Samadhanvani

samadhanvani

चीन में कोरोना से हालात बेकाबू हो चुके हैं ,चीन में लोग कोरोना से परेशान होकर आत्महत्या कर रहे हैं

Aquarius 17

चीन में कोरोना से हालात बेकाबू हो चुके हैं

कोरोना

चीन में कोरोना से हालात बेकाबू हो चुके हैं। इस बीच चाइना कम्युनिस्ट पार्टी पर नजर रखने वाली ह्यूमन राइट्स एक्टिविस्ट जेनिफर जेंग ने सोशल मीडिया पर दिल दहलाने वाला वीडियो शेयर किया है। इसमें एक शख्स को बिल्डिंग की छत से खुदकुशी करते देखा जा सकता है। जेंग का दावा है कि चीन में लोग कोरोना से परेशान होकर आत्महत्या कर रहे हैं। चीन में तमिलनाडु के रहने वाले अब्दुल शेख की मौत हो गई है। उनकी उम्र 22 साल थी। मौत की वजह कोई बीमारी बताई जा रही है, हालांकि साफ तौर पर बीमारी का नाम नहीं लिया गया है।

भास्कर अपडेट्स:ऑस्ट्रेलिया में हवा में 2 हेलिकॉप्टर्स टकराए, 4 लोगों की मौत, 3 गंभीर रूप से घायल

चीन से आने वाले यात्रियों पर अब तक 13 देश प्रतिबंध लगा चुके हैं

Aquarius 18

अब्दुल के शव को वापस लाने के लिए परिवार ने विदेश मंत्रालय से मदद मांगी है। अब्दुल पिछले पांच साल से चीन में मेडिकल की पढ़ाई कर रहे थे। वह 11 दिसंबर को भारत आए थे, लेकिन इंटर्नशिप के लिए वापस चीन के किकिहर चले गए थे। इंडिया टुडे के मुताबिक, अब्दुल ने वहां 8 दिन का आइसोलेशन पीरियड भी पूरा किया था। बीमार पड़ने के बाद अब्दुल को ICU में भर्ती किया गया था, मगर उनकी जान नहीं बच सकी। चीन से आने वाले यात्रियों पर अब तक 13 देश प्रतिबंध लगा चुके हैं।

चीन से आने वाले लोगों पर 3 जनवरी से बैन ही लगा दिया है

Aquarius 14

इस लिस्ट में ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, मोरक्को, फ्रांस, ब्रिटेन, स्पेन, अमेरिका, जापान, इजराइल, भारत, इटली, साउथ कोरिया और पाकिस्तान शामिल हैं। ताइवान ने भी चीन से आने वालों के लिए कोविड टेस्टिंग कंपलसरी की है। ज्यादातर देशों में चीन के यात्रियों को कोरोना की नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट दिखानी होगी। मोरक्को ने तो चीन से आने वाले लोगों पर 3 जनवरी से बैन ही लगा दिया है। ये किसी भी देश के हो सकते हैं। कोरोना से बदहाल चीन में भी लोगों ने जमकर न्यू ईयर सेलिब्रेट किया।

चीन में कोरोना से लड़ाई एक नए फेज में जा चुकी है

बीजिंग और वुहान में आधी रात को लाखों लोगों की भीड़ इकट्ठा हुई। इस बीच राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने देशवासियों से कहा- चीन में कोरोना से लड़ाई एक नए फेज में जा चुकी है। हमारे सामने बड़ी चुनौतियों के साथ उम्मीद की किरण भी है। हांगकांग 8 जनवरी से चीन से लगे बॉर्डर खोल देगा। इसी के साथ यात्रियों के लिए अनिवार्य क्वारैंटाइन भी खत्म कर दिया जाएगा। एक अधिकारी ने कहा कि इस योजना के पहले चरण में कोटा निर्धारित किया जाएगा। इसके तहत ये तय किया जाएगा कि कौन लोग यात्रा कर सकते हैं।

ब्रिटेन में हर हफ्ते 300 से 500 लोगों की मौत हो रही है

Aquarius 15

इसी के बाद बॉर्डर को पूरी तरह से खोला जाएगा। द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, रॉयल कॉलेज ऑफ इमरजेंसी मेडिसिन के डॉ. एड्रीयन बोयल का कहना है कि ब्रिटेन में हर हफ्ते 300 से 500 लोगों की मौत हो रही है। यह समय पर इलाज न मिलने की वजह से हो रहा है। दरअसल, इस वक्त ब्रिटेन में कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ खतरनाक फ्लू भी फैला हुआ है। अस्पतालों में मरीजों की भरमार है। नवंबर के मुकाबले दिसंबर में हॉस्पिटलाइजेशन के लिए 12 घंटे से ज्यादा इंतजार करने वालों में 355% का इजाफा हुआ है।

