ताकत के लिए योग: मजबूत मांसपेशियां बनाने के लिए 6 शक्तिशाली आसन

योग

ताकत के लिए योग: मजबूत मांसपेशियां बनाने के लिए 6 शक्तिशाली आसन

प्रतिदिन 15-20 मिनट योग करने से तनाव के स्तर को कम करने, मानसिक स्वास्थ्य और शारीरिक स्वास्थ्य में सुधार करने में भी मदद मिल सकती है।

सदियों से, योग कई प्राचीन प्रथाओं में से एक रहा है जिसने स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया है। योग आसन शरीर के विभिन्न अंगों के लिए, दृढ़ता, अनुकूलनशीलता विकसित करने और विशेष रूप से शांति और संयम पर काम करने के लिए हैं। योग शारीरिक और मनोवैज्ञानिक दोनों तरह के कल्याण के लिए फायदेमंद है। रोजाना 15-20 मिनट का योगाभ्यास चिंता की भावनाओं को कम करने में मदद कर सकता है, साथ ही मानसिक समृद्धि और वास्तविक स्वास्थ्य पर भी काम कर सकता है।

👉 ये भी पढ़ें 👉: 7 आधिकारिक जलवायु-अनुकूल आहार: संतुलित आहार और आहार नियम

मांसपेशियों की ताकत बढ़ाने के लिए योग आसन

मांसपेशियां हमें वह काम करने में सहायता करती हैं जो हम लगातार करते हैं। आपको चलने-फिरने में मदद करता है, चीज़ें उठाता है, आपके शरीर में रक्त प्रवाहित करता है और यहां तक कि आपको आराम करने में भी मदद करता है। मांसपेशियां हड्डियों को मोड़ने, ठीक करने और जोड़ों को सहारा देने के लिए खिंचाव देती हैं। मांसपेशियाँ हड्डियों को खींच सकती हैं, फिर भी वे उन्हें उनकी विशिष्ट स्थिति में वापस नहीं धकेल सकती हैं, इसलिए मांसपेशियाँ फ्लेक्सर्स और एक्सटेंसर के दो-दो काम करती हैं।

उन मांसपेशियों को विकसित करने और मजबूत करने के लिए निम्नलिखित कई योग आसन हैं

मांसपेशियों की दृढ़ता विकसित करने के लिए योग आसन

Chair Pose

यह आसन पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियों को सिकोड़ने में सहायता करता है। इसके लिए सबसे पहले सीधे खड़े हो जाएं और अपने हाथ-पैरों को ठीक कर लें। फिर, अपने घुटनों को ज़मीन से सटाकर अपनी जाँघों तक मोड़ें। सीट पर बैठना बहुत पसंद है, अपनी पीठ सीधी रखें और अपनी टेलबोन को थोड़ा नीचे धकेलें। पूरी सांस लें और कुछ क्षणों के लिए मुद्रा में बने रहने का प्रयास करें।

👉 ये भी पढ़ें 👉: Strawberries के फायदे: 5 कारण क्यू करना चाहिए हमें स्ट्रॉबेरी का सेवन

Warrior Pose II

यह आसन पैरों और पेट को मजबूत बनाने में सहायता करता है। यह मानसिक क्षमताओं पर भी काम करता है।

Tadasana or Mountain Pose

यह हृदय के साथ-साथ पीठ के निचले हिस्से को मजबूत बनाने में मदद करता है। व्यक्ति को पैरों को एक साथ जोड़कर और हाथों को पकड़कर ऊपर की ओर फैलाकर सीधे खड़े होने की आवश्यकता है। फिर उस समय धीरे-धीरे खुद को ऊपर की ओर खींचें।

Malasana

पुष्पांजलि के लिए स्वस्थता और सहजता की भावना की आवश्यकता होती है। जांघों को चौड़ी स्थिति में रखते हुए, व्यक्ति फर्श पर पैरों के स्तर के साथ स्क्वाट जैसी स्थिति में होने की उम्मीद करता है। फिर, अपनी कोहनियों को घुटनों से दबाएं और अपनी हथेलियों को मिला लें। यह वजन घटाने और शरीर में रक्त प्रवाहित करने में सहायता करता है।

Paschimottasana

रिमेनिंग फॉरवर्ड ट्विस्ट की तरह, यह भी दिल की सेहत को बेहतर बनाने के लिए एक आराम देने वाला योग है। इस तथ्य के बावजूद कि इसके लिए कुछ हद तक लचीलेपन की आवश्यकता होती है, यह प्रतिरोध में मदद करने के लिए भी वास्तव में उत्कृष्ट है। अपने पैरों को मिलाकर नीचे झुकें और अपनी बाहों को कूल्हों के पास रखें और अपने पेट से आगे की ओर धकेलें। अपने निचले पेट से जुड़ें और अपने पेट को अपनी जांघों के उच्चतम बिंदु से संपर्क करने का प्रयास करें।

👉 👉 Visit: samadhan vani

Bhujangasan

इसी तरह कोबरा प्रेजेंट के नाम से भी जाना जाता है, भुजंगासन पेट क्षेत्र पर महत्वपूर्ण रूप से ध्यान केंद्रित करता है। यह रक्त संचार में मदद करता है, पीठ को मजबूत बनाता है और हृदय की सेहत को बेहतर बनाता है। व्यक्ति को अपने पेट के बल आराम करना चाहिए, अपने पैरों को फैलाना चाहिए और दोनों हाथों को बगल में रखते हुए अपनी छाती को ऊपर उठाना चाहिए।

Post Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.