सिसोदिया-जैन को बर्खास्त करो( भाजपा का जवाब )विधानसभा में धरना ,सक्सेना पर भ्रष्टाचार के आरोप

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के घर पर हुई थी छापेमारी

सिसोदिया-जैन को बर्खास्त करो( भाजपा का जवाब )

दिल्ली की शराब नीति में गड़बड़ी के मामले में जांच में जुटी CBI ने मंगलवार को डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के लॉकर की तलाशी ली। गाजियाबाद के वसुंधरा सेक्टर 4 की पंजाब नेशनल बैंक में सिसोदिया का बैंक लॉकर है। CBI की टीम ने बैंक में 45 मिनट तक लॉकर की जांच की। इस दौरान मनीष सिसोदिया और उनकी पत्नी भी मौजूद रहीं। जांच के दौरान बैंक के गेट बंद रहे। किसी को भी एंट्री नहीं दी गई।\

मनीष सिसोदिया और उनकी पत्नी सीमा को यहां बुलाया गया है। दिल्ली के डिप्टी सीएम बनने से पहले मनीष सिसोदिया गाजियाबाद के इसी वसुंधरा इलाके में रहते थे।डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा- लॉकर से सीबीआई को कुछ भी नहीं मिला। सारी जांच में मेरा परिवार पाक-साफ है। ये सच्चाई की जीत है।

पीएम ने मेरे लॉकर की जांच कराई। मुझे 2-3 महीने से जेल भेजने की साजिश हो रही है। 19 अगस्त को मेरे घर पर 14 घंटे की रेड में कुछ नहीं मिला था। लॉकर में भी कुछ नहीं मिलेगा। CBI का स्वागत है। जांच में मेरा और मेरे परिवार का पूरा सहयोग रहेगा।      पाकिस्तान में हरा पासपोर्ट देख कोई काम नहीं देता रात-बिरात बेटियां उठा ली जातीं हैं  

सिसोदिया इससे पहले भी कह चुके हैं कि एक झूठे मामले में उन्हें आरोपी बनाया गया है, ताकि अरविंद केजरीवाल को आगे बढ़ने से रोका जा सके। सिसोदिया का कहना है कि अरविंद केजरीवाल 2024 के लोकसभा चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकल्प के तौर पर उभरे हैं।डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया उन 15 लोगों में शामिल हैं

मनीष सिसोदिया ने कहा लॉकर में कुछ भी नहीं मिलेगा

सिसोदिया-जैन को बर्खास्त करो( भाजपा का जवाब )

दिल्ली आबकारी नीति के क्रियान्वयन में हुई अनियमितताओं के आरोप में CBI ने FIR में शामिल किया है। 19 अगस्त को CBI ने इस सिलसिले में सिसोदिया के आवास समेत 31 स्थानों पर छापेमारी और तलाशी अभियान भी चलाया था।दिल्ली की नई आबकारी नीति में गड़बड़ी का आरोप है। यह भी आरोप है कि इस नीति के जरिए शराब लाइसेंस धारियों को गलत तरीके से लाभ पहुंचाया गया है।

लाइसेंस देने में अनदेखी हुई है। टेंडर के बाद शराब ठेकेदारों के 144 करोड़ रुपए माफ करने का आरोप है।कोरोना के बहाने लाइसेंस फीस माफ करने जैसे भी आरोप हैं। इसी सिलसिले में CBI दिल्ली ने पिछले दिनों एक एफआईआर की है, जिस पर जांच जारी है।आम आदमी पार्टी और भाजपा एक-दूसरे पर निशाना साध रहे हैं। इस बीच, AAP और भाजपा विधायकों का सोमवार रात से दिल्ली विधानसभा परिसर में रात भर से धरना प्रदर्शन जारी है।

विधायकों ने उप-राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना के इस्तीफे की मांग को लेकर दिल्ली विधानसभा के भीतर धरना दिया।विधानसभा के भीतर उप-राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा- LG 2016 में खादी और ग्रामोद्योग विभाग के चेयरमैन थे, उस वक्त उन्होंने 1,400 करोड़ रुपए का घोटाला किया।

मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन को बर्खास्त करने की मांग

भाजपा विधायकों ने भ्रष्टाचार को लेकर मंत्रियों मनीष सिसोदिया और सत्येंद्र जैन को बर्खास्त करने की मांग की।केजरीवाल राजनीतिक प्रचार के लिए विधानसभा का उपयोग अपने मर्जी से कर अपनी सरकार के शराब घोटाले से लोगों का ध्यान हटाने के लिए नौटंकी कर रहे हैं। भाजपा के सभी 8 विधायक सोमवार और शुक्रवार को दिल्ली विधानसभा के विशेष सत्र की कार्यवाही का हिस्सा नहीं थे, क्योंकि उन्हें सदन से बाहर निकाल दिया गया था।

भाजपा विधायकों ने उपराज्यपाल वीके सक्सेना का बचाव किया और कहा कि आप नेता उनके खिलाफ बदले के लिए भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं।FIR में कहा गया है कि अरुण रामचंद्र पिल्लई नाम का व्यक्ति समीर महेंद्रु से पैसा इकट्ठा करता था। वह इसे विजय नायर के जरिए आरोपी अफसरों तक पहुंचाता था। सूत्रों के मुताबिक, अर्जुन पांडे नाम के व्यक्ति ने समीर महेंद्रु से विजय नायर के लिए एक बार 2-4 करोड़ रुपए की बड़ी रकम ली थी।

शराब नीति को लागू करने से पहले प्रस्तावित नीति को कैबिनेट के समक्ष रखना होता है। इसके बाद कैबिनेट से पास इस प्रस्ताव को मंजूरी के लिए उपराज्यपाल को भेजना होता है, लेकिन इस प्रोसेस को नहीं अपनाया गया है। रिपोर्ट में 4 नियमों को तोड़ने के आरोप लगे।

1. GNCTD अधिनियम 1991

2. व्यापार नियमों के लेनदेन (TOBR)-1993

3. दिल्ली उत्पाद शुल्क अधिनियम-2009

4. दिल्ली उत्पाद शुल्क नियम-2010 ​

Govt Jobs in Delhi 2022 | 15,000 Live Recruitments in PSC, PSU, Police, Army, Defence, & Banks