बाघ को बचाने का संकल्प, ‘रन फॉर टाइगर’, CM योगी के गढ़ में दौड़े गोरखपुर वासी

बाघ को बचाने का संकल्प ‘रन फॉर टाइगर’

विश्व बाघ दिवस के अवसर पर गुरुवार को पहली बार गोरक्ष-नगरी वासी राष्ट्रीय पशु ‘बाघ’ को बचाने का संकल्प लेते हुए ‘रन फॉर टाइगर’में दौड़े। गोरखपुर के पैडलेगंज स्थित गौतम बुद्ध प्रवेश गेट से प्राणी उद्यान के रेस्ट हाउस तक तकरीबन दो किलोमीटर लम्बी दौड़ को राज्य के अपर प्रमुख वन संरक्षक टाइगर प्रोजेक्ट कमलेश कुमार ने हरी झंड़ी दिखाई। इस दौरान शहर-वासियों को उत्साह देखते ही बन रहा था।

बाघ

पहली बार गोरखपुर को 29 जुलाई को मनाए जाने वाले विश्व बाघ दिवस पर अंतरराष्ट्रीय बाघ संरक्षण सेमिनार की जिम्मेदारी मिली है। जागरूकता के लिए आयोजित रन फॉर टाइगर में एपीसीसीएफ प्रोजेक्ट टाइगर कमलेश कुमार, प्राणी उद्यान के निदेशक डॉ एच राजा मोहन, आईएफएस मनोज सोनकर, डीएफओ गोरखपुर विकास यादव, एसडीओ हरेंद्र सिंह, एसडीओ हरिकेश यादव, प्राणी उद्यान के वाइल्ड लाइफ विशेषज्ञ डॉ योगेश प्रताप सिंह, हेरिटेज फाउंडेशन गोरखपुर की संरक्षिका डॉ अनिता अग्रवाल ने हरी झंड़ी दिखा कर रवाना किया।

READ THIS:- सावन के दूसरे सोमवार को विश्वनाथ में टूटा सभी का रिकॉर्ड, 600000 से ज्यादा भक्तों ने किया दर्शन

सीएम योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को कार्यक्रम में होंगे शामिल

शुक्रवार को महायोगी बाबा गंभीरनाथ प्रेक्षागृह एवं संस्कृति केंद्र में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, फिल्म अभिनेता रणदीप हुड्डा, वन एवं जलवायु परिवर्तन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ अरुण कुमार सक्सेना समेत अन्य मंत्री, सांसद एवं विधायक शामिल होंगे। इसी दिन मुख्यमंत्री सफेद बाघिन गीता को शहीद अशफाक उल्ला खॉ प्राणी उद्यान में बाड़ा प्रवेश करा दर्शकों के दर्शनार्थ उपलब्ध कराएंगे।