्फबारी का कारण बन सकता है.

तापमान के साथ प्रदेश का सबसे ठंडा स्थान रहा

तापमान के साथ प्रदेश का सबसे ठंडा स्थान रहा

राजधानी में रविवार सुबह न्यूनतम तापमान 8.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सामान्य से एक डिग्री अधिक है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने यह जानकारी दी. आईएमडी के मुताबिक, दिल्ली में रविवार सुबह साढ़े आठ बजे सापेक्षिक आर्द्रता 97 फीसदी रही. विभाग ने शहर में मध्यम स्तर के कोहरे का अनुमान जताया है,WCD Delhi Recruitment 2023 | महिला एवं बाल विकास विभाग दिल्ली भर्ती

जबकि अधिकतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है.अधिकांश इलाकों में शनिवार रात को न्यूनतम तापमान में मामूली बढ़ोतरी दर्ज की गई. मौसम विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि सिरोही 2.8 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान के साथ प्रदेश का सबसे ठंडा स्थान रहा वहीं करौली में रात का तापमान 5.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

चूरू में न्यूनतम तापमान 5.5 डिग्री सेल्सियस और जैसलमेर में 6.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. उन्होंने बताया कि आगामी दिनों में एक नए पश्चिमी विक्षोभ और पूर्वी हवाओं के आपसी इंटरेक्शन के कारण पूर्वी राजस्थान में 23 से 27 जनवरी के दौरान मौसम परिवर्तन होने, बादल छाए रहने और कोटा, जयपुर, भरतपुर संभाग के जिलों में कहीं-कहीं बारिश की संभावना है.