Samadhanvani

samadhanvani

इंटरनेट तेज पुराने मोबाइल में भी चलेगा कैसे पता लगा सकते हैं ?

योजना में 18 साल से 1 2

मार्केट में कई तरह के स्मार्टफोन

इंटरनेट तेज पता कैसे लगा सकते हैं

Airtel और JIO अगस्त के आखिरी तक इंटरनेट के 5G नेटवर्क को डिप्लॉय करना शुरू कर सकते हैं। Airtel ने इसके लिए एरिक्सन, नोकिया और सैमसंग के साथ 5G नेटवर्क एग्रीमेंट पर साइन किए हैं। 5G की वजह से लोगों के काम करने और गेम खेलने का तरीका पूरी तरह से बदल जाएगा।

   BJP पर भारी दीदी का खेला बंगाल में TMC से भिड़ना भी मुश्किल

नेटवर्क महंगाई की तरह आपका खर्च भी बढ़ने वाला है? ये सारे सवाल आपके काम से जुड़े हैं, आपकी जरूरत के हैं इसलिए इन सवालों के जवाब तलाशते हैं।मोबाइल नेटवर्क 5G वायरलेस नेटवर्क के लिए एक ग्लोबल स्टैंडर्ड है, जो 4G नेटवर्क की क्षमताओं में सुधार करेगा। 5G की कनेक्टिविटी बहुत तेज होगी। ये गेमिंग और एंटरटेनमेंट के लिहाज से भी बेहतरीन साबित होने वाला है। 5G की स्पीड, 4G की स्पीड से 100 गुना तेज हो सकती है। इसके जरिए आप मात्र 10 सेकेंड में 2GB की फिल्म डाउनलोड कर सकेंगे।

नेटवर्क  5G फोन होना जरूरी है। हालांकि अगर कोई वाईफाई 5G स्पीड में चले और आप उससे अपना मोबाइल कनेक्ट करें तो आपको 5G वाली स्पीड मिल सकती है।मार्केट में कई तरह के स्मार्टफोन मौजूद हैं, लेकिन आज हम आपको 20 हजार रुपए से कम के कुछ ऑप्शन बता रहे हैं, जो बेहतर 5G स्मार्टफोन ऑप्शन साबित हो सकते हैं।

 

बिना वाईफाई नेटवर्क के भी वीडियो स्ट्रीमिंग

इंटरनेट तेज पता कैसे लगा सकते हैं

बिना वाईफाई नेटवर्क के भी वीडियो स्ट्रीमिंग और वीडियो चैट का फायदा मिल सकेगा।फोन पर गेम खेलना पहले के मुकाबले ज्यादा अच्छा हो जाएगा।4G के मुकाबले ज्यादा तेज इंटरनेट स्पीड होगी। 4GB रैम और 64GB स्टोरेज वाले फोन की कीमत 12 हजार 999 रुपए है। 6GB रैम और 128GB स्टोरेज वाले फोन की कीमत 14 हजार 999 रुपए है।फीचर्स की बात करें तो यह एंड्रॉइड 12 पर काम करता है। 5000 एमएएच की बैटरी दी गई है।

6.58 इंच का फुल-एचडी+ एलसीडी डिस्प्ले है। ऑक्टा-कोर मीडियाटेक डाइमेंसिटी 700 SoC से लैस है।ड्यूल रियर कैमरा सेटअप भी है। पहला सेंसर 50 मेगापिक्सल का है और दूसरा 2 मेगापिक्सल का पोट्रेट कैमरा है।

1980 के दशक की शुरुआत में पेश किया गया था, इसलिए हर 10 साल में एक नई वायरलेस मोबाइल दूरसंचार तकनीक जारी की गई है। ये सभी मोबाइल वाहक और डिवाइस द्वारा स्वयं उपयोग की जाने वाली तकनीक का उल्लेख करते हैं। उनकी अलग गति और विशेषताएं हैं जो पिछली पीढ़ी में सुधार करती हैं।

नेटवर्क की शुरूआत ने तेजी से डेटा-ट्रांसमिशन गति की शुरुआत की, ताकि आप अपने सेल फोन का उपयोग डेटा-डिमांडिंग तरीकों जैसे कि वीडियो कॉलिंग और मोबाइल इंटरनेट एक्सेस के लिए कर सकें।5 जी व्यापक रूप से 4 जी की तुलना में अधिक स्मार्ट, तेज और कुशल माना जाता है। यह मोबाइल डेटा गति का वादा करता है जो अभी तक उपभोक्ताओं के लिए उपलब्ध सबसे तेज होम ब्रॉडबैंड नेटवर्क से आगे निकल गया है। प्रति सेकंड 100 गीगाबिट्स तक की गति के साथ, 5 जी को 4 जी की तुलना में 100 गुना तेज होना तय है।

