संजय राउत ED की हिरासत में 9 घंटे की पूछताछ के बाद कार्रवाई

 संजय राउत ने किसी घोटाले से कोई लेना-देना नहीं

संजय राउत ED की हिरासत में 9 घंटे की पूछताछ के बाद कार्रवाई

संजय राउत को 9 घंटे की पूछताछ के बाद ED ने हिरासत में ले लिया है। भांडुप में उनके बंगले मैत्री पर सुबह सात बजे से ED की टीम पहुंची थी। 10 अफसरों ने राउत और उनके विधायक भाई सुनील राउत के कमरों की तलाशी ली। टीम ने उनसे और उनके परिवार वालों से पूछताछ की। कहा गया है कि राउत राउत जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे।

मीराबाई चानू ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 बर्मिंघम में जीता भारत का पहला सोना

राउत पर यह कार्रवाई महाराष्ट्र के 1034 करोड़ के पात्रा चॉल जमीन घोटाला मामले में की गई है। हिरासत के बाद उन्हें ED दफ्तर ले जाया जा सकता है। ED दफ्तर पर पुलिस तैनात की गई है। राउत को 27 जुलाई को ED ने तलब किया था, लेकिन वे पेश नहीं हुए थे।

ED ने रविवार को राउत का दादर वाला फ्लैट सील कर दिया है। आरोप है कि संजय राउत ने पात्रा चॉल जमीन घोटाले के पैसे से यह फ्लैट खरीदा था। ED की टीम राउत के अलावा उनके दो करीबियों के घर भी पहुंची है। वहां भी जांच-पड़ताल की जा रही है।ED की कार्रवाई शुरू होने के बाद संजय राउत ने किसी घोटाले से कोई लेना-देना नहीं है।

मैं शिवसेना प्रमुख बालासाहेब ठाकरे की शपथ लेकर यह कह रहा हूं। बालासाहेब ने हमें लड़ना सिखाया है। मैं शिवसेना के लिए लड़ना जारी रखूंगा। यह झूठी कार्रवाई है। झूठा सबूत है। मैं शिवसेना नहीं छोड़ूंगा। मैं मर भी जाऊं तो समर्पण नहीं करूंगा।

संजय राउत के खिलाफ चल रही ED की जांच

संजय राउत ED की हिरासत में 9 घंटे की पूछताछ के बाद कार्रवाई

संजय राउत के घर पर ED के छापे पर महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा- अगर राउत ने कुछ गलत नहीं किया है तो डर क्यों रहे हैं? वह MVA के बड़े नेता थे। ED ने पहले भी जांच की थी। अगर ED केंद्र सरकार के डर से काम करता है तो सुप्रीम कोर्ट को इस पर कार्रवाई करनी चाहिए।

ED के डर से हमारे साथ जुड़ने की बात कह रहा है तो मेरी बिनती है मत आओ हमारे साथ। हम दबाव डाल किसी को नहीं बुला रहे। हमारे साथ जो लोग जुड़े उन पर कोई दबाव नहीं।पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि आज संजय राउत गिरफ्तार हो सकते हैं। सामना में जो उन्होंने रोक-ठोक नाम से लेख लिखा है उसमें कई सवाल खड़े किए थे। यह सारी कारस्तानी सारी लाज शर्म छोड़कर निर्लज्जता से चली रही है। ये दमन शाही नीति है। हिंदुत्व को लेकर अगर किसी में बोलने की हिम्मत थी तो वो बाल साहब ठाकरे ही एक मर्द थे ।

संजय राउत के खिलाफ चल रही ED की जांच पर कांग्रेस ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष नाना पटोले ने कहा कि मोदी सरकार के खिलाफ जो बोलता है, उस पर कार्रवाई की जाती है। ये कार्रवाई अंग्रेजों के कदमों पर चलना है। राउत को ब्लैकमेल करने के लिए कार्रवाई की गई है। ED पर दबाव बनाकर ये कार्रवाई हुई है, लेकिन आने वाले चुनाव में जनता इन्हें सबक सिखाएगी।

11 करोड़ की संपत्ति हो चुकी जब्त

संजय राउत ED की हिरासत में 9 घंटे की पूछताछ के बाद कार्रवाई

यह मामला मुंबई के गोरेगांव इलाके में पात्रा चॉल से जुड़ा है। यह महाराष्ट्र हाउसिंग एंड एरिया डेवेलपमेंट अथॉरिटी का भूखंड है। इसमें करीब 1034 करोड़ का घोटाला होने का आरोप है। इस केस में संजय राउत की नौ करोड़ रुपए और राउत की पत्नी वर्षा की दो करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त हो चुकी है।

भूखंड पर 3000 फ्लैट बनाने का काम मिला था। इनमें से 672 फ्लैट पहले से यहां रहने वालों को देने थे। शेष MHADA और उक्त कंपनी को दिए जाने थे, लेकिन साल 2011 में इस विशाल भूखंड के कुछ हिस्सों को दूसरे बिल्डरों को बेच दिया गया था।

ED की टीम इसी बात की जांच कर रही है कि ये ट्रांजेक्शन क्यों किया गया। आरोप है कि संजय राउत ने इसी पैसों से दादर में एक फ्लैट खरीदा था। प्रवीण राउत गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन प्राइवेट लिमिटेड के पूर्व निदेशक हैं।
स्वप्ना पाटकर को सुरक्षा देगी मुंबई पुलिस

पात्रा चॉल केस में संजय राउत पर आरोप लगाने वालीं मराठी फिल्म प्रोड्यूसर स्वप्ना पाटकर को मुंबई पुलिस सुरक्षा देगी। स्वप्ना का आरोप है कि उसे पत्र प्राप्त मिला है, जिसमें पात्रा चॉल मामले में संजय राउत के खिलाफ अपना बयान वापस लेने के लिए दबाव डाला गया है। पुलिस इस केस में FIR भी कर सकती है।

10th Pass Government Job In Delhi 2022 – AEES 205 Teacher Recruitment In Delhi 2022 Notification, Vacancy