ग़ाज़ियाबाद नगर निगम के अवर अभियंता व ठेकेदारों ने सयुंक्त रूप से रखी भ्र्ष्टाचार की बुनियाद

 करोड़ों का काम हजारों में निबटाकर लाखों कमाने की फ़िराक़ में

ग़ाज़ियाबाद
रात्रि के अँधेरे में घटिया सामग्री, व मानक स्तर पर चल रहे घटिया नाला निर्माण को छुपाते हुए

ग़ाज़ियाबाद। नगर निगम। ग़ाज़ियाबाद नगर निगम ने दीनदयाल पूरी 30 फिटा रोड़ नन्दग्राम में नाला के निर्माण हेतु, निविदा आमंत्रण के तहत जिस किसी कंस्ट्रक्शन कम्पनी को ठेका दिया उस कम्पनी के ठेकेदार न केवल क्षेत्रीय जनता के विश्वास के साथ बल्कि, समूची नगर निगम को क्षेत्रीय अवर अभियंता व सुपरवाइजर के साथ मिलकर विश्वासघात की कील ठोकने का बीणा उठा लिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीराबा शुक्रवार सुबह 9:26 बजे पंचतत्व में विलीन हो गईं

दीनदयाल पूरी नन्दग्राम ग़ाज़ियाबाद में नाला निर्माण में घटिया सामग्री का उपयोग

ग़ाज़ियाबाद
रात्रि के अँधेरे में घटिया सामग्री, व मानक स्तर पर चल रहे घटिया नाला निर्माण को छुपाते हुए

समाधान वाणी के विशेष संवाददाता से प्राप्त जानकारी एव प्राप्त साक्ष्यों से ज्ञात है कि, ग़ाज़ियाबाद नगर निगम के क्षेत्रीय अवर अभियंता, सुपरवाइजर व वार्ड पार्षद तथा अधिकृत ठेकेदार ने मिलकर सयुंक्त रूप से संगठित होकर रात्रि के अँधेरे में 10 डिग्री सेल्सियस तापमान को दरकिनार कर, न केवल मजदूरों की जिन्दगी से खिलवाड़ किया है बल्कि, नाला निर्माणमें उपयोग होने वाली घटिया सामग्री, व मानक स्तर पर चल रहे घटिया नाला निर्माण कर को छुपाते हुए, भ्र्ष्टाचार का अनूठा उदाहरण प्रस्तुत करने का सफल प्रयास किया है।

नाला निर्माण की उच्च स्तरीय जाँच व पुनः निर्माण करवाने की आवश्यकता है

ग़ाज़ियाबाद
रात्रि के अँधेरे में घटिया सामग्री, व मानक स्तर पर चल रहे घटिया नाला निर्माण को छुपाते हुए

प्राप्त साक्ष्यों से ज्ञात होता है कि, उक्त संयुक्त भ्र्ष्टाचार में उक्त नाला निर्माण हो रही कोताही व धांधली के लिए न केवल ग़ाज़ियाबाद नगर निगम के ठेकेदार व क्षेत्रीय अवर अभियंता बल्कि, सुपरवाइजर व वार्ड पार्षद की भी मिलीभगत प्रतीत होती है जो कदाचित, करोड़ों का काम हजारों में निबटाकर लाखों कमाने की फ़िराक़ में हैं। सूत्रों की माने तो, दीनदयाल पूरी में हुये नाला निर्माण की उच्च स्तरीय जाँच व पुनः निर्माण करवाने की आवश्यकता है किन्तु, यदि उक्त संयुक्त भ्र्ष्टाचार में उच्चाधिकारियों की भी संलिप्तता है।

रात्रि के अँधेरे में 10 डिग्री सेल्सियस तापमान में सफाई से भ्र्ष्टाचार

ग़ाज़ियाबाद
रात्रि के अँधेरे में घटिया सामग्री, व मानक स्तर पर चल रहे घटिया नाला निर्माण को छुपाते हुए

तब, फिर न्याय की परिकल्पना व पुनः निर्माण की सोंच बेईमानी है, ऐसी स्थिति में सरकार को चाहिए कि उक्त के क्रम में रात्रि के अँधेरे में 10 डिग्री सेल्सियस तापमान में सफाई से भ्र्ष्टाचार करने व करवाने वाले ठेकेदार, ग़ाज़ियाबाद नगर निगम के अवर अभियंता, सुपरवाइजर, व वार्ड पार्षद इत्यादि संलिप्त सभी पदाधिकारियों के नाम क्रमशः राष्ट्रपति पदक के लिए भेज देने चाहिये।

ग़ाज़ियाबाद
रात्रि के अँधेरे में घटिया सामग्री, व मानक स्तर पर चल रहे घटिया नाला निर्माण को छुपाते हुए

अब क्या ज्यादा उचित रहेगा संयुक्त भ्र्ष्टाचार की जाँच कर पुनः नाला निर्माण या सफाई से भ्र्ष्टाचार के लिए राष्ट्रपति पदक? समाज व सरकार में विधमान बुद्धिजीवी स्वयं तय कर लें।

डा0वी0के0सिंह
(वरिष्ठ पत्रकार)

IOCL Recruitment 2022 – Apply Online For Apprentices Jobs Vacancies