Homeदेश की खबरेंचीर हरण कर नग्न तो पहले ही कर दिया, अब गन्दगी भी---?

चीर हरण कर नग्न तो पहले ही कर दिया, अब गन्दगी भी—?

आचीर हरण कर नग्न तो पहले ही कर दिया, अब गन्दगी भी—?

गन्दगी

ग्रेटर नोएडा। बिसरख।
थाना बिसरख क्षेत्रान्तर्गत धन लोभी दुश्शासनों ने हरिनन्दी अर्थात हिण्डन नदी के तटों को पाटकर, छोटे -छोटे आवासीय भू-खण्डों की घनी आबादी तो पहले ही बसा दी है, अब विश्वस्त सूत्रों एव प्राप्त साक्ष्यों से ज्ञात हुआ है कि, शिवम एन्क्लेव, निकट हनुमान मन्दिर पुराना हैबतपुर निवासी शिवजी, शैलेश शर्मा, सुधीर झा एव सिकन्दर पानी वाला मिलकर, समस्त आबादी की टॉयलेट गन्दगी पाइप डालकर सीधे हरिनन्दी अर्थात हिण्डन में बहाने की तैयारी जोर- शोर से चल रही है।

रुद्राक्ष की उत्पत्ति भोलेनाथ के आंसूओं से हुई

सूत्रों द्वारा थाना बिसरख पुलिस को सूचित किया गया था

विश्वस्त सूत्रों से ज्ञात है कि, उक्त के संदर्भ में स्थानीय सूत्रों द्वारा थाना बिसरख पुलिस को सूचित किया गया था, थाना बिसरख पुलिस ने तत्परता दिखाते हुये, मौके पर पहुँची भी किन्तु कदाचित, पाइप लाइन बिछाने वाले ठेकेदारों को रोकने नहीं बल्कि, अपना हिस्सा लेकर पाइप लाइन बिछाने का काम रात दिन तेजी से चलवाने का सुझाव देने। वैसे, सुस्त न्याय प्रक्रिया के चलते पुलिस से तेज गति से न्याय की कल्पना करना मूर्खतापूर्ण विचार से ज्यादा कुछ नहीं है

जो कानून हित में पुलिस पर भरोसा करते हैं

गन्दगी

बल्कि, हरिनन्दी नदी के स्थानीय शुभ चिंतकों को सुझाव है जो कानून हित में पुलिस पर भरोसा करते हैं उनका काल नज़दीक होता है, बड़े बड़े माफ़ियाओं, गुंडों व सभ्य समाज के बीच रहने वाले असभ्य ठेकेदारों के विरुद्ध पुलिस को मुखबरी करने वाले दिन दहाड़े गोली से मारे जाते हैं। उदाहरण के लिये, राजू पाल हत्या काण्ड के चश्मदीद उमेश पाल हत्या काण्ड से सीखें, इतना काफी नहीं है तो,

वो भला समाज व सरकार के साथ क्या न्याय करेगी?

गन्दगी

कानपुर वाले विकास दुबे वाले प्रकरण में 8 पुलिस वालों की हत्या में गोली भले ही विकास दुबे के गुर्गों ने चलाई हो किन्तु, विश्वासघात का बारूद पुलिस ने ही भरा था। जरा सोचिये, जो पुलिस स्वयं के साथ न्याय न कर सकी हो वो भला समाज व सरकार के साथ क्या न्याय करेगी? बहराल, सभ्य समाज ने हरिनन्दी के वस्त्र हरण कर, कीचड़ में लपेटने की पूरी तैयारी हो चुकी है, पुलिस अपना हिस्सा ले चुकी है,

उक्त ठेकेदारों से अपना अपना हिस्सा लें

गन्दगी

जिला प्रशासन एव प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड इत्यादि का बेसब्री से इन्तजार है, आयें अपना हिस्सा लें और नदी जो कभी भारतीय संस्कृति का हिस्सा हुआ करती थी, पूजा अर्चना की जाती थी, उक्त ठेकेदारों से अपना अपना हिस्सा लें और, हिण्डन में गन्दगी बहाने में अपना अमूल्य सहयोग करें।

डा0वी0के0सिंह।
(वरिष्ठ पत्रकार)

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments