टाटा मोटर्स को लगा झटका, हो गया ये नया काम, नई 1,400 इलेक्ट्रिक बसों के परिचालन के लिए जारी की निविदा

टाटा मोटर्स को लगा झटका

टाटा मोटर्स

टाटा मोटर्स को बड़ा झटका लगा है। बंबई उच्च न्यायालय ने बृहन्मुंबई इलेक्ट्रिक सप्लाई एंड ट्रांसपोर्ट (बेस्ट) अंडरटेकिंग की इलेक्ट्रिक बस टेंडर में Tata Moters को अयोग्य ठहराने के फैसले को सही ठहराया है। न्यायमूर्ति एस वी गंगापुरवाला और न्यायमूर्ति माधव जामदार की पीठ ने अयोग्यता को चुनौती देने वाली टाटा मोटर्स की याचिका को खारिज कर दिया। पीठ ने कहा कि बेस्ट का Tata Moters को निविदा के अयोग्य ठहराने का फैसला सही था।

यह भी देखें:- OnePlus Phones मिल रहे इतने सारे फीचर्स, एकदम नए हो जाएंगे ये 2 पुराने

टाटा मोटर्स ने भी लगाई थी बोली

टाटा मोटर्स

मुंबई में बिजली आपूर्ति एवं बसों का परिचालन करने वाली कंपनी बेस्ट ने महानगर में 1,400 इलेक्ट्रिक बसों के परिचालन के लिए निविदा जारी की थी। इसमें टाटा मोटर्स ने भी बोली लगाई थी लेकिन बेस्ट ने टेक्निकल असिस्टेंट के बाद उसे बोली के अयोग्य घोषित कर दिया। इस पर टाटा मोटर्स ने कहा था कि उसकी टेक्निकल बोली को मनमाने ढंग से खारिज कर दिया गया ताकि बोली जीतने वाली कंपनी को फायदा पहुंचाया जा सके।

बेस्ट प्रबंधन ने सुनवाई के दौरान इन आरोपों को नकारते हुए कहा कि उसने ठेका आवंटित करने में निर्धारित प्रक्रिया का पालन किया था। उच्च न्यायालय ने बेस्ट के कदम को सही ठहराते हुए कहा, ”पिटिशनर को सही ही अयोग्य घोषित किया गया था। बेस्ट का निर्णय अंतिम एवं बाध्यकारी था।”

Jobs:- Navodaya Vidyalaya Samiti NVS PGT, TGT, Principal, Music, Art, Librarian, PET Teacher Online Form

इसके साथ ही न्यायालय ने कहा कि अगर टेंडर अलॉट करते समय किसी तरह की अनियमितता हुई है, तो बेस्ट को नए सिरे से निविदा जारी करने के बारे में सोचना चाहिए।