ठंड में डायबिटीज रोगियों के लिए हरी मटर काफी फायदेमंद 

ठंड में डायबिटीज रोगियों के लिए हरी मटर काफी फायदेमंद

Aquarius 4

ठंड के मौसम में बाजार में तरह-तरह के ताजे साग और सब्जियां नजर आती हैं।ठंड के मौसम में मिलने वाली सब्जियां स्वाद के साथ-साथ सेहत के लिए भी फायदेमंद होती हैं।ठंड का मौसम अपने साथ हरी साग और सब्जियों की सौगात भी लाता है।हरी मटर दिल से लेकर किडनी को दुरुस्त रखने के साथ ब्लड प्रेशर को भी काबू में रखती है।ठंड में मिलने वाली ताजी-हरी मटर भी ऐसी ही एक सब्जी है।डायबिटीज रोगियों के लिए हरी मटर काफी फायदेमंद है। यह वजन कम करने में भी मददगार है।

मटर में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं

ठंड

हरी मटर में आयरन, जिंक, मैंगनीज और कॉपर मौजूद होता है, जो इस मौसम में बॉडी को जरूरी न्यूट्रिएंस देते हैं।यही वजह है कि वेज बिरयानी से लेकर मैगी तक में इसका इस्तेमाल किया जाता है।साथ ही मटर में पर्याप्त मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो इम्यूनिटी को मजबूत कर बीमारियों से लड़ने की ताकत देते हैं। मटर में मौजूद मटर में ल्यूटिन और जेक्सैथी आंखों की रोशनी को बढ़ाते हैं।फाइबर पाचन तंत्र के लिए अच्छा माना जाता है।हरी मटर फाइबर, विटामिन और मिनरल्स से भरपूर है।इसमें प्रोटीन भी पाया जाता है जो शुगर को कंट्रोल करने में मददगार है।

दोषी अस्पतालों एवं विद्यालयों के प्राधिकरणों के द्वारा पट्टा अभिलेख आवंटन निरस्त किया जाएं

 

हरी मटर में पैलिमायोएथेलेनामाइड (PEA) पाया जाता है

Aquarius 5

साथ ही कॉलेस्ट्रोल को कम करता है, जिससे दिल से जुड़ी बीमारियां दूर रहती हैं।मेकओवर आर्टिस्ट प्रीति सिंह बताती हैं कि हरी मटर को पीस कर चेहरे पर लगाया जाए तो वह नेचुरल स्क्रब का काम करेगा। हरी मटर स्किन को साफ कर चेहरे पर ग्लो लाती है।हरी मटर सिर्फ स्वाद और सेहत के लिए ही नहीं, बल्कि सुंदरता के लिए भी जरूरी है।हरी मटर में पैलिमायोएथेलेनामाइड (PEA) पाया जाता है। यूरोप और अमेरिका में हुए हालिया रिसर्चों में यह दावा किया गया है कि पैलिमायोएथेलेनामाइड (PEA) अल्जाइम से लड़ने में मदद करता है।

मटर में विटामिन-ए और ई प्रचुर मात्रा में पाया जाता है

Aquarius 2

मटर में पाया जाने वाला सेलेनियम अर्थराइटिस, जोड़ों के दर्द और सूजन को कम करता है।विटामिन स्किन के लिए काफी फायदेमंद माने जाते हैं। ठंड में होंठ और एड़ी फटने की समस्या आम है। ऐसे में हरी मटर खाना फायदेमंद हो सकता है।मटर में विटामिन-ए और ई प्रचुर मात्रा में पाया जाता है।कई गुणों से भरपूर मटर अगर ज्यादा खा लें तो ये गैस का कारण भी बनती है। इसलिए गैस की समस्या है तो मटर जरा संभल कर ही खाएं।ठंड के मौसम में लोग हरी मटर को बहुत शौक के साथ खाते हैं।

हरी मटर के सेवन से पोषण भी बढ़ता है

Aquarius 6

ठंड के मौसम में हरी मटर से बने परांठे, चाट और विभिन्न प्रकार की सब्जियां ना केवल थाली की रौनक बढ़ाती हैं बल्कि, इस सब्जी के सेवन से पोषण भी बढ़ता है। हरी मटर में विटामिन A, E, D, और C भी अच्छी मात्रा में पाया जाता है।ज्यादातर लोग ठंड के मौसम में हर सब्जी और स्नैक्स में मटर का उपयोग करते हैं। खास बात यह है कि मटर का उपयोग मुख्य रूप से फिलर के रूप में ही किया जाता है। यानी किसी अन्य सब्जी या भोजन के साथ इसे मिलाकर पकाया जाता है।इसलिए ज्यादातर लोगों को यह भ्रम रहता है कि मटर सिर्फ स्वाद बढ़ानेवाली सब्जी है और इसमें सेहत से जुड़े कोई खास गुण नहीं होते हैं।

डायबिटीज में मटर का सेवन अवश्य करना चाहिए

जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है।आप जानते हैं कि मटर के दानों के अंदर किसी भी तरह की गुठली या बीज नहीं होता है और यह पूरी तरह फाइबर से भरपूर होती है। यही फाइबर आपके पेट को साफ रखने में सहायता करता है।यदि आप उन लोगों में शामिल हैं, जो हर समय खुद को थका हुआ और उदास अनुभव करते हैं तो आपको हर दिन एक समय के भोजन में किसी ना किसी रूप में मटर का उपयोग अवश्य करना चाहिए।जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या है, उन्हें मटर का सेवन अवश्य करना चाहिए।

मटर में विटमिन-K पाया जाता है

Aquarius 7

हर दिन एक बार के भोजन में मटर के सेवन का उपयोग आपको करना चाहिए यदि आपकी हड्डियां कमजोर हैं तो आपको भी नियमित रूप से मटर का सेवन करना चाहिए। यहां नियमित रूप का तात्पर्य है कि आप दिन में एक बार किसी भी समय के भोजन में मटर का उपयोग करें मटर में विटमिन-K पाया जाता है। यह विटमिन हड्डियों का व्यास सही बनाए रखने और उन्हें मजबूती देने का काम करता है। शरीर में विटमिन-के की कमी हो जाए तो हड्डियां खोखली होने लगती हैं और ऑस्टियोपोरोसिस की समस्या हो सकती है। यदि आपको पेट फूलने की समस्या है तो आप मटर का सेवन कम मात्रा में करें।

क्योंकि जिनका पाचन ठीक नहीं होता है, उन्हें मटर का अधिक सेवन करने से गैस बनने की समस्या हो सकती है।यदि आपको अतिसार यानी लूज मोशन की समस्या हो रही तो मटर (Green Peas) का सेवन करने से पेट दर्द हो सकता है। इसलिए आपको मटर का सेवन तभी करना चाहिए, जब आपका पेट ठीक हो।

IOCL Recruitment 2022, Top Online Form, Job Opportunities