किसान आंदोलन:जनवादी महिला समिति द्वारा दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन

किसान आंदोलन

किसान आंदोलन:जनवादी महिला समिति द्वारा दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन

प्रेस रिलीज- किसान आंदोलन: जनवादी महिला समिति द्वारा दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन में ग्रेटर नोएडा के किसानों का मुद्दा प्रमुखता से उठाया गया

ग्रेटर नोएडा, किसान आंदोलन: आज धरने के 92 वें दिन प्राधिकरण के भ्रष्ट अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करने का प्रस्ताव पास किया गया- सर्किल रेट के रिवीजन पर एडीएम फाइनेंस के नेतृत्व में बनी कमेटी में किसान सभा ने रखा अपना पक्ष- आज धरने के 92 वें दिन धरने की अध्यक्षता ब्रह्म सिंह नंबरदार इटेड़ा ने की और संचालन सतीश यादव ने किया धरने को किसान सभा के प्रवक्ता डॉ रुपेश वर्मा ने संबोधित करते हुए कहा कि प्राधिकरण में भ्रष्टाचार व्याप्त है यह बात सभी जानते हैं

प्राधिकरण में व्याप्त भ्रष्टाचार

किसान आंदोलन: प्राधिकरण के कर्मचारी और अधिकारी किसानों से भी रिश्वत मांगते हैं और उनका बुरी तरह शोषण करते हैं प्राधिकरण के नए मुख्य कार्यपालक अधिकारी से हमें पूरी आशा है कि वह प्राधिकरण में व्याप्त भ्रष्टाचार को दूर करने का काम करेंगे और दोषी अधिकारियों और कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई करेंगे इस संबंध में डॉ रुपेश वर्मा ने धरने पर उपस्थित सैकड़ों किसानों के समक्ष भ्रष्टाचार के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करने के प्रस्ताव को रखा

👉 ये भी पढ़ें👉: किसान सभा:आज धरने पर हजारों की संख्या में उपस्थित किसानों ने जबरदस्त नारेबाजी की

जिसे सभी ने सर्वसम्मति से पास किया डॉ रुपेश वर्मा ने सभा में सभी को आगाह करते हुए कहा कि दलालों से सावधान रहें दामों में दलाल सक्रिय हो गए हैं वह आपको ठगने का काम कर सकते हैं इसलिए किसी को भी एक पैसा ना दें।

किसान आंदोलन
किसान आंदोलन:जनवादी महिला समिति द्वारा दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन

किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नागर

किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नागर ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि किसानों की 10% आबादी प्लाट 40 वर्ग मीटर का भूमिहीनों का प्लाट नए कानून के अनुसार सर्कल रेट का 4 गुना मुआवजा एवं पुनर्वास के अंतर्गत 20% विकसित प्लाट और परिवार के प्रत्येक बालिग सदस्य को अनिवार्य रोजगार की मांग के लिए आंदोलन लगातार आज 92 वें दिन भी चल रहा है किसानों की संख्या लगातार बढ़ रही है प्राधिकरण के अधिकारियों से भी लगातार मुद्दों पर चर्चा चल रही है

माननीय सांसद सुरेंद्र नागर

किसान आंदोलन: प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी का रुख समस्याओं को लेकर पॉजिटिव है माननीय सांसद सुरेंद्र नागर और माननीय विधायक धीरेंद्र सिंह को साथ लेकर प्राधिकरण के अधिकारियों से बातचीत प्रस्तावित है जिसके शीघ्र ही संपन्न होने की संभावना है तब तक आंदोलन शांतिपूर्ण चलता रहेगा किसान सभा के सचिव जगबीर नंबरदार ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि आंदोलन मुद्दों पर आरपार के मकसद से शुरू किया गया था आंदोलन के प्राधिकरण स्तर के मुद्दों को हल करने पर सहमति बन गई है कुछ मुद्दों पर कार्रवाई हो गई है कुछ पर कार्रवाई प्रगति में है और कुछ पर कार्रवाई अभी लंबित है

