शांति की घोषणा और युद्ध की समाप्ति का सातवां वार्षिक समारोह

शांति

शांति की घोषणा और युद्ध की समाप्ति का सातवां वार्षिक समारोह

लोगों के दैनिक जीवन को बदलने वाली संस्था के रूप में शांति

शांति

लोगों के दैनिक जीवन को बदलने वाली संस्था के रूप में शांति: संस्थागत शांति विश्वास बनाने के लिए संसार को मजबूत करने के विषय के तहत एक अंतरराष्ट्रीय (एनजीओ) संस्कृति विश्व शांति प्रकाश की बहाली ( hwpl) ने अफ्रीका यूरोप उत्तरी अमेरिका और एशिया के 41 देशों में 14 से 19 मार्च तक शांति की घोषणा और युद्ध की समाप्ति (डीसीपीडब्ल्यू) के अपने साथ में वार्षिक समारोह का आयोजन किया।

रुद्राक्ष की उत्पत्ति भोलेनाथ के आंसूओं से हुई

एशिया के 41 देशों में 14 से 19 मार्च तक शांति की घोषणा

शांति

वैश्विक शांति निर्माण सहयोग के लिए एक उपकरण के रूप में शांति की घोषणा और युद्ध की (डी पीसीडब्ल्यू ) शामिल होंगे जहां प्रतिभागी एक सर्व भौमिक संस्कृति और आदर्श के रूप में शांति को संस्थागत बनाने के लिए संघर्ष की रोकथाम मध्यस्था और संकल्प के मामलों को साझा करेंगे। इसमें 10 अंकित लेख और 38 शामिल है इसका उद्देश्य उस भावना को मेल करना है जो संयुक्त राष्ट्र की स्थापना के आधार के रूप में कार्य करती है

समाज के बीच शांति मैत्रीपूर्ण संबंध समृद्धि खुशी का संदेश है

शांति

और वैश्विक समुदाय के सर्व भौमिक समुदाय को बढ़ावा देकर स्थाई शांति प्राप्त करना अंतरराष्ट्रीय कानून के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉक्टर मोहम्मद नजरुल इस्लाम जोधा का विश्वयुद्ध विश्वविद्यालय से है जिसमें 14 मार्च को आयोजित कार्यक्रम में डीपीसी डब्लू का ढांचा तैयार किया उन्होंने कहा कि डीपीसी डब्ल्यू में युद्ध करने राष्ट्र और समाज के बीच शांति मैत्रीपूर्ण संबंध समृद्धि खुशी का संदेश है यह एक संदेश है और हर कोई इस संदेश को संबंधित सकता है।

डीपीसी डब्लू की शुरुआत को साकार करने की प्रगति को प्रस्तुत किया

शांति

भारतीय न्यायालय संगठन के अध्यक्ष प्रवीण पारेख ने अपनी प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत में अलगाव और अब इस पर काबू पाने की प्रमुख गतिविधियों और संयुक्त राष्ट्र में डीपीसी डब्लू की शुरुआत को साकार करने की प्रगति को प्रस्तुत किया उन्होंने कहा एचपीएल कानून शांति परियोजना डब्ल्यू ए आर पी कार्यालय और शांति शिक्षा जैसी गतिविधियों के माध्यम से दुनिया भर के युवाओं महिलाओं नागरिक समाज के साथ विश्वास और संसार को एकजुटता के साथ मजबूत कर रहा है।

यूक्रेन में शांति की वकालत करने की कार्ययोजना तैयार की गई

सहिष्णुता और समाज को सुविधाजनक बनाने के लिए धार्मिक गुरु के बीच समुदाय के और शब्दों पर जोर देते हुए कोरियन बुद्धिज्म के वाइस प्रेसिडेंट विमेन हो वर्तमान में दुनिया दुनिया में धर्मों के बीच के संघर्ष और उत्पीड़न हो रहे हैं यहां सही सुनता और संचार की कमी के कारण है भला कि यदि कोई धार्मिक लो शस्त्रों के साथ संचार करें तो यह तो क्या होगा अशांति की दुनिया आने से पहले या केवल समय की बात होगी कार्यक्रम में यूक्रेन में शांति की वकालत करने की कार्ययोजना तैयार की गई

एक ट्रक यूक्रेन भेजा जाएगा जहां एक शादी समारोह बनाया जाएगा

शांति

100 से अधिक देशों के प्रतिभागियों ने यूक्रेन के आक्रमण को अंतरराष्ट्रीय कानून के उस घटना के रूप में निंदा करने के लिए शांति पत्र लिखा और रूसी राष्ट्रपति पुतिन को न्यू क्षेत्र से संपूर्ण वापसी की मांग पत्र में कहा गया कि आने वाली पीढ़ी आपको इस युद्ध को एक और शर्मनाक इतिहास के रूप में याद रखेंगे और आपको इतिहास में अनगिनत निर्दोष लोगों के बलिदान के लिए जिम्मेदार माना जाएगा इन पत्रों को एक ट्रक यूक्रेन भेजा जाएगा जहां एक शादी समारोह बनाया जाएगा।

वंदना ठाकुर नई दिल्ली

Post Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.