Raksha Mantri दशहरा मनाने के लिए अरुणाचल प्रदेश में सैनिकों के साथ शामिल हुए

Raksha Mantri

Raksha Mantri दशहरा मनाने के लिए अरुणाचल प्रदेश में सैनिकों के साथ शामिल हुए

महा रक्षा 23 अक्टूबर, 2023 को, श्री राजनाथ सिंह अरुणाचल प्रदेश की अपनी यात्रा की तैयारी के लिए असम के तेजपुर पहुंचे, जहां वह दशहरा मनाएंगे और सेना के साथ शस्त्र पूजा करेंगे। Raksha Mantri ने अपने आगमन के बाद तेजपुर में 4 कोर के मुख्यालय में आयोजित बाराखाना के दौरान सैनिकों से मुलाकात की। सेना के चीफ ऑफ स्टाफ जनरल मनोज पांडे, पूर्वी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ (जीओसी-इन-सी) लेफ्टिनेंट जनरल आरपी कलिता, 4 कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल मनीष एरी, और अन्य उच्च पदस्थ अधिकारी उपस्थित थे।

Raksha Mantri

अपने भाषण में, श्री राजनाथ सिंह ने बड़ाखाना के विचार के लिए अपनी प्रशंसा व्यक्त करते हुए कहा कि यह सभी सामाजिक वर्गों के लोगों को एक ही परिवार के सदस्यों के रूप में भोजन साझा करने के लिए एकजुट करता है। उन्होंने टिप्पणी की, “यहां इस बाराखाने में बैठना दर्शाता है कि हम एक परिवार हैं और हम अपने राष्ट्र के संरक्षक हैं, न कि केवल अपनी स्थिति के।”

Raksha Mantri
कई राज्यों, धर्मों और मूल से आने के बावजूद, Raksha Mantri ने भारतीय सेना को भाईचारे और एकता का एक सच्चा उदाहरण कहा है क्योंकि वे एक ही बैरक और इकाई में एक साथ काम करते हैं और रहते हैं।

ये भी पढ़े: Dussehra 2023: विजयादशमी कब है? तिथि, इतिहास, पूजा मुहूर्त, महत्व, उत्सव

बलिदान और राष्ट्र की रक्षा

कई राज्यों, धर्मों और मूल से आने के बावजूद, Raksha Mantri ने भारतीय सेना को भाईचारे और एकता का एक सच्चा उदाहरण कहा है क्योंकि वे एक ही बैरक और इकाई में एक साथ काम करते हैं और रहते हैं। उन्होंने सशस्त्र बलों और उनके परिवारों के बलिदान और राष्ट्र की रक्षा के प्रति अटूट प्रतिबद्धता की सराहना की। उन्होंने घोषणा की कि राष्ट्र सदैव साहसी सेना का आभारी रहेगा।

ये भी पढ़े: पौराणिक कथाओं से धन प्रबंधन तक: Vijayadashami से इन 6 महत्वपूर्ण वित्तीय सबक को समझें

Raksha Mantri
Raksha Mantri:संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में भारतीय सैनिकों द्वारा निभाई गई भूमिका के बारे में भी बात की, जो दुनिया के कई क्षेत्रों में सुरक्षा और शांति बनाए रखती है।

श्री राजनाथ सिंह

Raksha Mantri श्री राजनाथ सिंह ने इस बात पर भी जोर दिया कि कैसे दुनिया भारतीय सेना की बहादुरी और समर्पण को स्वीकार करती है। उन्होंने आगे कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व में भारत की प्रगति का एक प्राथमिक कारण देश की शक्तिशाली और बहादुर सेना रही है। उन्होंने कहा कि 2027 तक भारत की अर्थव्यवस्था दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में शुमार होगी।

Visit:  samadhan vani

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान

Raksha Mantri ने इटली की अपनी हालिया यात्रा को याद किया, जहां उन्होंने मोंटोन मेमोरियल (पेरुगिया प्रांत) का दौरा किया, जिसका निर्माण हाल ही में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान इतालवी अभियान में भाग लेने वाले नाइक यशवंत घाडगे और अन्य भारतीय सैनिकों के सम्मान में किया गया था, और उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी। . उन्होंने संयुक्त राष्ट्र के शांति अभियानों में भारतीय सैनिकों द्वारा निभाई गई भूमिका के बारे में भी बात की, जो दुनिया के कई क्षेत्रों में सुरक्षा और शांति बनाए रखती है।

Post Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.