11 जनवरी 2020 को चीन के वुहान में 61 साल के बुजुर्ग की मौत हुई थी

 

कोरोना के मुताबिक दुनिया में अब तक 66 करोड़ 52 लाख 9 हजार 964 मामले सामने आ चुके हैं। 11 जनवरी 2020 को चीन के वुहान में 61 साल के बुजुर्ग की मौत हुई थी। ये दुनिया में कोरोना से होने वाली पहली मौत थी। इसके बाद मौत का सिलसिला बढ़ने लगा। अब तक 66 लाख 97 हजार 922 मौतें हो चुकी हैं। चीन में कोरोना प्रतिबंधों में ढील के बाद वहां संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। जीरो-कोविड पॉलिसी खत्म होने के बाद केसेस में भारी इजाफा हो रहा है। हालात इतने गंभीर हैं कि अस्पतालों के सभी बेड भरे हैं।

दवाएं नहीं हैं, जहां हैं भी वहां लंबी लाइन लगानी पड़ रही है

Aquarius 17

दवाएं नहीं हैं, जहां हैं भी वहां लंबी लाइन लगानी पड़ रही है। बीजिंग में श्मशानों में 24 घंटे अंतिम संस्कार किए जा रहे हैं। हालात इतने बदतर हो चुके हैं कि अंतिम संस्कार के लिए वेटिंग 2000 तक पहुंच गई है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि चीन में कोरोना केस दिनों नहीं, बल्कि घंटों में दोगुने हो रहे हैं। अमेरिकी साइंटिस्ट और महामारी विशेषज्ञ एरिक फेगल-डिंग ने सोशल मीडिया पर चीन के चौंकाने वाले वीडियोज शेयर किए हैं। इनमें अस्पतालों, श्मशानों और मेडिकल स्टोर्स के हालात चिंताजनक दिखाई पड़ रहे हैं।

90 दिन में चीन की 60% आबादी और दुनिया के 10% लोग कोरोना से संक्रमित होंगे

उन्होंने कोरोना पर बड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि 90 दिन में चीन की 60% आबादी और दुनिया के 10% लोग कोरोना से संक्रमित होंगे। करीब 10 लाख मौतों की आशंका है। दुनियाभर में जहां कोरोना केस बढ़े हैं, वहीं भारत में एक्टिव मामलों की संख्या में तेजी से कमी आ रही है। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक 20 दिसंबर को सुबह 8 बजे तक की स्थिति में देश में कुल 3490 एक्टिव कोरोना केस बचे थे। स्वास्थ्य मंत्री ने 19 दिसंबर को संसद में बताया था कि भारत में वैक्सीनेशन का आंकड़ा 220 करोड़ को पार कर चुका है।

2023 तक चीन में कोरोना के कारण 10 लाख से ज्यादा लोगों की मौत होगी

 

Aquarius 16

यह संख्या कोरोना की सभी उपलब्ध वैक्सीन की पहली, दूसरी और प्रिकॉशन डोज को मिलाकर है। देश में 18 जनवरी 2021 को दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू किया गया था। चीन में कोरोना से होने वाली मौतों के बारे में हाल ही में एक रिपोर्ट जारी हुई है। अमेरिका के इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मैट्रिक्स एंड इवेलुएशन  ने अनुमान लगाया है कि 2023 तक चीन में कोरोना के कारण 10 लाख से ज्यादा लोगों की मौत होगी। ये अनुमान चीन में कोविड प्रतिबंधों के खात्मे के बाद की स्थिति को ध्यान में रखते हुए लगाए गए हैं।

रिपोर्ट की मानें तो चीन में अप्रैल की शुरुआत में कोरोना मामलों का पीक आएगा। उस समय तक मौतों की संख्या 3 लाख 22 हजार तक पहुंचने की आशंका है। IHMI के डायरेक्टर क्रिस्टोफर मुर्रे के अनुसार अप्रैल तक चीन की एक तिहाई आबादी को कोरोना का संक्रमण हो चुका होगा।

अंटार्कटिका पर पहले इंसानी कदम पड़े थे रोआल्ड एमंडसन के

Copyright © All rights reserved. | Newsium by AF themes.