वाराणसी के ललित उपाध्याय तीसरी बार हॉकी का वर्ल्ड कप खेलेंगे

ललित उपाध्याय तीसरी बार हॉकी का वर्ल्ड कप खेलेंगे

ललित

वाराणसी के ललित उपाध्याय तीसरी बार हॉकी का वर्ल्ड कप खेलेंगे। इंडियन हॉकी टीम के तेज-तर्रार फॉरवर्ड ललित का कहना है कि 1975 में हमने आखिरी बार वर्ल्ड कप जीता था। इस बार टीम इंडिया जबरदस्त प्रदर्शन करेगी और 47 साल बाद एक बार फिर वर्ल्ड कप जीतेगी। बता दें कि इससे पहले ललित साल 2014 में नीदरलैंड में और वर्ष 2018 में भुवनेश्वर में आयोजित हॉकी का वर्ल्ड कप खेल चुके हैं। टीम इंडिया टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीता था।अर्जुन अवार्डी ललित शिवपुर के भगतपुर गांव के रहने वाले हैं।

मई-जून में परीक्षा नहीं दे पाए छात्रों के लिए फिर परीक्षा कराएगा डीयू

1975 में हमने आखिरी बार वर्ल्ड कप जीता था

7u 4

उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्हें हाल ही में डिप्टी एसपी के पद पर नियुक्त किया है। दैनिक भास्कर ने ललित से टेलीफोन पर बातचीत की। इस दौरान उन्होंने कहा कि जनवरी 2023 में होने वाले हॉकी के वर्ल्ड कप के लिए हमारी टीम की तैयारियां अच्छी चल रही हैं।अटैक और डिफेंस पर हम पूरी तरह से फोकस्ड होकर हम प्रैक्टिस कर रहे हैं। टोक्यो ओलंपिक में अच्छे प्रदर्शन की वजह से इंडियन टीम वर्ल्ड कप को लेकर खासी उत्साहित है। बड़ी बात यह भी है कि वर्ल्ड कप अपने ही देश में हो रहा है। भुवनेश्वर और राउरकेला के घरेलू माहौल का अच्छा लाभ भी हमें मिलेगा।

उनके पिता सतीश उपाध्याय और मां रीता उपाध्याय खुश हैं

7u 1

स्टार फॉरवर्ड ललित का चयन वर्ल्ड कप के लिए होने पर उनके पिता सतीश उपाध्याय और मां रीता उपाध्याय खुश हैं। शुक्रवार को जब हॉकी वर्ल्ड कप के लिए इंडियन टीम की घोषणा हुई तभी से उपाध्याय दंपती को बधाई देने वालों का तांता लगा है।सतीश उपाध्याय ने कहा कि सब बाबा विश्वनाथ की कृपा और ललित की मेहनत का परिणाम है। अपने बच्चे को बुलंदियों की ओर जाते देखना भला किस मां-बाप को अच्छा नहीं लगता है। बाबा विश्वनाथ से हमारी यही प्रार्थना है कि ललित अच्छा प्रदर्शन करें और इंडियन टीम इस बार हॉकी का वर्ल्ड कप जरूर जीते।

राष्ट्रीय और राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं हिस्सा ले चुके है

ललित से पहले काशी निवासी पद्मश्री मोहम्मद शाहिद और विवेक सिंह इंडिया की ओर से हॉकी का वर्ल्ड कप खेल चुके हैं। मोहम्मद शाहिद को दो बार और विवेक सिंह को एक बार हॉकी का वर्ल्ड कप खेलने का अवसर मिला था। ललित वाराणसी निवासी पहले ऐसे प्लेयर हैं, जो हॉकी का तीसरा वर्ल्ड कप खेलने जा रहे हैं।हॉकी विश्व कप टीम का हिस्सा बनने की खुशी और उत्साह ओलंपियन ललित उपाध्याय के चेहरे पर साफ नजर आ रही थी। ललित ने कहा कि टोक्यो ओलंपिक में पदक जीतने के बाद भारतीय हॉकी टीम में उत्साह है।

हॉकी विश्व कप का आयोजन ओडिशा में 13 जनवरी से होगा

7u 3

अपने ही देश में होने वाली हॉकी विश्व कप प्रतियोगिता में टीम खाली हाथ नहीं रहेगी। टीम की तैयारी पूरी है और एक बार फिर से जीत दर्ज कर नया इतिहास रचेगी।शुक्रवार को बातचीत के दौरान ललित ने कहा कि जैसे ओलंपिक में भारतीय टीम ने 41 सालों के सूखे को खत्म किया, उसी तरह हॉकी विश्व कप में 1975 के बाद जीत दर्ज करके नया इतिहास लिखने उतरेगी। हॉकी विश्व कप का आयोजन ओडिशा में 13 जनवरी से होगा।फाइनल मुकाबला 29 जनवरी को खेला जाएगा। ओडिशा की राजधानी भुवनेश्वर और राउरकेला में मुकाबले में खेले जाएंगे।

विश्व कप 2023 के लिए टीम में काफी बदलाव हुआ है

 

अपने खेल करियर में दो बार विश्व कप में भारतीय हॉकी टीम का हिस्सा रह चुके ललित ने बताया कि ओलंपिक के बाद विश्व कप 2023 के लिए टीम में काफी बदलाव हुआ है। भारतीय हॉकी टीम सन 1975 का इतिहास एक बार फिर से दोहराएगी।ओलंपियन ललित का टीम में चयन की खबर मिलने के बाद उनके गांव भगतपुर में खुशी छा गई। उनके बडे़ भाई अमित उपाध्याय ने बताया कि बीते कुछ वर्षों में भारतीय टीम का एशियन चैंपियनशिप और ओलंपिक जैसे अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में जिस तरह का प्रदर्शन रहा, उसे देख विश्व कप में पदक की उम्मीदें बढ़ी हैं।

कुछ वर्षों में भारतीय टीम का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा

7u 2

ललित बीते दो विश्व कप में भारतीय टीम के सदस्य रह चुके हैं इस बार तीसरा मौका मिला है तो कोई कोर कसर बाकी नहीं होगा, इस बार पदक पक्का है। ललित इससे पहले वर्ष 2014 में नीदरलैंड में और 2018 भुवनेश्वर में आयोजित हॉकी विश्व कप में खेल चुके हैं।हालांकि इसमें भारतीय टीम को शीर्ष तीन टीमों में भी जगह नहीं मिल पाई थी। पिता सतीश उपाध्याय ने बेटे तीसरी बार विश्व हॉकी प्रतियोगिता में चयन पर खुशी जताते हुए कहा बाबा विश्वनाथ की असीम कृपा से बीते कुछ वर्षों में भारतीय टीम का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा।

इस बार भी टीम देश के लिए पदक लाएगी।अपने 15 साल से अधिक के करियर में तीन बार एशियन चैंपियनशिप में दो बार स्वर्ण और एक बार कांस्य पदक, विश्व लीग मैच में कांस्य पदक, बर्मिंघम राष्ट्रमंडल में रजत, एशिया कप में स्वर्ण, एशियाई खेल में कांस्य और ओलंपिक में कांस्य पद जीतने वाली टीम के सदस्य रहे।इसके अलावा राष्ट्रीय और राज्य स्तर की प्रतियोगिताओं हिस्सा ले चुके है।

आज की ताजा खबर, 19 दिसंबर, 2022 LIVE: दिल्ली दंगों से जुड़ी याचिकाओं पर आज सुनवाई, सीमा विवाद के बीच कर्नाटक विस का शीत सत्र