चीन में कोरोना से हालात बेकाबू हो गए हैं, यहां एक दिन में 3 करोड़ 70 लाख केसेस सामने आए थे

चीन में कोरोना से हालात बेकाबू हो गए हैं

कोरोना

चीन में कोरोना से हालात बेकाबू हो गए हैं। ब्लूमबर्ग ने चीन की नेशनल हेल्थ कमीशन के हवाले से बताया है कि मंगलवार को यहां एक दिन में 3 करोड़ 70 लाख केसेस सामने आए थे। हालांकि, सरकारी आंकड़ों में इस दिन सिर्फ 3 हजार केस ही बताए गए। रिपोर्ट के मुताबिक, इस महीने के शुरुआती 20 दिनों में 24 करोड़ 80 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं। इसके पहले जनवरी में एक दिन में 40 लाख कोरोना मरीज मिले थे। चीन के बदतर हालात सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियोज बता रहे हैं। एक वीडियो में लोग संतरों के लिए धक्का-मुक्की करते नजर आ रहे हैं।

दोषी अस्पतालों एवं विद्यालयों के प्राधिकरणों के द्वारा पट्टा अभिलेख आवंटन निरस्त किया जाएं

चीन में क्रिसमस पारंपरिक रूप से नहीं मनाया जाता है

Aquarius 14

वहीं, एक क्लिप में पीपीई किट पहना बच्चा इधर-उधर घूम रहा है। कोरोना के डर के कारण लोग उसे अपने पास नहीं आने दे रहे। चीनी अधिकारियों ने लोगों को क्रिसमस पर घरों में रहने की सलाह दी है। युवाओं को खासतौर पर भीड़भाड़ वाले इलाकों से बचने के लिए कहा गया है। बता दें कि चीन में क्रिसमस पारंपरिक रूप से नहीं मनाया जाता है। चीन में कोरोना के डर के चलते लोग ब्लड डोनेट नहीं कर रहे हैं। इससे ब्लड बैंक्स में खून की भारी कमी हो गई है। इसे लेकर रेड अलर्ट भी जारी किया गया है।

ब्लड बैंक्स में सिर्फ 3 दिन का खून ही बचा है

Aquarius 16

एक रिपोर्ट के मुताबिक, ब्लड बैंक्स में सिर्फ 3 दिन का खून ही बचा है। चीन के शेनडोंग राज्य के किंगडाओ शहर के मेयर बो ताओ ने एक दिन में 5 लाख केस मिलने का दावा किया है। यहां की आबादी करीब 58 लाख है। हालांकि, चीनी सरकार ने पूरे शेनडोंग में सिर्फ 31 केस बताए। चीन में फैल रहा BF.7 वैरिएंट भारत समेत दुनिया के 91 देशों में फैल गया है। स्क्रिप्स रिसर्च इंस्टीट्यूट की रिपोर्ट के अनुसार, यह वैरिएंट पिछले दो सालों से है। हालांकि, यह खतरनाक अब हुआ है। चीन में ओमिक्रॉन का नया वैरिएंट BF.7 फैल रहा है।

ये ओमिक्रॉन का सबसे शक्तिशाली वैरिएंट है

Aquarius 15

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये ओमिक्रॉन का सबसे शक्तिशाली वैरिएंट है। BF.7 वैरिएंट कोरोना वायरस के स्पाइक प्रोटीन में एक खास म्यूटेशन से बना है, जिसका नाम है R346T। एक्सपर्ट्स के मुताबिक इसी म्यूटेशन की वजह से इस वैरिएंट पर एंटीबॉडी का असर नहीं होता। आसान शब्दों में कहें तो अगर किसी शख्स को पहले कोरोना हो चुका है या उसने वैक्सीन लगवाई है, तो उसके शरीर में एंटीबॉडी बन जाती है। BF.7 वैरिएंट इस एंटीबॉडी को भी चकमा देकर शरीर में घुसने में सक्षम है। चीन में संक्रमण के हालात 2020 की याद दिला रहे हैं।

अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों का सैलाब आ गया है

Aquarius 18

तब से अब तक शी जिनपिंग सरकार ने इससे निपटने के लिए सख्त नियम लागू किए। जीरो कोविड पॉलिसी लाई गई। बेहद सख्त लॉकडाउन लगते रहे। तमाम दावों और वादों के बावजूद कोरोना कंट्रोल नहीं किया जा सका। चीन में जीरो-कोविड पॉलिसी के विरोध के बाद सरकार ने ढील दी और लॉकडाउन हटा दिया, लेकिन अब यहां स्थिति खराब होती नजर आ रही है। अस्पतालों में कोरोना संक्रमित मरीजों का सैलाब आ गया है। इतना ही नहीं, मेडिकल स्टाफ भी संक्रमित हो रहा है। कुछ डॉक्टर्स कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद मरीजों का इलाज कर रहे हैं।

चीन में कोरोना से मरने वालों की संख्या 5 लाख हो सकती है

चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि देश में आने वाले कुछ महीनों में कोविड 19 से 80 करोड़ लोग संक्रमित हो सकते है एनपीआर की रिपोर्ट कहती है कि चीन में कोरोना से मरने वालों की संख्या 5 लाख हो सकती है, लेकिन चीन का मौजूदा आधिकारिक आँकड़ा इस संख्या से बेहद कम है। चीन के अधिकारियों के मुताबिक़ मंगलवार को संक्रमण से केवल पाँच और सोमवार को दो मौतें हुईं। दरअसल, चीन जिस तरह से कोरोना की मौत को माप रहा है वह तरीक़ा विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानकों के विपरीत है।

जिसका संक्रमण चीन में अब तक की सबसे तेज़ रफ़्तार से बढ़ रहा है

Aquarius 17

चीन उन्हीं मौतों को कोविड से हुई मौत मान रहा है, जिनकी मौत सांस की बीमारी से हो रही है। चीन के अलावा जापान, दक्षिण कोरिया में भी कोरोना संक्रमण के मामले काफ़ी तेज़ी से बढ़ रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ भारत में तीन नए मामले ओमिक्रॉन के सब-वेरिएंट BF.7 के पाए गए हैं। ये वही वेरिएंट है जिसका संक्रमण चीन में अब तक की सबसे तेज़ रफ़्तार से बढ़ रहा है। चीन, अमेरिका, जापान , दक्षिण कोरिया और पेरिस में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री ने उच्च-स्तरीय समीक्षा बैठक की।

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने कहा है कि ” कोविड अभी ख़त्म नहीं हुआ है। हमने सभी ज़रूरी अधिकारियो को अलर्ट रहने और सर्विलांस मज़बूत करने को कहा है। “चीन में हो रहे भयंकर संक्रमण के कारण एक बार फिर दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के डर फैला है। चीन में अब तक की सबसे बड़ी कोविड-19 की लहर आई है।

अब मथुरा में सर्वे के आदेश, दावा-मस्जिद के नीचे मंदिर:कोर्ट ने 20 जनवरी तक रिपोर्ट मांगी, हिंदू पक्ष बोला- औरंगजेब ने ईदगाह बनवाई