 नेटवर्क और बजट के हिसाब से इंटरनेट

इंटरनेट तेज पता कैसे लगा सकते हैं

नेटवर्क 4 जी और 5 जी के बीच एक महत्वपूर्ण अंतर है। विलंबता वह समय है जो पल की जानकारी से गुजरता है एक डिवाइस से भेजा जाता है जब तक कि इसका उपयोग रिसीवर द्वारा नहीं किया जा सकता है। कम विलंबता का अर्थ है कि आप अपने मोबाइल डिवाइस कनेक्शन को अपने केबल मॉडेम और वाई-फाई के प्रतिस्थापन के रूप में उपयोग करने में सक्षम हैं। इसके अलावा, आप जल्दी और आसानी से फ़ाइलों को डाउनलोड और अपलोड करने में सक्षम होंगे, बिना नेटवर्क या फोन के अचानक दुर्घटनाग्रस्त होने की चिंता किए बिना।

नेटवर्क 5 जी बैंडविड्थ मुद्दों को ठीक करने में सक्षम होगा। वर्तमान में, 3 जी और 4 जी नेटवर्क से जुड़े कई अलग-अलग डिवाइस हैं, जो प्रभावी रूप से सामना करने के लिए बुनियादी ढांचे के पास नहीं हैं। 5G वर्तमान उपकरणों और उभरती प्रौद्योगिकियों जैसे ड्राइवर रहित कारों और जुड़े हुए घरेलू उत्पादों को संभालने में सक्षम होगा।

नेटवर्क की रेंज बढ़ाने का एक और तरीका

इंटरनेट तेज पता कैसे लगा सकते हैं पुराने मोबाइल में भी चलेगा

नेटवर्क 5जी स्पेक्ट्रम (5G Spectrum) की नीलामी में कंपनियों ने 21800 करोड़ रुपए की अर्नेस्ट मनी डिपॉजिट कर दी है. इस दौरान कुल 72 GHz स्पेक्ट्रम की ही नीलामी होगी. 5G सबसे आधुनिक स्तर का नेटवर्क है, जिसकी अंतर्गत इंटरनेट स्पीड सबसे तेज होगी.

यूजर्स को स्लो-इंटरनेट स्पीड का सामना नहीं करना पड़ेगा. इसमें पहले से ज्यादा नेटवर्क को संभालने की क्षमता होगी. खास बात ये है कि ये Lowest Band से लेकर Highest Band तक की वेव्स में काम करेगा. इसका मतलब ये कि इसका नेटवर्क ज्यादा वाइडर और हाई-स्पीड होगा.

 देश में कई सारी टेलीकॉम कंपनियां हैं, जो यूजर्स को बेस्ट नेटवर्क देने की कोशिश करती है. कई यूजर्स अपने नेटवर्क और बजट के हिसाब से इंटरनेट प्लांस चुनते हैं. 5G के आने के बाद सबसे बड़ा सवाल ये आता है कि 5G इंटरनेट के लिए यूजर्स को कितनी कीमत देनी होगी. देश में स्पेक्ट्रम की नीलामी चल रही है, जहां कई सारी टेलीकॉम कंपनियों इस ऑक्शन में शामिल हैं. लेकिन ऐसी संभावना है कि नई टेक्नोलॉजी में हुए खर्च के चलते 5G सर्विस की    कीमतें 4G से ज्यादा रहने का अनुमान है.

इंटरनेट तेज पता कैसे लगा सकते हैं पुराने मोबाइल में भी चलेगा

नेटवर्क बजट में फोन खरीदना एक बात है, लेकिन फोन खरीदने से पहले ये जानना जरूरी होता है कि आपने जो सोच कर फोन खरीदा है, क्या आपको उसमें वो चीजें मिल रही हैं। 4G नेटवर्क आने के बावजूद बहुत से एरिया में इसकी पहुंच नहीं है, लेकिन 5G के जरिए टेलीकॉम कंपनियों को अपने नेटवर्क की रेंज बढ़ाने का एक और तरीका मिलेगा।आप हाई क्वालिटी, अल्ट्रा हाई रेज्योलूशन 4K वीडियो कॉल्स पर बाते कर सकेंगे।

UPSC ESE 2022 Exam – Mains DAF Online Form

Copyright © All rights reserved. | Newsium by AF themes.