👉 ये भी पढ़ें👉: प्रदेश के प्राचीन धरोहर भवनों का कायाकल्प करेगी योगी सरकार

किसान आंदोलन

किसान आंदोलन: सभी मुद्दों को हल करके ही धरना समाप्त होगा धरने में हर रोज हजारों की संख्या में किसान शामिल हो रहे हैं किसान आंदोलन जन आंदोलन के रूप में विकसित हो गया है सरकार को समस्याएं हल करने होंगे अन्यथा सरकार को इसकी राजनीतिक कीमत चुकानी पड़ेगी किसान सभा के उपाध्यक्ष ब्रह्मपाल सूबेदार ने कहा की गौतम बुद्ध नगर के किसानों का भयंकर शोषण किया गया है उन्हें कानूनी लाभों से वंचित किया गया है समझौता का उल्लंघन कर उनकी हकमारी की गई है किसानों में भारी आक्रोश है

किसान अपने आप को उपेक्षित और उत्पीड़ित मानते हैं इसलिए धरने में हजारों की संख्या में किसान उपस्थित हो रहे हैं सरकार और प्राधिकरण के पास समस्याओं को हल करने के अलावा कोई चारा नहीं है।

जय जवान जय किसान

जय जवान जय किसान आंदोलन के नेता सुनील फौजी ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि नए कानून को लागू कराने के प्रति धरना प्रदर्शन प्रतिबद्ध है इस हेतु किसान आंदोलन का प्रतिनिधिमंडल एडीएम फाइनेंस के यहां सर्किल रेट के रिवीजन के लिए आयोजित बैठक में हिस्सा लेकर अपनी बात रखेगा। 2012 से गौतम बुद्ध नगर में सर्किल रेट का रिवीजन नहीं हुआ है किसानों के शोषण करने के मकसद से ऐसा किया गया है जिससे कि उनकी जमीन का मुआवजा कम से कम दिया जा सके

जनवादी महिला समिति

यह भी गौरतलब है कि क्षेत्र में कॉलोनाइजर किसानों से 15000 रुपये में जमीन खरीद कर आगे कॉलोनी काट रहे हैं जबकि प्राधिकरण किसानों से ₹3500 वर्ग मीटर के रेट पर ही जमीन को हड़पना चाहता है यह नहीं चलेगा। आज धरना स्थल से ऑल इंडिया जनवादी महिला समिति के राष्ट्रीय सम्मेलन में सुरजीत भवन नई दिल्ली पर भाग लेने के लिए किसान सभा की ओर से तिलक देवी पूनम भाटी जोगेंद्रीं, गीता भाटी रीना, सविता, पिंकी आदि

किसान आंदोलन
किसान आंदोलन:जनवादी महिला समिति द्वारा दिल्ली में आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन

किसान आंदोलन: दर्जनों महिलाएं भाग लेने पहुंची और सम्मेलन में ग्रेटर नोएडा की महिला किसान नेता वंदना सिंह व तिलक देवी ने भूमि अधिग्रहण से प्रभावित और किसानों के विभिन्न मुद्दों/ समस्याओं को रेखांकित किया साथ उन्होंने यह भी बताया कि पिछले तीन माह से लगातार ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर धरना चल रहा है और धरने में महिलाएं महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं। सम्मेलन में नोएडा से सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा व जनवादी महिला समिति की नेता आशा यादव चंदा बेगम रेखा चौहान गुड़िया देवी किरण देवी भारती गुप्ता लता सिंह के नेतृत्व में कई दर्जन महिलाओं ने हिस्सा लिया।

👉 👉 Visit: samadhan vani

धरने पर कई दर्जन महिलाओं ने हिस्सा लिया

किसान आंदोलन: आज धरने पर राजवीर सिंह भाटी और सतीश यादव ने क्रांतिकारी गीत और रागनी पेश की आज धरने पर सुशांत भाटी प्रशांत भाटी नरेंद्र भाटी जिला अध्यक्ष, किसान सभा, मोनू मुखिया, श्याम सिंह भाटी प्रधान पाली, यतेंद्र मैनेजर, बीरन भाटी मायचा, प्रीतम सिंह नागर, लाला नागर, सत्येंद्र , हरेंद्र, निरंकार प्रधान, निशांत रावल, गवरी मुखिया, सुरेश यादव, प्रवीण त्यागी ज्ञान प्रकाश त्यागी, ओमवीर त्यागी, भारत सिंह प्रधान, राजीव नागर,

जयकरण सिंह भाटी, देवेंद्र भाटी, संजय भाटी, राजू पल्ला, अजी पाल भाटी महेश प्रजापति शेखर प्रजापति, राजवीरी जोगेंदरी प्रेमवती और हजारों की संख्या में किसान उपस्थित रहे। भवदीय, डॉक्टर रुपेश वर्मा, प्रवक्ता अखिल भारतीय किसान सभा, गौतम बुध नगर।

Post Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.