ज्यादा कोल्ड ड्रिंक के सेवन से होते हैं ये साइडइफेक्ट्स

कोल्ड ड्रिंक पीने के नुकसान

कोल्ड ड्रिंक

आजकल लोगों के बीच Cold Drinks पीने का ट्रैंड काफी बढ़ गया है। धूप से बचना हो या फिर घर पर हो कोई पार्टी, बिना Cold Drink के लोगों को हर चीज अधूरी लगती है। लेकिन क्या आप जानते हैं कोल्ड ड्रिंक्स मुंह का स्वाद भले ही अच्छा कर दें लेकिन सेहत के लिए ये काफी नुकसानदायक होती है। आइए जानते हैं कोल्ड ड्रिंक्स पीने के ऐसे ही कुछ साइडइफेक्ट्स के बारे में।

READ THIS:- High and Bad Cholesterol Symptoms: 5 लक्षण, कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर शरीर की इन जगहों पर होता है दर्द

कोल्ड ड्रिंक पीने से मधुमेह की समस्या

कोल्ड ड्रिंक

Cold Drink में शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है। ऐसे में Cold Drink का सेवन मधुमेह की समस्या पैदा कर सकता है। Cold Drink बॉडी में शुगर को तुरंत स्पाइक कर देती है जिससे इंसुलिन तेजी से रिलीज होता है। ऐसे में अगर आप इंसुलिन हार्मोन को बार-बार डिस्टर्ब करेंगे तो इससे नुकसान होगा।

मोटापा

कोल्ड ड्रिंक

कोल्ड ड्रिंक्स में सुक्रोज तत्‍व पाया जाता है जिससे फ्रक्टोज बनती है। फ्रक्टोज से हमें कैलोरी मिलती है और चूंकि Cold Drink में बहुत ज्यादा मात्रा में शुगर होते है इसलिए यह वजन बढ़ने का कारण बन सकता है। एक स्टडी में पाया गया है कि रोजाना शुगर ड्रिंक्स के सेवन से मोटापे की समस्या होने का खतरा 60 फीसदी तक बढ़ जाता है।

लीवर डैमेज

Cold Drink में ग्लूकोज और फ्रक्टोज बहुत अधिक होते हैं। चूंकि इन ड्रिंक्स में शुगर ज्यादा होता है तो फ्रक्टोज को पचाने में लीवर को बहुत मशक्कत करनी पड़ती है। जिससे लीवर में इन्फ्लेमेशन की शिकायत आ जाती है।

दांतों को नुकसान

Cold Drink या सोडा ड्रिंक्स में फॉस्फोरिक एसिड और कार्बोनिक एसिड होता है, जो आपके दांतों के सुरक्षा पर्त यानी इनेमल को नुकसान पहुंचाता है। इससे दांतों में सेंसटिविटी और कैविटी जैसी समस्याएं हो सकती हैं। बच्चों को Cold Drink पिलाने से कई नुकसान होते हैं, जिसमें से दांतों में सड़न प्रमुख है।

JOBS:- UPSSSC Uttar Pradesh Mukhya Sevika (Head Servant) 2022 Online Form, Notification Out

दिमाग पर बुरा असर

कोल्ड ड्रिंक्स में मौजूद कैफीन एक तरह का एडिक्टिव (नशीला) कंपाउंड है। रिसर्च में पाया गया है कि कोल्ड ड्रिंक्स पीने के 5-10 मिनट के अंदर ही आपके शरीर में डोपामाइन का लेवल बढ़ जाता है। इस हार्मोन के कारण आपको थोड़ी देर खुशी महसूस होती है, जिसके कारण आप इसे और ज्यादा पीना चाहते हैं। मेडिकल न्यूज टुडे पर छपे एक लेख में इस नशीलेपन की तुलना हेरोइन के नशे से की गई है। इसलिए इसका असर आपके ब्रेन फंक्शन पर भी पड़ता है। यह ब्रेन डेवलपमेंट को प्रभावित करके बच्चों की मेमोरी लॉस तक का कारण बन सकता है। Cold Drink पीने से बच्चों की एकाग्रता पर भी बुरा असर पड़ता है।

कोल्ड ड्रिंक्स की जगह डाइट में शामिल करें ये ड्रिंक्स

-कोल्ड ड्रिंक की जगह रोजाना पर्याप्त मात्रा में नॉर्मल पानी पिएं। इससे प्यास बुझने के साथ बॉडी हाइड्रेट भी रहती है।
-कोल्ड ड्रिंक की जगह नींबू पानी, शरबत, जूस, शिकंजी, फ्रूट कॉकटेल, गन्ने का रस और नारियल पानी भी डाइट में शामिल करें।