Homeदेश की खबरेंसीटू कार्यकर्ताओं ने शहीद ए आजम Bhagat Singh, सुखदेव व राजगुरु का...

सीटू कार्यकर्ताओं ने शहीद ए आजम Bhagat Singh, सुखदेव व राजगुरु का शहीदी दिवस 23 मार्च को “लोकतंत्र बचाओ दिवस” के रूप में मनाया

नोएडा, महान क्रांतिकारी राजगुरु, Bhagat Singh, सुखदेव का शहीदी दिवस 23 मार्च 2024 सीटू जिला कमेटी गौतम बुध नगर के कार्यकर्ताओं ने लोकतंत्र बचाओ, देश बचाओ दिवस के रूप में मनाया।

शहीद ए आजम Bhagat Singh

इस अवसर पर सीटू नेता रामसागर, हुकम सिंह, सुनील पंडित, राम स्वारथ, गंगेश्वर दत्त शर्मा, मुकेश कुमार राघव, रंजीत तिवारी आदि के नेतृत्व में मजदूर बस्ती सेक्टर- 8, नोएडा बरौला सेक्टर- 49, भंगेल फेस-2, वाइबो कास्टिक कंपनी फेस- 2, नोएडा, अनमोल इंडस्ट्रीज उद्योग विहार ग्रेटर नोएडा, एक्सीडेंट टूल्स उद्योग केंद्र ग्रेटर नोएडा आदि विभिन्न मजदूर बस्तियों व कम्पनियों के गेटों पर कार्यक्रम आयोजित कर शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

Bhagat Singh
Bhagat Singh

इस अवसर पर कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि हमारे देश को ब्रिटिश साम्राज्य से आजाद करवाने में जो अनगिनत कुर्बानियां दी गई उनमें अमर शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को घर-घर में जाना जाता है। ये तीनों शहीद से आज भी हमें इंकलाब की प्रेरणा देते हैं।

शहीदी दिवस 23 मार्च को “लोकतंत्र बचाओ दिवस” के रूप में मनाया

93 वर्ष पूर्व 23 मार्च 1931 को उन्हें अंग्रेजों ने फांसी दी थी। उन्हें याद करते हुए हम कभी नहीं भूलते कि उनका लक्ष्य पूंजिपति राज की बजाय कमेरे वर्गों का राज स्थापित करने वाली क्रांति लाना था। एक ऐसा सिस्टम जहां आर्थिक, सामाजिक, धार्मिक, भाषा, जाति, लिंग के आधार पर किसी भी प्रकार के शोषण व भेदभाव की अनुमति नहीं हो।

यह भी पढ़ें:संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर ग्रेटर नोएडा भट्टा पारसौल गांव में किसान सभा ने भगत सिंह, राजगुरु सुखदेव का Martyrs Day save Democracy Day के रूप में मनाया

ऐसे महान शहीदों और किसान- मजदूरों के कठिन संघर्षों से हमें जो आजादी और लोकतांत्रिक अधिकार व मूल्यबोध प्राप्त हुए थे, गत 75 सालों से उन्हें एक पर एक नष्ट किया जा रहा है। पिछले 10 सालों में तो हद कर दी। कॉरपोरेट – पूंजीपतियों के साथ भाजपा शासन अपराधतंत्र और सांप्रदायिकता के भ्रष्ट गठजोड़ के रूप में देश को बर्बादी के कगार पर ले आया है।

Bhagat Singh
Bhagat Singh

आर्थिक गैर – बराबरी का आलम यह है कि किसान- मजदूर कर्ज में डूब कर आत्महत्या कर रहे हैं । करोड़ों युवा रोजगार के लिए दर दर की ठोकरें खा रहे हैं। दूसरी तरफ मुट्ठी भर बड़े पूंजीपतियों को राष्ट्रीय संपत्तियों के बड़े हिस्से पर कब्जा करने की छूट दे दी गई है।

यह भी पढ़ें:शहीद दिवस 2024: शहीद दिवस पर साझा करने के लिए Bhagat Singh द्वारा शुभकामनाएं, संदेश और 10 उद्धरण

संयुक्त किसान मोर्चा शक्तिशाली आंदोलन

बदले में वे भाजपा को चुनावी बौंड के बहाने जिस तरह चोर दरवाजे से अरबों रु देते रहे हैं, उसका भंडार फोड़ हो चुका है। कृषि क्षेत्र को भी कारपोरेट के हाथों में सौंपने के षड्यंत्र हो रहे हैं जिसके खिलाफ देश का संयुक्त किसान मोर्चा शक्तिशाली आंदोलन कर रहा है।

लोकतांत्रिक अधिकारों, धर्मनिरपेक्ष सोच और जन आंदोलन की एकता को खत्म करके देश में तानाशाही शासन थोपा जा रहा है। जनता के बीच सांप्रदायिक और जात-पात की नफरत फैला कर भाजपा शासन अंग्रेजों की तरह “फूट डालो– राज करो” की नीति पर चल रहा है। ‌ क्या Bhagat Singh और हमारे सभी शहीदों ने इसीलिए अपने जीवन की कुर्बानियां दी थी?

Visit:  samadhan vani

Bhagat Singh
Bhagat Singh

उन्होंने कहा कि आज हम सब का कर्तव्य बनता है कि देश में संवैधानिक व लोकतांत्रिक अधिकारों और रोजी- रोटी पर जो हमले हो रहे हैं, उन्हें विफल करने के लिए भाजपा को गांव- मोहल्लों से अलग थलग करके किसानों-मजदूरों, कर्मचारियों, छात्र- युवाओं , महिलाओं के साथ विश्वासघात करने का सबक सिखाया जाए, उसे कड़ी सजा दी जाए।

सीटू जिला महासचिव रामसागर ने कहा कि आज समाज के सभी तबके मिल कर 23 मार्च के शहीदी दिवस को गांव-गांव में “लोकतंत्र बचाओ दिवस” के रूप में मनाते हुए देश में इस नाजुक मोड़ पर बुनियादी बदलाव करने का संकल्प लें रहे हैं।

गंगेश्वर दत्त शर्मा
जिलाध्यक्ष

राम सागर
महासचिव
सीटू जिला कमेटी गौतम बुध नगर।
9811595701 -9899847783

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Most Popular

Recent Comments