ग्रेनो प्राधिकरण पर किसान सभा का 97 वें दिन भी धरना जारी

ग्रेनो प्राधिकरण

ग्रेनो प्राधिकरण पर किसान सभा का 97 वें दिन भी धरना जारी

ग्रेनो प्राधिकरण पर किसान सभा का 97 वें दिन भी धरना जारी रहा वही नोएडा के किसानों ने विधायक कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया- गंगेश्वर दत शर्मा

ग्रेनो प्राधिकरण: गौतमबुद्धनगर, गोल्डन गोल्डन फेडरेशन ऑफ़ आरडब्ल्यूएन ने किसान सभा के धरना स्थल पर आकर किसान सभा के नेताओं का स्वागत किया- आज ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर किसान सभा के धरने को 97 वां दिन था धरने की अध्यक्षता बसंती देवी ने की धरने का संचालन सतीश यादव ने किया धरने पर लगभग 12 बजे गोल्डन फेडरेशन ऑफ आरडब्ल्यूए के पदाधिकारी अध्यक्ष देवेंद्र टाइगर महासचिव दीपक भाटी आलोक नागर देवराज नागर एवं अन्य कार्यकारिणी सदस्यों के साथ पहुंचे।

👉ये भी पढ़े👉: किसान सभा:94 वें दिन धरने पर बैठी महिलाओं ने नाच गा कर मनाया हरियाली तीज

ग्रेनो प्राधिकरण: फेडरेशन के पदाधिकारी

ग्रेनो प्राधिकरण
ग्रेनो प्राधिकरण पर किसान सभा का 97 वें दिन भी धरना जारी

फेडरेशन के पदाधिकारी ने धरना स्थल पर मौजूद किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नागर जगदीश नंबरदार डॉक्टर रुपेश वर्मा एवं अन्य किसान सभा के लोगों का गुलदस्ता और पगड़ी पहनकर स्वागत किया धरने को संबोधित करते हुए देवेंद्र टाइगर ने कहा की प्लाटों पर पेनल्टी का मुद्दा वर्षों से लंबित था किसान सभा के साथियों ने लड़कर किसानों के प्लाटों पर पेनल्टी को माफ करवाया है इसलिए हमारा कर्तव्य है कि हम अपने ऐसे साथियों का हौसला बढ़ाए और उनका स्वागत करें।

महासचिव दीपक भाटी

ग्रेनो प्राधिकरण: इसी क्रम में महासचिव दीपक भाटी आलोक नागर और देवराज नागर ने भी अपने विचार प्रकट किए और किसानों के धरने को संबोधित किया आज धरने को संबोधित करते हुए किसान सभा के प्रवक्ता डॉ रुपेश वर्मा ने कहा कि किसान सभा के नौजवानों की कमेटी सुशांत भाटी प्रशांत भाटी अमित भाटी मोनू नागर अभय भाटी के नेतृत्व में क्षेत्र में 22 अगस्त के नौजवानों के रोजगार के मुद्दे को लेकर होने वाले धरना प्रदर्शन के लिए प्रचार में जुटी हुई है

👉ये भी पढ़े👉: 22 अगस्त को क्षेत्र के नौजवान बेरोजगारी के मुद्दे पर जुलूस निकालकर करेंगे धरना प्रदर्शन

किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नागर

ग्रेनो प्राधिकरण: 22 अगस्त को बड़ी संख्या में नौजवान प्राधिकरण पर पहुंचकर रोजगार के मुद्दे पर अपना धरना प्रदर्शन करेंगे और अधिग्रहण से प्रभावित गांवों के नौजवानों के लिए रोजगार की मांग को बुलंद करेंगे। किसान सभा के संयोजक वीर सिंह नागर ने धरने को संबोधित करते हुए कहा कि किसान सभा की लड़ाई निर्णायक मोड़ में है जल्दी ही प्राधिकरण के स्तर पर बातचीत होनी है बातचीत में आंदोलन के पहले चरण में किसानों और सरकार के बीच में मध्यस्थ रहे सांसद सुरेंद्र नगर को शामिल किया जाना है और मुद्दों पर निर्णायक फैसले लिए जाने हैं

ग्रेनो प्राधिकरण
ग्रेनो प्राधिकरण पर किसान सभा का 97 वें दिन भी धरना जारी

किसान सभा के सचिव जगबीर नंबरदार

ग्रेनो प्राधिकरण: किसान सभा के सचिव जगबीर नंबरदार ने कहा कि लड़ाई हमने अपने बलबूते शुरू की है और लड़ाई को किसान अपने बलबूते पर ही जीत कर दम लेंगे आज किसान सभा के धरने को जगदीश नंबरदार हरेंद्र सुरेश यादव अजी पाल भाटी महेश प्रजापति दुष्यंत सेन शेखर सेन रणवीर मास्टर जी यतेंद्र मैनेजर ब्रह्मपाल सूबेदार हरेंद्र खारी मोहित भाटी दीपक नागर रमेश नागर सलेक यादव गवरी मुखिया बुधपाल यादव तिलक देवी जोगेंद्री गीता भाटी प्रेमवती फूलवती संतरा शरबती हरबती ब्रह्मवती ने संबोधित किया वक्ताओं ने आंदोलन के प्रमुख चार मुद्दों 10% आबादी प्लाट, भूमिहीनों के 40 वर्ग मीटर के प्लाट, रोजगार की नीति और नए कानून को लागू करा कर ही धरना खत्म करने का संकल्प लिया।

किसान नेता सुखबीर खलीफा

ग्रेनो प्राधिकरण: वही नोएडा के किसानों ने किसान नेता सुखबीर खलीफा के नेतृत्व में आज भाजपा विधायक पंकज सिंह के कार्यालय पर जोरदार प्रदर्शन किया। विधायक जी कार्यालय से गायब रहे किसान विधायक कार्यालय पर धरना देकर बैठ गए और कहा कि जब तक विधायक उनके बीच नहीं आएंगे धरना जारी रहेगा किसानों के अड़ियल रुख को देखकर विधायक जी को किसानों के बीच आकर किसानों की बात सुनाई पड़ी।

👉👉 Visit : samadhan vani

भाजपा सरकार

ग्रेनो प्राधिकरण: किसानों के समर्थन में प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे मजदूर नेता सीटू जिलाध्यक्ष गंगेश्वर दत्त शर्मा ने कहा कि गौतम बुध नगर के तीनों विधायकों और सांसद व राज्यसभा सांसद व भाजपा के नेताओं ने किसानों के साथ धोखा किया है लिखित समझौते होने के बाद भी किसानों की समस्याओं/ मांगों का समाधान नहीं किया गया इसी कारण जिले के किसान गुस्से में हैं और नोएडा व ग्रेटर नोएडा में कई महीने से आंदोलनरत हैं अगर किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं हुआ तो यह नाराजगी भाजपा सरकार को महंगी पड़ेगी और इसकी कीमत उन्हें चुकानी पड़ेगी।

Post Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.