अखिल भारतीय मां नर्मदा सेवा संघ 17 जुलाई को वृक्षारोपण महायज्ञ करेगा

वृक्षारोपण

अखिल भारतीय मां नर्मदा सेवा संघ 17 जुलाई को वृक्षारोपण महायज्ञ करेगा

वृक्षारोपण: नई दिल्ली – अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ मां नर्मदा को आधार मानकर सनातन संस्कृति धर्म प्राकृति जलस्रोतों स्वच्छता सेवा साधना गौवंश गुरूकुल पर्यावरण शिक्षा आदि विषयों पर संकल्पित सेवा साधक सनातनियों का संगठन है| अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ द्वारा हरियाली अमावस्या 17 जुलाई 2023 को वृक्षारोपण महायज्ञ मनायेगा| हरियाली अमावस्या से अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के पदाधिकारी वालेंटियर्स सहयोगी सभी वृक्षारोपण महायज्ञ करेंगे|

👉 ये भी पढ़ें 👉:- अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ ने 21 जून अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को पर्व के रूप में मनाया

अखिल भारतीय

अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के पदाधिकारी, सदस्य, वालेंटियर्स, सहयोगी देव के सभी राज्यों के साथ विदेश में भी हैं| सभी स्थानों पर वृक्षारोपण महायज्ञ किया जायेगा| अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ ने पिछले वर्ष से हरियाली अमावस्या को अपना त्यौहार मानते हुए हरियाली अमावस्या में वृक्षारोपण महायज्ञ की शुरुआत की है| पिछले वर्ष संगठन के पदाधिकारी, वालेंटियर्स, सदस्यों ने 28 राज्यों में वृक्षारोपण महायज्ञ किया था| त्रिपुरा, जम्मू-कश्मीर जैसे केंद्र शासित प्रदेशों में भी वृक्षारोपण कार्य किया गया था|

👉 ये भी पढ़ें 👉:- IPS संजय सिंह,को ‘पुलिस लाइफ अचीवमेंट’अवार्ड से सम्मानित किया गया

ANIV विंग

अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ का एन आर आई विंग भी है | जिससे विदेशों में भी वृक्षारोपण महायज्ञ किया गया था| अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के पर्यावरण विंग द्वारा हरियाली अमावस्या में वृक्षारोपण महायज्ञ किया जाता है| इसका उद्देश्य है कि धरती माता भरी हो, लोग ये समझ सकें कि हमारे पूर्वजों ने हरियाली अमावस्या को हो tree planting करने का दिन क्यों चुना| विश्व समुदाय को भी यह जानकारी होनी चाहिए कि सनातन में प्राकृति के लिए भी त्यौहार मनाया जाता है|

बिना मानव जीवन संभव नहीं

वृक्षारोपण
अखिल भारतीय मां नर्मदा सेवा संघ 17 जुलाई को वृक्षारोपण महायज्ञ करेगा

पर्यावरण के लिए सनातनी लाखों वर्षों से चिंतन करते रहे हैं| प्राकृति, जलस्रोतों की पूजा करते हैं| क्योंकि इनके बिना मानव जीवन संभव नहीं है| अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के पर्यावरण विंग द्वारा हरियाली अमावस्या 17 जुलाई 2023 से हरियाली अमावस्या दिन सोमवार से वृक्षारोपण महायज्ञ का श्रीगणेश करेगा| यह महायज्ञ लगातार एक सप्ताह तक चलेगा| अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ का संकल्पित लक्ष्य है कि विश्व के प्रत्येक व्यक्ति जब-तक tree planting महायज्ञ में शामिल नहीं होता है तब तक आने वाली पीढ़ी का भविष्य सुरक्षित नहीं होगा|

👉 👉 Visit :- samadhan vani

मातृशक्ति विंग

अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ के सभी विंग मातृशक्ति विंग – नर्मदा वाहिनी, पर्यावरण विंग, सेवा विंग, यूथ विंग – चिरंजीवी वालेंटियर्स, परिक्रमावासी विंग, परिक्रमा मार्ग विंग, स्वच्छता जाग्रति विंग, गुरुकुल विंग, गौसेवा विंग, शास्त्र प्रचार प्रसार विंग, संस्कृति विंग, एन आर आई विंग के पदाधिकारी, सदस्य, वालेंटियर्स, कार्यकर्ता प्रत्यक्ष लोगों से मिलकर और सोशल मीडिया के माध्यम से महायज्ञ में शामिल होने की अपील कर रहे हैं|

वृक्षारोपण महायज्ञ

अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ पूर्व से पश्चिम, उत्तर से दक्षिण तक देश के सभी राज्यों में एक सप्ताह तक महायज्ञ करेगा| इस महायज्ञ में समाज के सभी वर्गों, बच्चे, युवा, मातृशक्ति, प्रौढ़, वृध्द, आर्थिक, समाजिक, राजनीतिक, प्रशासनिक, अध्यात्मिक, कृषि सहित सभी क्षेत्रों की सहभागिता की अपील अखिल भारतीय मां नर्मदा परिक्रमा सेवा संघ द्वारा किस गया है|

Post Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.